…तो ISI के लिए जासूसी करने वाले बजरंगदल के नेताओं को भेजेंगे जेल: दिग्विजय सिंह

खंडवा ,

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने शनिवार को केंद्र की मोदी और मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार पर तीखे हमले किए. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सत्ता में आई तो भाजपा और बजरंग दल के उन नेताओं के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज़ कर जेल भिजवाएंगे, जिन पर पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने के गंभीर आरोप हैं.

खंडवा सर्किट हॉउस में आयोजित पत्रकारवार्ता के दौरान दिग्विजय सिंह ने शिवराज सरकार पर कर्नाटक से ज्यादा भ्रष्टाचार में संलिप्तता के आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि कर्नाटक के नतीजों का गहरा असर मध्यप्रदेश के चुनावों पर पड़ेगा.

2024 में मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनना तय
मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार के खिलाफ इस बार साल 2018 से भी ज्यादा सत्ता विरोधी लहर है. जिस तरह से ख़रीद -फरोख्त कर चुनी हुई कांग्रेस सरकार गिराई गई, उससे लोग बहुत ज़्यादा नाराज़ हैं. मैं इस बात को पूरी तरह से कह सकता हूं कि मध्यप्रदेश में 2023 में कमलनाथ जी के नेतृत्व में हमारी सरकार बनेगी और हमने जो वादे किए हैं, उन्हें पूरा करेंगे. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार के भ्रष्टाचार के विरुद्ध कांग्रेस समय समय पर आंदोलन करती रही है. व्यापमं की जांच जब निर्णायक स्थिति में पहुंची तभी कांग्रेस की सरकार गिराने के लिए खरीद फरोख्त हुई.

दिग्विजय ने कहा, हमारी पंद्रह महीने की सरकार में तीन महीने तो कोड ऑफ़ कंडक्ट में चले गए. इसके बावजूद किसानों का कर्ज़ा माफ़ हुआ. लोगों के बिजली के बिल कम हुए. गरीबों की पेंशन 300 से बढ़कर 600 रुपये हुई. व्यापमं के मामले में एसआईटी ने जांच पूर्ण कर दिशा तय कर ली थी, उसी से घबराकर ये खरीद फरोख्त हो गई और सरकार गिर गई.

राष्ट्रपति से नए संसद भवन का उद्घाटन न करवाना उनका अपमान
इसके अलावा संसद भवन का उद्घाटन राष्ट्रपति से न करवाए जाने को संसदीय परंपराओं के विपरीत बताया. कांग्रेस सांसद ने कहा कि संसद भवन का उद्घाटन राष्ट्रपति से न करवाना भाजपा की मानसिकता को दिखाता है कि वह आदिवासी महिला राष्ट्रपति का अपमान कर रही है. मध्यप्रदेश में जब कांग्रेस की सरकार थी तब नए विधानसभा भवन का उद्घाटन राष्ट्रपति डॉ शंकरदयाल शर्मा ने ही किया था और इस कार्यक्रम में विपक्ष के नेता विक्रम वर्मा भी उपस्थित थे. यह भारतीय लोकतंन्र की परंपरा रही है जिसे भाजपा समाप्त करने पर तुली है.

दरअसल, दिग्विजय सिंह इन दिनों निमाड़ के सघन दौरे पर हैं और चुनाव के पहले कांग्रेसजनों को संगठित करने, उन्हें सक्रिय करने में शिद्दत से जुटे हैं. वरिष्ठ कांग्रेस नेता खंडवा जिले के छोटे- छोटे गांवो में जा रहे हैं. सामान्य कार्यकर्ता से बात कर रहे है और कांग्रेस का खोया हुआ जनाधार वापस लौटाने के लिए प्रयासरत हैं.

 

About bheldn

Check Also

जिंदा है दाऊद इब्राहिम का सबसे बड़ा दुश्मन! 9 साल बाद सामने आई छोटा राजन की नई तस्वीर

नई दिल्ली, दाऊद इब्राहिम का जानी दुश्मन और दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड …