फेल हुआ राहुल गांधी का फॉर्मूला? सचिन पायलट ने किया ऐलान- मांगों से कोई समझौता नहीं

टोंक

राजस्थान में इस साल के आखिर में विधानसभा का चुनाव होना है। चुनाव से पहले कांग्रेस आलाकमान ने सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच चल रही खींचतान को खत्म करने की कोशिश की। दिल्ली में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के पार्टी आलकमान ने अलग-अलग मुलाकात की। इसके बाद मैसेज दिया गया कि पार्टी में सबकुछ ठीक है और दोनों नेताओं के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जाएगा। लेकिन आज बुधवार को राजस्थान के टोंक में आए पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने साफ कर दिया कि उनके तेवर कम नहीं होने वाले हैं। उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि युवाओं को न्याय दिलाना और वसुंधरा सरकार में हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ जांच बैठाने के मुद्दों को लेकर किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं किया जाएगा। सचिन पायलट ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उनके मुद्दों को लेकर उनकी लड़ाई आगे भी जारी रहेगी। पायलट के इस बयान के बाद से कांग्रेस पार्टी के लिए टेंशन बढ़ने वाली है।

मांगों पर कोई समझौता नहीं होगा: सचिन पायलट
सचिन पायलट से साफ कर दिया कि उनकी जो मांगे हैं, उनसे वो समझौता करने वाले नहीं है। पायलट ने कहा, ‘गुरुवार के नया महीना शुरू होगा लेकिन, मैंने अपने नौजवान साथियों से सार्वजनिक रूप से जो वादा किया है, वो हवाई बातें नहीं हैं। यह कोई ऐसी बात नहीं है, जिसे कोई गलत कह सकता है। कांग्रेस पार्टी हमेशा भ्रष्टाचार के खिलाफ रही है, युवाओं के साथ रही है। राहुल गांधी खुद भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। वही मैं भी कर रहा हूं। युवाओं को न्याय दिलाना और बीजेपी सरकार में हुए भ्रष्टाचार पर जांच बिठाना अनिवार्य है। इस पर कोई समझौता नहीं होगा।’

बता दें, बीते दिनों दिल्ली में अशोक गहलोत, सचिन पायलट ने राहुल गांधी और मल्लिकार्जुन खरगे से अलग अलग मुलाकात की थी। इस दौरान राजस्थान कांग्रेस प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा भी मौजूद थे। मुलाकात के बाद केसी वेणुगोपाल के साथ अशोक गहलोत और सचिन पायलट बाहर आए। वेणुगोपाल ने ऐलान किया कि सभी मिलकर राजस्थान का चुनाव लड़ेंगे।

मैंने नौजवानों की बात रखने में कमी नहीं की: पायलट
कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि ‘मैंने अपने राजनीतिक जीवन में चाहे मैं किसी पद पर हूं या न हूं, प्रदेश के नौजवानों की बात को रखने में कमी नहीं रखी है। आप मुझे हमेशा अपना समर्थन देते हैं और मैं भी आपके लिए हमेशा खड़ा हूं। किसी को गलतफहमी पालनी नहीं चाहिए। आपका और मेरा नाता अटूट है। इसे कोई नहीं तोड़ सकता है।

राजस्थान में BJP का नेतृत्व सक्षम नहीं: पायलट
वहीं बीजेपी पर हमला बोलते हुए सचिन पायलट ने कहा कि राजस्थान में बीजेपी का नेतृत्व सक्षम नहीं है। पिछले साढ़े 4 साल में बीजेपी ने सदन में और सदन के बाहर ये प्रमाण नहीं दिया कि वो मजबूत विपक्ष है। उनके पास विधायकों की संख्या ठीक है। फिर भी वो सभी मुद्दों पर फेल हुए हैं। जनता बीजेपी से उम्मीद खो चुकी है।

About bheldn

Check Also

नड्डा घूमते हैं नोटों भरा बैग लेकर, महिलाएं अब कैसे खरीदें सोना? तेजस्वी का पीएम मोदी-नड्डा पर डबल अटैक

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी …