सचिन पायलट के बाद बीजेपी ने भी उठाया भ्रष्टाचार का मुद्दा, गहलोत सरकार के खिलाफ करेगी हल्ला बोल

जयपुर

भारतीय जनता पार्टी आगामी 7 जून को जयपुर में शासन सचिवालय का घेराव करेगी। इसकी जानकारी देते हुए नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने बताया कि मुख्यमंत्री के अधीन आने वाले आईटी विभाग में पिछले चार साल में हजारों करोड़ रुपए के घोटाले हुए हैं। इन घोटालों के विरोध में 7 जून को बीजेपी मुख्यालय से लेकर शासन सचिवालय तक पैदल मार्च निकाला जाएगा और फिर शासन सचिवालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। राठौड़ ने बताया कि इस विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी करेंगे। उन्होंने कहा कि योजना भवन के बेसमेंट में रखी अलमारी में मिले 2.31 करोड़ नकद और एक किलो सोना मिलने के मामले से यह साफ हो गया है कि करोड़ों रुपए के घोटाले मुख्यमंत्री की नाक के नीचे होते रहे और वे सब कुछ जानते हुए भी चुप बैठे रहे।

जिला मुख्यालयों पर अन्य घोटालों की पोल खोलेंगे
नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि राज्य सरकार के आईटी डिपार्टमेंट में हुए चार बड़े घोटालों का खुलासा डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने किया है। इन घोटालों के पर्याप्त सबूत भी पेश किए हैं जिनमें साढे तीन हजार करोड़ रुपए के घोटाले सामने आए हैं। इसी तरह सरकार के अन्य विभागों में हुए दर्जनों घोटालों के दस्तावेज भी भाजपा के पास है। अब हर सप्ताह सरकार की पोल खोलते हुए बड़े बड़े घोटाले उजागर करने का सिलसिला जारी रहेगा। विभिन्न घोटालों को लेकर प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर भी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन आगामी दिनों में किए जाएंगे। 7 जून को होने वाले प्रदर्शन में केवल जयपुर के बीजेपी नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे।

जुलाई में बड़ा आन्दोलन करेगी बीजेपी
राठौड़ ने कहा कि एक तरफ तो हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री पारदर्शी शासन देने का दावा करते हैं। दूसरी तरफ उनके अधीन विभाग में हजारों करोड़ रुपए के घोटाले हो रहे हैं। यह साबित करता है कि मुख्यमंत्री ने जानबूझकर अपनी आंखों पर काली पट्टी बांध रखी है। एसीबी के डीजी द्वारा पत्र भेजकर घोटालों की जांच करने की अनुमति मांगने पर मुख्यमंत्री जी ने जांच की अनुमती भी नहीं दी। राजस्थान हाईकोर्ट में भी पीआईएल लगी हुई है। इसका मतलब है कि घोटालों के बारे में सरकार में बैठे आकाओं को जानकारी थी। जानबूझकर घोटालों को शह देने पर बीजेपी जुलाई महीने में प्रदेशव्यापी आन्दोलन करेगी।

घोटाले वाले डिपार्टमेंट को सर्वाधिक 37,250 करोड़ रुपए का बजट दिया
राजेन्द्र राठौड़ का कहना है कि करोड़ों रुपए के घोटाले वाले विभाग को मुख्यमंत्री ने अपनी बजट घोषणा में सर्वाधिक बजट दिया है। हाल ही में पेश किए गए बजट में आईटी डिपार्टमेंट में 37,250 करोड़ रुपए का बजट प्रावधान रखा गया है। योजना भवन में 2.31 करोड़ रुपए के साथ 1 किलो सोना मिलने पर राठौड़ ने कहा कि यह गोल्ड स्मगलिंग का मामला है और यह देश की सुरक्षा के लिए घातक है। इस मामले की जांच एसीबी के बजाय एनआईए, आईटी या ईडी से कराई जानी चाहिए ताकि सारे चेहरे बेनकाब हो सके।

कोयला, बिजली खरीद के साथ स्मार्ट फोन खरीद में करोड़ों का घोटाला
राठौड़ ने कहा कि राज्य सरकार ने चार गुना कीमत पर बिजली की खरीद की। साथ ही कोयले की खरीद में भी करोड़ों रुपए का घोटाला किया। इसके पुख्ता प्रमाण बीजेपी के पास है। प्रदेश की बहिनों को दिए जाने वाले स्मार्ट फोन की खरीद में भी करोड़ों रुपए का घोटाला हो रहा है। मुख्यमंत्री अपनी चहेती कंपनी डिजाइन बॉक्स के मार्फत स्मार्ट फोन खरीद रही है। इसी डिजाइन बॉक्स ने कर्नाटक में कांग्रेस के चुनाव प्रचार का कामकाज संभाला था और अब राजस्थान में लगे महंगाई राहत कैंप में यही डिजाइन बॉक्स सरकार का महिमा मंडन कर रही है। जीरो टोलरेंस की बात करने वाली भ्रष्ट सरकार कलंक बन गई है। रिपोर्ट – रामस्वरूप लामरोड़

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …