सिडनी में PM मोदी ने समझाया, भारत-ऑस्ट्रेलिया संबंधों में कैसे छाए रहे 3-C, 3-D और 3-E!

सिडनी,

ऑस्ट्रेलिया पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोनों देशों के रिश्तों को अंग्रेजी के अक्षरों C, D, और E से डिफाइन किया. सिडनी के पैरामैटा में क्वैड्स बैंक एरिना में भारतीयों के विशाल समुदाय को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं जब 2014 में आया था तब आपसे एक वादा किया था कि आपको फिर भारत के किसी प्रधानमंत्री का 28 साल तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा. आज सिडनी में, इस एरीना में, मैं फिर हाजिर हूं और मैं अकेला नहीं आया हूं. प्रधानमंत्री अल्बनीज भी मेरे साथ आए हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इसी वर्ष मुझे प्रधानमंत्री अल्बानीज का भारत की धरती पर अहमदाबाद में स्वागत करने का अवसर मिला था. आज उन्होंने यहां ‘लिटिल इंडिया’ की आधारशिला को अनविल करने में मेरा साथ दिया है. इसके लिए मैं उनका आभारी हूं.

भारत-ऑस्ट्रेलिया संबंधों की C…D…और E
भारत ऑस्ट्रेलिया के संबंधों की व्याख्या करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पहले ये कहा जाता था कि पहले भारत और ऑस्ट्रेलिया के संबंध 3C से हैं. ये संबंध हैं कॉमनवेल्थ, क्रिकेट और करी. पीएम ने आगे कहा कि इसके बाद कहा गया कि भारत और ऑस्ट्रेलिया 3D से डिफाइन होते हैं. ये थ्री डी है डेमोक्रेसी, डायस्पोरा और दोस्ती. इसके बाद कहा जाने लगा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के संबंझ 3 E से डिफाइन होते हैं. ये E हैं एनर्जी, इकोनॉमी और एडुकेशन.

पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों के बीच के रिश्ते यूं ही नहीं प्रगाढ़ हुए हैं. इसके पीछे की वजह है मु्च्युअल ट्रस्ट (आपसी विश्वास) और मुच्युअल रिस्पेक्ट (आपसी सम्मान). सिडनी एरिना स्टेडियम में भारतीयों के विशाल और उत्साही भीड़ को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ये विश्वास और सम्मान सिर्फ कूटनीतिक संबंधों की बदौलत विकसित नहीं हुआ है. इसकी असली वजह है आप… ऑस्ट्रेलिया में रहने वाला हर एक भारतीय. इसकी असली वजह है ऑस्ट्रेलिया के ढाई करोड़ से ज्यादा नागरिक.

हम सिर्फ सुख के साथी नहीं
प्रधानमंत्री मोदी ने भारत ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेट रिश्तों का जिक्र करते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच भौगोलिक दूरी जरूर है, लेकिन हिंद महासागर हमें जोड़ता है. हमारी जीवनशैली भले ही अलग हो लेकिन योग हमें जोड़ता है. क्रिकेट से तो हम न जानें कब से जुड़े हुए हैं लेकिन अब हमें टेनिस और फिल्में भी जोड़ रही है. उन्होंने कहा कि हमारे क्रिकेट के रिश्तों को 75 साल हो गए. पहली बार भारत में आईपीएल खेलने ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेटर भी आई थीं. ऐसा नहीं है, हम सिर्फ सुख के साथी हैं. अच्छा दोस्त सुख का साथी तो होता ही है, दुख का भी साथी होता है. पिछले साल जब महान क्रिकेटर शेन वॉर्न का निधन हुआ, तो भारतीयों ने भी शोक मनाया. ये ऐसा था जैसे कि हमने अपना कोई खो दिया हो.

भारत की युवा शक्ति का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे युवा टैलेंट फैक्ट्री जिस देश में है वो है इंडिया. कोरोना की इस ग्लोबल पैंडेमिक में जिस देश ने दुनिया का सबसे तेज वैक्सीनेशन प्रोग्राम चलाया, वो देश है इंडिया. आज जो देश दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है वो है इंडिया. आज जो देश दुनिया में नंबर वन स्मार्टफोन डाटा कंज्युमर है वो है इंडिया.

भारत को समझना चाहते हैं तो ट्रेन और बस से यात्रा करें
इससे पहले इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथोनी अल्बनीज ने कहा कि पीएम मोदी का स्वागत करते हुए मुझे बहुत खुशी हो रही है. प्रधानमंत्री के रूप में मेरा पहला साल है जिसे आज मैं मना रहा हूं. मैं अपने मित्र प्रधानमंत्री मोदी से छह बार मिल चुका हूं, लेकिन इस तरह मंच पर उनके साथ खड़े होने से बेहतर कुछ नहीं है, खुशी की बात है कि यहां प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत करन. मुझे कहना होगा कि आज रात यहां जो गर्मजोशी और ऊर्जा है, वह किसी से कम नहीं है.

प्रधानमंत्री अल्बनीज ने कहा कि जब मैं मार्च में भारत में था, तो यह अविस्मरणीय क्षणों से भरा एक यात्रा थी, गुजरात में होली मनाना, दिल्ली में महात्मा गांधी को पुष्पांजलि अर्पित करना, मैं जहां भी गया, मुझे ऑस्ट्रेलिया और भारत के लोगों के बीच गहरा संबंध महसूस हुआ. उन्होंने कहा कि यदि आप भारत को समझना चाहते हैं, तो ट्रेन और बस से यात्रा करें.

About bheldn

Check Also

मोदी की बातों को वाहियात बताने वाले मुस्लिम नेता पर गिरी गाज, BJP ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया

बीकानेर/जयपुर राजस्थान में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण की वोटिंग से पहले बीजेपी ने बड़ा …