इन बैंकों में बिना ID प्रूफ बदले जा रहे 2000 के नोट, खाता होना भी जरूरी नहीं

नई दिल्ली :

अधिकतर प्राइवेट बैंक ग्राहकों से 2000 रुपये के नोटों को बदलने के लिए आधिकारिक तौर पर वैध आईडी प्रूफ लाने के लिए कह रहे हैं। यह आईडी प्रूफ बिना बैंक अकाउंट वाले लोगों या दूसरे बैंक में अकाउंट वाले ग्राहकों से मांगा जा रहा है। लेकिन दो सरकारी बैंक बिना किसी आईडी के 2000 रुपये का नोट बदल रहे हैं। चाहे खाता दूसरे बैंक में क्यों ना हो। वहीं, कई प्राइवेट बैंक आईडी के अलावा एक स्पेशल फॉर्म भरने के लिए भी कह रहे हैं। हालांकि अगर आपका उस बैंक में अकाउंट है, तो वे आपसे केवल बैंक अकाउंट डिटेल ही मांगेंगे।

ये बैंक नहीं मांग रहे आईडी
दो सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और पंजाब नेशनल बैंक (PNB) 2000 रुपये के नोटों को बदलने के लिए गैर-बैंक खाताधारकों से कोई आईडी प्रूफ नहीं मांग रहे हैं। दूसरे सरकारी बैंक अपने प्रधान कार्यालयों द्वारा जारी निर्देशों के आधार पर नोट बदलने के लिए आईडी प्रूफ मांग सकते हैं या नहीं भी मांग सकते हैं।

हमारे सहयोगी ईटी वेल्थ (ऑनलाइन) के संवाददाता ने 2000 रुपये के नोटों को बदलवाने और जरूरी दस्तावेजों के बारे में पूछताछ के लिए व्यक्तिगत रूप से दक्षिण दिल्ली में चार निजी क्षेत्र के बैंकों और एक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक की शाखाओं का दौरा किया। निम्नलिखित जानकारी विभिन्न बैंकों के शाखा अधिकारियों द्वारा कही गई बातों पर आधारित है।

एचडीएफसी बैंक
एचडीएफसी बैंक शाखा ग्राहकों से एक विशेष फॉर्म (अनुलग्नक -1) भरने के लिए कह रही है, भले ही वे बैंक ग्राहक हों या नहीं। एक गैर-बैंक ग्राहक जो 2000 रुपये के नोटों को बदलवाना चाहता है, उसे निम्नलिखित जानकारी देनी होगी:
नाम
मोबाइल नंबर
इनमें से कोई एक आईडी प्रूफ – आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, नरेगा कार्ड, पैन कार्ड, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर द्वारा जारी पत्र जिसमें नाम और पते का विवरण हो। व्यक्तियों को स्व-सत्यापित प्रति के साथ अपना मूल आईडी प्रमाण लाना होगा
फॉर्म पर आईडी प्रूफ की जानकारी।
नोटों की संख्या और एक्सचेंज की जा रही राशि के विवरण का उल्लेख करना होगा।
बैंक के ग्राहक हैं, तो ग्राहक आईडी या बैंक खाता संख्या अनिवार्य रूप से विशेष फॉर्म में भरनी होगी।

कोटक महिंद्रा बैंक
यहां भी बैंक ब्रांच लोगों से 2000 रुपए के नोट बदलने के लिए एक खास फॉर्म भरने को कह रही है। चाहे आप बैंक के ग्राहक हों या न हों, फॉर्म भरना होता है। फॉर्म निम्नलिखित जानकारी भरनी है:
नाम
पता
मोबाइल नंबर
बैंक के ग्राहक नहीं हैं, तो आईडी प्रूफ (कोई एक) आधार, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, चुनाव आईडी कार्ड, नरेगा कार्ड, जनसंख्या रजिस्टर दिखाना आवश्यक है। फॉर्म पर आईडी प्रूफ नंबर डालना होगा। बैंक के मौजूदा ग्राहकों के लिए आईडी प्रूफ दिखाना अनिवार्य नहीं है।
बैंक के मौजूदा ग्राहकों को सीआरएन और खाता संख्या प्रदान करना आवश्यक है।

इंडसइंड बैंक
बैंक शाखा सभी ग्राहकों से 2000 रुपये के नोट बदलने के लिए एक विशेष फॉर्म भरने को कह रही है। एक गैर-खाता धारक को निम्नलिखित जानकारी देनी है:
नाम
मोबाइल नंबर
पता
आईडी प्रूफ और उसकी जानकारी। आईडी प्रूफ आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट की प्रति, नरेगा कार्ड और जनसंख्या रजिस्टर में से कोई भी हो सकता है।
मूल आईडी प्रूफ को स्व-सत्यापित प्रति के साथ सत्यापन के लिए बैंक शाखा में ले जाना होगा। नोट बदलने वाले व्यक्ति को व्यक्तिगत रूप से बैंक शाखा में जाना चाहिए।
बैंक ग्राहकों को अन्य विवरणों के साथ फॉर्म पर अपना खाता संख्या का उल्लेख करना आवश्यक है।

आईसीआईसीआई बैंक
बैंक शाखा ने कोई विशेष फॉर्म भरने के लिए नहीं कहा। हालांकि, वे गैर-बैंक ग्राहकों से नकद जमा पर्ची भरने और व्यक्ति के मोबाइल नंबर के साथ एक आधिकारिक वैध दस्तावेज प्रदान करने के लिए कह रहे थे।

पंजाब नेशनल बैंक
यह सरकारी बैंक अपने ग्राहकों या गैर-बैंक ग्राहकों से कोई आईडी प्रूफ नहीं मांग रहा है। एक व्यक्ति 2000 रुपये के नोट को बदलने के लिए बैंक शाखा में आसानी से जा सकता है।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
यह सरकारी बैंक भी किसी ग्राहक (बैंक ग्राहक या गैर बैंक ग्राहक) से कोई आईडी प्रूफ नहीं मांग रहा है।

About bheldn

Check Also

“हम सब मरने वाले हैं…” अचानक इस भारतीय अरबपति ने क्‍यों कहा ऐसा?

नई दिल्‍ली , हम सभी मरने वाले हैं, इसलिए जिंदगी को बहुत ज्‍यादा सीरियस लेने …