अल्टीमेटम में 7 दिन बाकी, दिल्ली में कल से खरगे का मंथन लेकिन पायलट को बुलावा नहीं

जयपुर

कांग्रेस नेता सचिन पायलट की ओर से अपनी ही पार्टी की सरकार को दिए गए अल्टीमेटम का काउंटडाउन शुरू हो गया है। पायलट ने 15 मई को जयपुर में बुलाई गई अपनी आम सभा में राज्य सरकार के समक्ष तीन मांगें रखी थी। उन्होंने कहा कि अगर ये तीनों मांगें राज्य सरकार 15 दिन में पूरी नहीं करती है तो जून में बड़ा आंदोलन किया जाएगा। पायलट के ऐलान के दौरान तीन मंत्री और एक दर्जन से ज्यादा कांग्रेसी विधायकों सहित हजारों की तादाद में कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे। सभी ने हाथ खड़े करके पायलट का समर्थन किया। अब पायलट का यह अल्टीमेटम 7 दिन बाद समाप्त होने वाला है लेकिन राज्य सरकार ने पायलट की मांगों पर कोई विचार तक नहीं किया है।

आगामी चुनावों और विवादित मुद्दों का हल ढूंढने के लिए बैठक
गुरुवार 25 मई से दिल्ली में कांग्रेस की महत्वपूर्ण बैठकों का दौर शुरू होने वाला है। तीन दिन तक चलने वाली इन बैठकों में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी सहित एआईसीसी के तमाम वरिष्ठ नेता बैठक में मौजूद रहेंगे। बताया जा रहा है कि आगामी दिनों में राजस्थान सहित तीन राज्यों में होने वाले चुनावों पर चर्चा की जाएगी। इस दौरान राजस्थान कांग्रेस में मचे बवाल को लेकर भी विशेष चर्चा होगी। सचिन पायलट की ओर से लगातार अपनी ही पार्टी की सरकार पर उठाए जा रहे सवालों और भ्रष्टाचार के आरोपों पर हाईकमान मंथन करेगा। पार्टी उच्च स्तरीय बैठक में इस मसले का हल ढूंढने की कोशिश करेगी।

सचिन पायलट को दूर रखा गया है बैठकों से
देश में जहां भी चुनाव होते हैं तब कांग्रेस सचिन पायलट को स्टार प्रचारक बनाती आई है। पहली बार ऐसा हुआ कि कर्नाटक विधानसभा चुनावों से पायलट को दूर रखा गया। अब राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ में होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारियों पर दिल्ली में होने वाली बैठक में मंथन किया जाएगा। इन बैठकों से फिलहाल सचिन पायलट को दूर रखा गया है। अशोक गहलोत के प्रति सचिन पायलट के तेवर देखते हुए कांग्रेस आलामान फूंक फूंक कदम रख रहे हैं। ऐसा कोई फैसला भी नहीं लिया जा रहा जिससे पायलट के सवालों का जवाब दिया जा सके। राजस्थान कांग्रेस में मचे बवंडर को देखते हुए आगामी दिनों में बड़ा तूफान आना स्वभाविक नजर आ रहा है।

सीएम अशोक गहलोत 26 मई को जाएंगे दिल्ली
उधर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार 26 मई को दिल्ली जाएंगे। गहलोत कोटा से दोपहर साढे 12 बजे दिल्ली के लिए रवाना होंगे और दोपहर करीब 2 बजे वे दिल्ली पहुंचेंगे। इस दौरान सीएम गहलोत की पार्टी हाईकमान और एआईसीसी पदाधिकारियों से मुलाकात संभव है। इन मुलाकातों के दौरान वे राजस्थान के मसलों को पार्टी नेतृत्व के सामने रखेंगे। अगले दिन 27 मई शनिवार को सीएम गहलोत नीति आयोग की बैठक में हिस्सा लेंगे और शाम को 5 बजे राजस्थान भवन के नए भवन के शिलान्यास समारोह में शामिल होंगे। शनिवार देर रात को वापस जयपुर लौटेंगे।

About bheldn

Check Also

नड्डा घूमते हैं नोटों भरा बैग लेकर, महिलाएं अब कैसे खरीदें सोना? तेजस्वी का पीएम मोदी-नड्डा पर डबल अटैक

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी …