बुर्का पहनकर अपराध करने वालों पर हो खास निगाह, डीजीपी का पुलिस को सख्त निर्देश

कानपुर

उत्तर प्रदेश के डीजीपी आरके विश्वकर्मा ने संगठित अपराध पर नकेल कसने के निर्देश दिए हैं। उन्होने कहा कि यदि माफियाओं और अपराधियों पर शुरूआत में नकेल कस दिया जाए, तो अतीक अहमद और विकास दुबे जैसे माफिया पनप नहीं पाएंगे। माफियाओं का सफाया समाज हित में है। इसके साथ ही उन्होने पुलिस अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान ने पुलिस कर्मियों से आम पब्लिक के साथ अच्छा बर्ताव करने के लिए कहा है। उन्होने कहा कि कानपुर कमिश्नरेट पुलिस को नए मुख्यालय की बिल्डिंग जल्द ही मुहैया करा दी जाएगी।

यूपी के डीजीपी डॉ आरके विश्वकर्मा गुरूवार को कानपुर पहुंचे। उन्हे सर्किट हाउस में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस मौके पर उनके साथ स्पेशल डीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार भी मौजूद रहे। इस दौरान उन्होने कानपुर मंडल के पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होने कहा कि बीते दिनों प्रदेश कुछ ऐसी घटनाएं सामने आईं हैं, जिससे पुलिस विभाग को सबक लेने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को निर्देश हैं कि ऐसे अपराधी जो बार-बार अपराध करते हैं, कई मुकदमों में वांछित हैं। उनमें सुधार की संभावनाएं नहीं हैं। ऐसे अपराधियों पर तत्काल नकेल कसी जाए। ताकि विकास दुबे और अतीक अहमद ना बन सकें।

साइबर अपराधों में इजाफा
डीजीपी ने कहा कि पुलिस विभाग को आधुनिक संसाधनों से लैस किया जा रहा है। फोरेंसिक लैब को डेवलप किए जा रहे हैं। इससे किसी भी घटना का अनावरण करने सहायता मिल सके। हत्या, लूट, डकैती जैसी घटनाओं में गिरावट दर्ज की गई है। लेकिन साइबर अपराधों में तेजी से इजाफा हुआ है। वहीं, डकैतों के गिरोह का पूरी तरह से सफाया किया जा चुका है। साइबर अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस अधिकारियों ट्रेनिंग दी जा रही है। इसके रिजल्ट भी जल्द सामने आने लगेंगे।

कोई भी छोड़ा नहीं जाएगा- DGP
डीजीपी आरके विश्वकर्मा ने पुलिस लाइन का निरीक्षण किया। इसके बाद पुलिस लाइन में अपराध की समीक्षा बैठक की। उन्होने कहा कि शाइस्ता और गुड्डू मुस्लिम एनकाउंटर को लेकर डीजी स्पेशल प्रशांत कुमार का कहना है कि इस मामले में चरणबद्ध तरीके से कार्रवाई हो रही है। पुलिस की कार्रवाई चल रही है, कोई भी व्यक्ति छोड़ा नहीं जाएगा। हमारा विशेष फोकस जन शिकायत का गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण पर है। वरिष्ठ स्तर पर इसकी मॉनिटरिंग की जाए।

‘अत्याधुनिक मेस तैयार किए जा रहे हैं’
डीजीपी ने कहा कि महिला पुरुष अलग-अलग बैरक बनाए जा रहे हैं। मेस का आधुनिकीकरण कराया जा रहा है। प्रदेश में बुर्का वाले मामले बढ़ रहे हैं, हमारी तरफ से तुरंत एफआईआर लिखे जाने के निर्देश दिए गए हैं। क्रॉस एफआईआर हो रही हैं लेकिन ऑनलाइन एफआईआर भी दर्ज हो रही है। गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण पर हमारा ध्यान है।

About bheldn

Check Also

घर में पत्नी ने की खुदकुशी तो अस्पताल में फांसी के फंदे से झूलती मिली पति की लाश

कोच्चि, केरल के कोच्चि में पत्नी की मौत के बाद एक शख्स निजी अस्पताल में …