विनेश और संगीता फौगाट की Morphed तस्वीर हुई वायरल, जानिए कैसे पता लगा सकते हैं कि पिक्चर AI के जरिये बनी

नई दिल्ली

विनेश और संगीता फौगाट की हाल ही में एक तस्वीर वायरल हुई। इसमें दिखाया गया कि पुलिस की हिरासत में लिए जाने के बाद दोनों के चेहरों पर गजब की मुस्कुराहट थी। ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो चैंपियन रेसलर बजरंग पूनिया ने फेक तस्वीर बनाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की चेतावनी दे डाली। बजरंग का कहना है कि ये IT सेल वालों की शरारत है। हम इन लोगों के खिलाफ कानूनी कदम उठाने जा रहे हैं। बजरंग ने विनेश और संगीता की असली तस्वीर भी सोशल मीडिया पर शेयर की, जिसमें वो मुस्कुराती नहीं दिख रही थीं। ये तस्वीर सोशल मीडिया पर उस समय वायरल हुई जब दोनों पहलवानों को जंतर मंतर से नई संसद की तरफ मार्च करते समय पुलिस ने अरेस्ट किया था।

तस्वीर का सोर्स पता कीजिए
फेक तस्वीरों की जांच करने के लिए सबसे पहले उसके सोर्स का पता कीजिए। रिवर्स इमेज सर्च के जरिये ऐसा पता किया जा सकता है। फोटो को Google Images या TinEye, Yandex जैसे टूल्ज पर अपलोड करने से सोर्स पता लग जाता है।

शरीर की भावभंगिमा देखिए
DW की रिपोर्ट के मुताबिक AI के जरिये बनाई गई तस्वीरों में शरीर के हिस्से अलग अलग तरीके से दिखते हैं। ऐसी तस्वीरों में शख्स के हाथ बड़े दिखते हैं तो उंगलियां जरूरत से ज्यादा लंबी। इस साल मार्च में एक तस्वीर दिखी जिसमें रूसी प्रेजीडेंट व्लादीमिर पुतिन को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के सामने झुकते हुए दिखाया गया था। झुकने वाले शख्स के जूते काफी बड़े दिख रहे थे। आधा ढका सिर भी काफी बड़ा था। बाकी शरीर को उसका तालमेल नहीं था।

AI इमेज में सबसे बड़ी दिक्कत हाथों को लेकर होती है। हाथों में छोटी छोटी जगहों पर भी कई सारे जोड़ होते है। इस तरह की तस्वीरों में हाथों को बिगाड़ दिया जाता है। खासकर उंगलियों के शेप पर ज्यादा असर दिखाई देता है। AI को लेकर Decrypt की रिपोर्ट के मुताबिक अगर नंगे पैर और मशल्स वाले शख्स की मुस्कुराते हुए कोई तस्वीर देखी जाए तो फेक तस्वीर में शख्स के कई सारे पंजे, दांत और एब्स दिखाई देंगे।

फेक तस्वीर में विनेश और संगीता के दांत कुछ ज्यादा ही स्वाभाविक दिखे
विनेश और संगीता की तस्वीरों को देखा जाए तो मुस्कुराते हुए उनके दांत कुछ ज्यादा ही स्वाभाविक लग रहे हैं। उनके गालों पर डिंपल भी दिखाई दे रहे हैं जो वास्तविक जीवन में नहीं दिखते। हाल ही में पोप फ्रांसिस की भी एक तस्वीर वायरल हुई तो AI के जरिये बनाई गई थी। AI से बनाई तस्वीरों में बैक ग्राउंड भी Blurred होती है। इस तरह की तस्वीरों में Skin और Texture काफी स्मूथ दिखते हैं।

 

About bheldn

Check Also

‘गिरफ्तारी पर रोक नहीं थी, 9 बार समन को टाला’, केजरीवाल की अर्जी पर कोर्ट में ED का हलफनामा

नई दिल्ली, दिल्ली शराब घोटाला मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को …