नक्सल सरगना दिनेश गोप ने जमीन में गाड़ दी थी जिप्सी, पुलिस ने 9 साल बाद की बरामद

खूंटी

नक्सली संगठन पीएलएफआई (पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया) के सुप्रीमो दिनेश गोप से पूछताछ में नए खुलासे हो रहे हैं। इसी के आधार पर पुलिस झारखंड के अलग-अलग इलाकों में लगातार छापेमारी कर रही है। इसी दौरान पुलिस को एक और कामयाबी मिली है। बुधवार को खूंटी जिले के रनिया थाना क्षेत्र में जमीन के नीचे गाड़कर रखी गई एक जिप्सी बरामद की गई है। दिनेश गोप आठ-नौ साल पहले इसी जिप्सी पर हथियारबंद दस्ते के साथ चलता था। जिप्सी को गरई गांव स्थित विद्या विहार पब्लिक स्कूल के सामने जंगल क्षेत्र में जमीन में गड्ढा खोदकर छिपाया गया था। इसे दिनेश गोप ने लातेहार से मंगवाया था। बता दें, पीएलएफआई के गड़े-छुपे हथियार और अन्य सामान को पुलिस बरामद कर रही है।

स्कूल के पास गड्ढा खोदकर छिपा दी थी जिप्सी
पुलिस ने जिप्सी को जेसीबी से गड्ढा खुदवाकर निकलवाया है। इस बाबत खूंटी के एसपी अमन कुमार ने कहा कि गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने स्कूल के समीप छुपा कर रखी गई जिप्सी को बरामद कर लिया है। इसे बाहर निकालने के लिए झारखंड जगुआर और बम निरोधक दस्ते का सहयोग लिया गया। वाहन की जांच के लिए आगे की कार्रवाई की जा रही है।

21 मई को हुई थी दिनेश गोप की गिरफ्तारी
बता दें कि दो दशकों तक मोस्ट वांटेड रहे दिनेश गोप को बीते 21 मई को एनआईए और झारखंड पुलिस ने नेपाल से गिरफ्तार किया था। उसके खिलाफ झारखंड, बिहार, उड़ीसा में 102 वारदात दर्ज हैं। एनआईए और पुलिस ने उसे रिमांड पर लेकर आठ दिनों तक पूछताछ की है। उससे मिले सुराग के आधार पर पिछले एक हफ्ते के दौरान भारी मात्रा में हथियारों की बरामदगी हुई है।

About bheldn

Check Also

BPSC पेपर लीक मामले में एक महिला समेत 5 गिरफ्तार, आरोपी उज्जैन से लाए गए पटना

पटना, बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन (BPSC) द्वारा ली गई शिक्षक भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले …