मलेशिया का ‘अंकल’ कराची का ‘चिकना’ निकला, 2000 के जाली नोटों से जुड़े मामले में नया खुलासा

मुंबई

2000 के जाली नोटों से जुड़े मामले में एक नया खुलासा हुआ है। ठाणे पुलिस और एनआईए की जांच में जिस ‘अंकल’ का नाम सामने आ रहा था, पता चला है कि वह अंकल कोई नहीं, बल्कि जावेद चिकना है। 1993 के मुंबई ब्लास्ट का आरोपी। पिछले साल एनआईए ने टेरर फंडिंग केस में दिल्ली में एफआईआर में जिन लोगों के नाम लिखे थे, उनमें दाऊद ,टाइगर मेमन, छोटा शकील के साथ जावेद चिकना का भी नाम था।

एनआईए ने फरवरी 2023 में एक और केस अपने पास लिया है, वह है ठाणे के नौपाडा पुलिस का फेक करंसी का मामला। नौपाडा पुलिस ने उस केस में रियाज और नासिर नामक दो लोगों को साल 2021 में अरेस्ट किया था। रियाज के पास मलेशिया के नंबर से कॉल्स आते थे। कॉल करने वाला खुद को अंकल बताता था। जब उस नंबर की पड़ताल की गई, तो पता चला कि उसका आईपी अड्रेस कराची का है। उसी पड़ताल में यह भी पता चला था कि मलेशिया के इस नंबर से मुंबई में नासिर को भी फोन किए जाते थे। उसे भी बाद में अरेस्ट किया गया था। दोनों के पास से 2.98 करोड़ रुपये के जाली नोट तब पकड़े गए थे।

जब एनआईए ने केस अपने हाथ में लिया, तो कराची आईपी अड्रेस नंबर वाले के बारे में और जानकारी निकाली गई। उसी में जावेद चिकना का नाम आया। किसी जमाने में डी कंपनी में आफताब बटकी को फेक करंसी भारत में भेजने और बेचने का जिम्मा सौंपा गया था।

About bheldn

Check Also

विजयन के टारगेट करने पर कांग्रेस ने साफ किया CAA पर स्टैंड, चिदंबरम ने बताया सरकार बनने पर क्या करेंगे

तिरुवनंतपुरम कांग्रेस की अगुवाई वाली I.N.D.I.A अलायंस अगर सत्ता में आया तो पार्टी सीएए को …