‘6 महीने इंतजार कीजिए, फिर दिल्ली बदलेगी…’, ममता ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

कोलकाता,

मणिपुर में हिंसा के मामले में एक बार फिर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है. ममता ने कहा, मैं भी मणिपुर जाना चाहती हूं लेकिन वे इजाजत नहीं देंगे. उन्होंने मेरे सांसदों को असम नहीं जाने दिया. दिल्ली (केंद्र सरकार) मुझे डराने की कोशिश करती है. 6 महीने इंतजार कीजिए, फिर दिल्ली बदलेगी. जब दिल्ली बदलेगी तो हम लोगों को उनका हक देंगे.

उन्होंने कहा, बीजेपी या तो इतिहास बदलेगी या धर्म या नोट. किसी दिन उन्हें खुद को बदलना होगा. पहले उन्होंने हिंदू और मुस्लिम के बीच दंगा कराया. अब वे हमें एनआरसी टास्क फोर्स करने के लिए कहते हैं. हमने नहीं किया. मैं टास्क फोर्स क्यों करूंगी? ताकि आप उन्हें घरों में यह पता लगाने के लिए भेज दें कि कौन हिंदू है या मुसलमान?

‘जो बुरे होते हैं, वो शैतान होते हैं’
ममता ने 2000 के नोट को लेकर कहा, बैंक इन नोटों को नहीं ले रहे हैं. दुकान वाले इन्हें नहीं ले रहे हैं. कौन जानता है कि कल क्या होगा? अच्छे काम करने वाले लोगों के दिल में रहते हैं जो बुरे होते हैं वो शैतान होते हैं. उन्होंने कहा, टीवी चैनलों पर बैठकर हमें गालियां देने वाले बहुत हैं. आप हमारी आलोचना कर सकते हैं. हम टीएमसी हैं, बीजेपी नहीं. हम बदला नहीं लेते. हमने बदलाव का आह्वान किया है.

‘कुर्मी की आड़ में बीजेपी ने हमला किया?’
एक दिन पहले महिला मंत्री के काफिले पर हमले को लेकर ममता ने कहा, कल इतना दुस्साहस? आपने एक आदिवासी महिला पर हमला किया? बीरबाहा हांसदा, एक मंत्री और अभिनेत्री हैं. मेरा मानना ​​है कि कुर्मियों ने ऐसा नहीं किया है. भाजपा ने कुर्मी के भेष में ऐसा किया है. उन्होंने कल अभिषेक बनर्जी पर हमला करने की कोशिश की है. उन्होंने कहा, मणिपुर में सैकड़ों लोगों की मौत हो गई. जिंदाबाद कहने वाले नेता अभी वहां नहीं गए. वह कहते हैं, बाद में जाएंगे… तुम कब जाओगे? जब सब कुछ खत्म हो जाएगा? मणिपुर में खून बह रहा है और एक व्यक्ति नाच रहा है.

‘दो समुदायों में दंगा कराना चाहती है बीजेपी’
मैं भी मणिपुर जाना चाहती हूं लेकिन वे इजाजत नहीं देंगे. उन्होंने मेरे सांसदों को असम नहीं जाने दिया. बीजेपी बंगाल में समुदायों के बीच दंगा कराना चाहती है. वे कुर्मी और आदिवासियों के बीच दंगा शुरू करने की योजना बना रहे हैं. वे कुछ नेताओं को करोड़ों रुपये दे रहे हैं. वे यहां मणिपुर जैसी स्थिति चाहते हैं. वे सेना भेजेंगे और फिर गोलीबारी होगी. आप कोर्ट भी नहीं जा सकते.

‘अंदरूनी कलह बंद हुई तो हमें कोई नहीं रोक सकता’
ममता ने कहा, हां, खेला होबे. पिछली बार यह फुटबॉल था, इस बार यह क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी और जनजातीय नृत्य होगा. अगर टीएमसी अपनी अंदरूनी कलह बंद कर दे तो हमें कोई नहीं रोक सकता. पंचायत मजबूत होगी तभी हम बड़े चुनाव में बाजी मार सकते हैं. बीजेपी से निपटने के लिए अपने दिमाग का इस्तेमाल करें. भारत में सब एक हो गए हैं.

 

About bheldn

Check Also

जाति जनगणना को कोई ताकत नहीं रोक सकती… इशारों-इशारों में राहुल का पीएम मोदी पर निशाना

नई दिल्ली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और …