मुझे कोई झुका नहीं सकता, लोकसभा और विधानसभा चुनाव तक मैं अध्यक्ष : नाना पटोले

मुंबई

बीते कुछ दिनों से इस बात की चर्चा है कि आने वाले दिनों में महाराष्ट्र कांग्रेस में बड़े बदलाव होंगे। खासतौर पर महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ सकता है। इतना ही नहीं प्रदेश के संगठन में भी बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। यह खबर भी सामने आयी थी कि कुछ दिन पहले महाराष्ट्र कांग्रेस के कुछ नेताओं ने दिल्ली में आलाकमान से मुलाकात कर नाना पटोले की शिकायत की है। जिसके बाद से पटोले को पद से हटाने की अटकलें महाराष्ट्र की राजनीति में चल रही थी। हालांकि, सोमवार को नाना पटोले ने पार्टी के अंदर उनका विरोध कर रहे नेताओं को करारा जवाब दिया है। नाना पटोले का यह बयान उन सभी विरोधी नेताओं के लिए फिलहाल एक तगड़ा झटका है। नाना पटोले ने कहा कि मैं झुकूंगा नहीं। महाराष्ट्र में आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव मेरे नेतृत्व में ही लड़े जायेंगे।

बता दें कि नाना पटोले के कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी का गुट लगातार उनके खिलाफ दिल्ली आलाकमान के समक्ष शिकायत करता रहा है। राज्य में नाना पटोले और पार्टी में विरोधी गुट के नेताओं के बीच का यह शीत युद्ध अब किसी से छिपा नहीं है। नाना पटोले ने यह भी स्पष्ट किया कि कांग्रेस नेताओं का एक दल हाईकमान से मिला था लेकिन उनका मुद्दा कुछ और था। कांग्रेस पार्टी आगामी चुनाव के लिए पूर्ण ताकत से चुनाव लड़ रही है।

क्या बोले नाना पटोले?
नाना पटोले ने कहा कि महाराष्ट्र कांग्रेस आगामी चुनाव मेरी ही अध्यक्षता में लड़ेगी। नाना पटोले ने यह भी कहा कि मैं आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव तक अध्यक्ष के रूप में काम करूंगा। साथ ही नाना पटोले ने कहा, ‘मुझे कोई झुका नहीं सकता। चर्चा है कि उन्होंने अपने इस बयान के जरिए पार्टी में विरोधियों को करारा जवाब दिया है। आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनावों में सभी सीटें जीतने की हमारी योजना शुरू हो गई है। नाना पटोले ने बताया पुणे लोकसभा उपचुनाव के लिए महाविकास अघाड़ी का फैसला योग्यता के आधार पर होगा। जैसा कि अजित पवार ने कहा, योग्यता पर कांग्रेस का पलड़ा भारी है। योग्यता पर फैसला करते हैं और पुणे में कांग्रेस की योग्यता है पटोले ने दावा किया।

नाना पटोले का बीजेपी पर हमला
नाना पटोले ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि इस देश का अपना एक इतिहास है। जिसे बीजेपी इतिहास को खत्म करना चाहती है। हमने कल दिल्ली के महाराष्ट्र सदन में देखा कि अहिल्याबाई होल्कर और सावित्रीबाई फुले की तस्वीरें हटाना महिलाओं का अपमान है। महाराष्ट्र की बहादुर महिलाओं ने दुनिया को जो विचार और संदेश दिया बीजेपी उसे खत्म करने का काम कर रही है। हम इस पूरी घटना की निंदा करते हैं। हम संवैधानिक व्यवस्था को समाप्त करने के लिए बीजेपी की निंदा करते हैं।

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …