पहले झबरू ने धमकाया, फिर साक्षी ने… इसके बाद शैतान बन गया साहिल, दिल्ली मर्डर की पूरी कहानी

नई दिल्ली,

दिल्ली में हुए साक्षी हत्याकांड के आरोपी साहिल ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. फिलहाल वह पुलिस रिमांड में है. गुरूवार को उसे कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा. पुलिस की पूछताछ लगातार जारी है. कहा जा रहा है कि वह बदले हुए बयान दे रहा है. पुलिस को उस चाकू की तलाश है कि जिससे साहिल ने साक्षी को गोद कर रख दिया था. साक्षी के शरीर पर 34 चोट के निशान मिलें हैं. 16 वार चाकू से किए गए थे, साथ ही पत्थर से भी कुचला गया था.

बताया गया है कि दोनों रिलेशनसिप में थे. मगर, साहिल का शक करना साक्षी को रास नहीं आया था, इसके कारण हुए झगड़े के बाद उनकी बातचीत नहीं हो रही थी. साहिल से परेशान साक्षी अपनी सहेली भावना से साथ झबरू नाम के युवक से मिली. झबरू इलाके का दबंग कहा जाता है. साक्षी ने कहा एक लड़का परेशान करता है. झबरू ने साहिल से बात की उसे धमकाया. कहा जा रहा है कि यहीं से साक्षी का मर्डर करने का साहिल ने तय कर लिया.

तारीख- 27 मई, समय- दोपहर 3.41 बजे और 28 मई की सुबह करीब 7.19 बजे
झबरू का सपोर्ट मिलने के बाद साक्षी को हिम्मत आ गई. हत्याकांड के एक दिन पहले और हत्याकांड वाले दिन की सुबह साक्षी और साहिल बात हुई. सूत्रों के मुताबिक, साक्षी और साहिल की वीडियो कॉल पर लंबी बातचीत हुई थी. इसके बाद 28 मई की सुबह करीब 7.19 बजे साक्षी और साहिल के बीच बातचीत हुई. दो वॉयस नोट भेजे गए. साक्षी तंज कसते हुए साहिल से कहती है ”ज्यादा बदमाश है क्या तू, कहां चली गई थी तेरी बदमाशगिरी.”

28 मई की शाम बनी साक्षी की आखिरी शाम
आउटर नॉर्थ दिल्ली के शाहबाद डेयरी इलाके में 28 मई की शाम 8 बजकर 45 मिनट पर साहिल अपने सामने खड़ी साक्षी पर चाकू से हमला कर देता है. एक के बाद एक कई बार साक्षी के शरीर में चाकू घोंप देता है. आस-पास मौजूद लोग तमाशबीन बने खड़े रहते हैं, मगर कोई भी साक्षी को बचाने की कोशिश नहीं करता.

चाकू से घोंंपने के बाद साहिल वहां से चला जाता है. खून से लथपथ साक्षी गली में पड़ी रहती है, लेकिन कुछ सेकंड बाद ही कातिल एक बार फिर लौटता है. वह फिर से लड़की पर खंजर से हमला शुरू कर देता है और पत्थर से कुचल देता है. फिर वहां से चला जाता है.

फोन कॉल ने खोली साहिल की पोल
साक्षी की मौत की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची थी. सूचना पाकर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज अपने कब्जे में लिया और जांच शुरू की. इसके बाद पुलिस मृतका के परिवार के पास पहुंची. जहां उन्होंने हत्यारे की पहचान साहिल के तौर पर बताई. इसके बाद पुलिस साहिल के घर पहुंची, वह घर पर मौजूद नहीं था. इसके बाद पुलिस ने सर्विलांस का सहारा लिया. तभी साहिल की बुआ ने फोन कर साहिल के पहुंचने की खबर उसके पिता को दी. इस फोन कॉल से पुलिस उसकी लोकेशन पता करने में सफल रही. इसके बाद दिल्ली पुलिस की टीम साहिल के पिता के साथ बुलंदशहर के पहासू थाना क्षेत्र के अटेरना गांव पहुंची. जहां से पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

