कांग्रेस ने स्मृति ईरानी को बताया ‘गुमशुदा’, बदले में मंत्री ने राहुल गांधी को लेकर कस दिया तंज

नई दिल्ली,

भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह के खिलाफ पहलवानों के महीनेभर से जारी विरोध प्रदर्शन के बीच कांग्रेस पार्टी ने बुधवार को केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी पर निशाना साधा है. पार्टी ने स्मृति ईरानी का एक पोस्टर ट्विटर पर शेयर किया है जिस पर गुमशुदा लिखा हुआ है.

बृजभूषण पर यौन शोषण के आरोप लगाते हुए पहलवान उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. लेकिन इस पूरे घटनाक्रम पर अभी तक महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी चुप्पी साधे हुए है. कांग्रेस पार्टी ने स्मृति ईरानी को गुमशुदा बताते हुए सिलसिलेवार दो ट्वीट किए हैं. एक ट्वीट में पार्टी कह रही है कि स्मृति महिला पहलवानों के सवालों पर ट्वीट छिपाती है. उनके साथ एक अन्य तस्वीर में बीजेपी मंत्री मीनाक्षी लेखी भी है, जिनके बारे में ट्वीट में कहा गया है कि वह महिला पहलवानों के सवालों पर भागती हैं.

स्मृति ईरानी का पलटवार
कांग्रेस पार्टी के इस कदम पर स्मृति ईरानी ने भी जवाबी ट्वीट कर कहा कि हे दिव्य राजनीतिक प्राणी, मैं अभी सिरसिरा गांवस विधानसभा सलोन, लोकसभा अमेठी से निकली हूं, धूरनपुर की ओर. अगर पूर्व सांसद को ढूंढ रहे हो तो कृपया अमेरिका संपर्क करें.हे दिव्य राजनीतिक प्राणी , मैं अभी सिरसिरा गाँव , विधान सभा सलोन , लोक सभा अमेठी से निकली हूँ धूरनपुर की ओर । अगर पूर्व सांसद को ढूँढ रहे हो तो कृपया अमेरिका संपर्क करें ।

स्मृति ईरानी ने इस ट्वीट से दो निशाने साधे हैं. एक तरफ उन्होंने कांग्रेस को भी जवाब दिया है. साथ ही राहुल गांधी के अमेरिकी दौरे पर तंज कसा है. राहुल गांधी अमेरिका के दौरे पर हैं. यहां उन्होंने सैन फ्रांसिस्को में भारतीयों को संबोधित किया. इस दौरान राहुल गांधी ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. राहुल ने पीएम मोदी पर भी तंज कसा. राहुल ने कहा कि बीजेपी ने उनकी भारत जोड़ो यात्रा को रोकने की कोशिश की. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि भारत में राजनीति करना अब आसान नहीं है.

बता दें कि 23 अप्रैल से पहलवान जंतर-मंतर पर धरना दे रहे थे. लेकिन बीती 28 मई को दिल्ली पुलिस ने पहलवानों को वहां से हटा दिया था. यह वह दिन था, जब नए संसद भवन का उद्घाटन हुआ था. इसी दिन पहलवानों ने संसद भवन के सामने महिला पंचायत का ऐलान किया था.

पहलवान जब नई संसद की तरफ कूच कर रहे थे, तभी रास्ते में दिल्ली पुलिस ने उन्हें रोक दिया. इस दौरान पुलिस और जवानों के बीच झड़प भी हुई. इसके बाद पुलिस ने बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक और विनेश फोगाट समेत कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया था. साथ ही पुलिस ने इनके खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया था.

इसके बाद 30 मई को पहलवान गंगा में अपने मेडल बहाने गए थे. इनमें बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक और विनेश फोगाट के साथ कई और भी खिलाड़ी शामिल थे. लेकिन भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने उन्हें ऐसा करने से रोका और उनसे अपने मेडल ले लिए. टिकैत ने पहलवानों से कहा कि उन्हें अगर मेडल अपने पास नहीं रखने हैं तो उन्हें राष्ट्रपति को सौंप दें. इसके बाद पहलवानों ने खाप चौधरियों को अपने मेडल सौंप दिए और हरिद्वार से सीधे मुजफ्फरनगर में नरेश टिकैत के आवास पर आए, जहां नरेश टिकैत से बातचीत की.

 

About bheldn

Check Also

लोकसभा चुनाव का पड़ेगा मोबाइल रिचार्ज पर असर? हो सकते हैं महंगे, सामने आई रिपोर्ट

देश में चुनावों की तैयारी शुरू हो चुकी है। लोकसभा चुनाव 2024 का आगाज होने …