बीवी के आशिक को खाना खिलाया, साथ में सुलाया… फिर उतार दिया मौत के घाट

नई दिल्ली

शादीशुदा महिला से आशिकी करना एक शख्स को भारी पड़ गया। शख्स को जान देकर इस आशिकी की कीमत चुकानी पड़ी। महिला का पति लगातार अपनी पत्नी और उसके प्रेमी के रिश्ते पर आपत्ति जता रहा था। लेकिन जब शख्स नहीं माना तो महिला के पति ने मौका देखकर प्रेमी को अपने घर पर बुलाया, खाना खिलाया, घर में सुलाया और सुबह सुबह जब सब सो रहे थे, तो उसके पेट पर चाकू से हमला करके गंभीर रूप से घायल कर दिया। बाद में संजय गांधी हॉस्पिटल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

पत्नी के अफेयर की बात खटकी
जानकारी के अनुसार मुंडका थाना इलाके के एक कॉलोनी में रहने वाली महिला पूजा की प्रदीप नाम के युवक से दोस्ती हो गई थी। पूजा और प्रदीप दोनों एक ही फैक्ट्री में काम करते थे। धीरे-धीरे दोनों की दोस्ती गहरी हो गई और दोनों एक दूसरे से प्रेम करने लगे। इस बीच पूजा के पति को दोनों के रिश्ते के बारे में पता चला। प्रदीप कभी-कभी पूजा के घर पर भी आता जाता था। पति को ये बात खटकने लगी। उसने कई बार दोनों को समझाने की भी कोशिश की, लेकिन उसकी बात नहीं सुनी गई।

ऐसे बनाया हत्या का प्लान
इसके बाद महिला के पति चरण सिंह ने प्रदीप के मर्डर का प्लान बनाया। गुरुवार को उसने गांव जाने का बहाना बनाया और घर से चला गया। जब वो रात को अचानक से घर पहुंचा, तो उसने देखा कि प्रदीप उसके घर पर ही है। चरण सिंह को देखकर प्रदीप वहां से भागने लगा, लेकिन उसने उसे पकड़ लिया। महिला के पति ने उसके आशिक को समझाया और रात में डिनर करके घर पर ही रोक लिया। तड़के सुबह जब सब सो रहे थे, तो चरण सिंह ने चाकू से प्रदीप के पेट पर हमला किया। जैसे ही चाकू से हमला किया तो प्रदीप ने शोर मचाया। शोर सुनकर पूजा भी जाग गई, उसने प्रदीप को बचाने की कोशिश भी की।

पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार
इस हमले में प्रदीप गंभीर रूप से घायल हो गया। पूजा उसे लेकर मंगोलपुरी के संजय गांधी हॉस्पिटल पहुंची। हॉस्पिटल से मिली जानकारी के अनुसार इलाज के दौरान प्रदीप की बाद में मौत हो गई। खून ज्यादा बहने के कारण उसकी हालत चिंताजनक हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने आरोपी चरण सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।

About bheldn

Check Also

प्राइवेट प्रॉपर्टी पर हो सकता है किसी समुदाय या संगठन का हक, सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों की बेंच ने क्या कहा?

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने आज कहा कि संविधान का उद्देश्य सामाजिक बदलाव की भावना …