कैसे गिरफ्तार हुआ साहिल?
साक्षी के कत्ल के बाद साहिल तकरीबन आधे घंटे तक शाहाबाद डेरी में ही मौजूद रहा था. कुछ देर एक पार्क में बैठा रहा. इस वक्त तक इसके पास हत्या में उपयोग हुआ चाकू मौजूद था. इसके बाद साहिल रिठाला गया. चाकू को वहां के जंगल में ठिकाने लगाया. इसके बाद अपना फोन स्विच ऑफ किया. ई-रिक्शा से समयपुर बादली गया और मेट्रो स्टेशन के पास रविवार की रात से सोमवार की सुबह तक वहीं पर मौजूद रहा. सोमवार की सुबह समयपुर बादली से आनंद विहार गया. यहां से बुलंदशहर जाने के लिए बस पकड़ी. रास्ते में बस भी बदली. उसे लगा कि पुलिस इससे चमका खा जाएगी और उसे पकड़ नहीं सकेगी, लेकिन सर्विलांस की मदद से पुलिस ने उसे धर-दबोचा.

साहिल ने कबूला गुनाह
दिल्ली पुलिस ने बताया कि साहिल को जब कत्ल का CCTV फुटेज दिखाया गया तो उसने यह बात कबूल ली है कि वीडियो में दिख रहा लड़का मैं ही हूँ. उसने पुलिस से सामने अपना गुनाह कबूलते हुए कहा, मैंने ही साक्षी को मारा है. इस दौरान एक और खुलासा यह हुआ है कि साक्षी को पता था कि साहिल का पूरा नाम ‘साहिल खान’ है. साक्षी और साहिल दोनों तीन साल से एक दूसरे को जानते थे. दोनों एक दूसरे का इंस्टा एकाउंट भी फॉलो करते थे.

साहिलने 15 दिन पहले ही खरीद लिया था चाकू
आरोपी का साहिल का दावा है कि एक वारदात से एक दिन पहले उसका साक्षी और उसके दोस्तों से झगड़ा हुआ था, जिसके बाद उसने इस वारदात को अंजाम दे दिया लेकिन सूत्रों के मुताबिक पुलिस को पड़ताल में पता चला है कि उसे हत्या के लिए जिस चाकू का इस्तेमाल किया, वह उसने 15 दिन पहले ही ले लिया था. यह भी पता चला कि वारदात के बाद आरोपी ने चाकू को रिठाला इलाके में छिपा दिया था. फिलहाल हत्या में प्रयुक्त हथियार को अभी बरामद नहीं हुआ है. आरोपी साहिल ने किस एरिया से चाकू खरीदा था? उसकी लोकेशन नहीं बताई है.

गर्दन पर 6 और पेट में 10 बार मारा चाकू
साहिल ने साक्षी पर चाकू और पत्थर से ताबड़तोड़ हमले किए थे. लड़की की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला है कि साहिल ने उसे चाकू से 16 बार जख्मी किया. आरोपी ने उसकी गर्दन पर 6 बार और पेट पर 10 बार वार किया. इसके बाद उसने पत्थर से साक्षी का सिर कुचल दिया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में साक्षी के शरीर और सिर पर चोट के 34 निशान मिले हैं.

परिवार की मदद करेगी दिल्ली सरकार
पीड़ित परिवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आर्थिक मदद का ऐलान भी किया है. अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि साक्षी के परिवार को दिल्ली सरकार को 10 लाख रुपये की सहायता राशि देगी और कोर्ट से आरोपी को कड़ी सजा दिलाने की पूरी कोशिश करेगी. इसके लिए बड़े से बड़े वकील को खड़ा किया जाएगा.

About bheldn

Check Also

हमेशा जल्दबाजी में रहने वाले एलन मस्क भारत आने में क्यों कर रहे देरी! कहीं चीन तो नहीं है वजह

नई दिल्ली दुनिया के टॉप रईसों में शामिल एलन मस्क ने अपना भारत का दौरा …