राहुल संग बैठकर रघुराम राजन ने की थी जो भविष्यवाणी, BJP आज उस पर इतने मजे क्यों ले रही!

नई दिल्ली

वित्त वर्ष 2022-23 के GDP के आकंड़े जैसे ही सामने आए आरबीआई (RBI) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजनका एक पुराना वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगा। वीडियो साल 2022 का है, जब वो राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए थे। दिसंबर 2022 में जब राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान पहुंची तो उसमें रघुराम राजन भी शामिल हुए। राहुल गांधी के साथ कदम से कदम मिलाने के साथ उन्होंने मोदी सरकार की योजनाओं और आर्थिक विकास पर हमला बोला। यात्रा के बीच राहुल गांधी को दिए इंटरव्यू में रघुराम राजन ने भारत के आर्थिक विकास को चुनौतीपूर्ण बताते हुए कहा कि अगर वित्त वर्ष 2022-23 में भारत 5 फीसदी आर्थिक विकास दर को भी हासिल कर लेता है तो भी वो बहुत ही भाग्यशाली कहलाएगा। राजन का ये बयान अब फिर से सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है। आर्थिक विकास की अपनी इस भविष्यवाणी को लेकर रघुराम राजन एक बार फिर से सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के निशाने पर आ गए हैं।

गलत साबित हुई रघुराम राजन की भविष्यवाणी
रघुराम राजन ने जहां वित्त वर्ष 2022-23 में जीडीपी अनुमान 5 फीसदी रहने पर रहने का अनुमान जताया था। राजन के अनुमान के विपरीत देश का आर्थिक विकास दर उम्मीद से बेहतर रहा है। भारत की जीडीपी दर ने आरबीआई, एसबीआई, रॉयटर्स पोल के अनुमान को भी पछाड़ते हुए अनुमान से अधिक तेजी से बढ़ी है। जहां अमेरिका, यूरोप जैसे देश मंदी से जूझ रहे हैं, वहां भारत ने अनुमान से बेहतर आर्थिक विकास दर को हासिल किया है। मार्च तिमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ 6.1% रही है। इसके अलावा केंद्र ने अनुमान लगाया है कि FY23 की ओवरऑल ग्रोथ दर 7.2 प्रतिशत होगी। आंकड़ों से पता चला कि वित्त वर्ष 2022-23 में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.2 प्रतिशत की दर से बढ़ी। ये अनुमान राहत देने वाला है।

राहुल गांधी को दिया था इंटरव्यू
रघुराम राजन ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान साल 2022 में राहुल गांधी को इंटरव्यू दिया था। राहुल की यात्रा में शामिल होने के लिए राजन राजस्थान पहुंचे थे। यहीं उन्होंने राहुल गांधी को इंटरव्यू दिया था। भारत के आर्थिक विकास को लेकर राहुल गांधी के सवाल का जवाब देते हुए रघुराम राजन ने कहा था कि रूस-यूक्रेन युद्ध और दूसरे वैश्विक हालातों की वजह से आने वाला साल भारत के साथ-साथ दुनिया के लिए चुनौतिपूर्ण रहने वाला है। भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए और कठिनाई होगी। राजन ने कहा कि महंगाई बढ़ रही है, बैंक की ब्याज दरें उच्च स्तर पर पहुंच चुकी है, निर्यात लगातार घट रहा है। इन सबका असर भारत पर पड़ने वाला है। ये सब विकास के लिए नेगेटिव का काम करेगा। इनसब बीच भारतीय जीडीपी अगले साल 5 फीसदी की रफ्तार से आगे बढ़ती है तो भी हम भाग्यशाली होंगे।

अनुमान से बेहतर नतीजे
गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने Q4FY23 में वास्तविक GDP वृद्धि 5.1 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था। वहीं एसबीआई रिसर्च का अनुमान 5.5 प्रतिशत था। रॉयटर्स पोल ने जीडीपी 5 फीसदी बढ़ने की उम्मीद जताई गई थी। जानकारों ने जनवरी-मार्च 2023 तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 4.9 से 5.5 फीसदी रहने का अनुमान जताया था। इन सब परिणामों को पछाड़ते हुए भारत का जीडीपी ग्रोथ तेजी से बढ़ा है। आंकड़ों के मुताबिक वित्त वर्ष 2022-23 की जनवरी-मार्च तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 6.1 फीसदी रह। साल 2022-23 में जीडीपी ग्रोथ 7.2 फीसदी रही।

BJP के निशाने पर राजन
31 मई को जैसे ही जीडीपी के आंकड़े सामने आए बीजेपी ने राहुल गांधी और आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन पर निशाना साधना शुरू कर दिया। बीजेपी ने रघुराम राजन और राहुल गांधी का वीडियो शेयर करते हुए इसे निराशावादी करार दिया है। बीजेपी नेता अमित मालवीय ने लिखा कि सच यह है कि भारत ने वित्त वर्ष 2022-23 में जीडीपी में 7.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की है। कांग्रेस के समर्थक ‘गंदगी चाहने वाली मक्खियों’ की तरह हैं। जिन्हें अगर एक भी साफ जगह दे दी जाए तो भी वो गंदगी ही तलाशेंगे। उन्होंने रघुराम राजन के निराशाजनक बयान पर कहा कि वे स्वाभाविक रूप से दुखी हैं। उनकी चाहत अरबों को लोगों को भूखा देखने की है । अमित मालवीय के साथ-साथ बीजेपी प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने रघुराम राजन के इस बयान पर कटाक्ष करते हुए उन्हें ‘जेम्स बॉन्ड राजन’ करार दिया।

About bheldn

Check Also

MP: गर्भवती महिला के हाथ-पैर काटकर हत्या, फिर शव को जलाया, पुलिस को देख जलती चिता छोड़कर भागे ससुराल वाले

राजगढ़, मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. …