मुझे मरने दो… रिटायर्ड सैनिक ने पुलिस पर आरोप लगाकर SSP दफ्तर में की आत्मदाह की कोशिश

मेरठ

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के खरखौंदा थाना क्षेत्र के ग्राम कैली निवासी रिटायर्ड सैनिक वीरेंद्र सिंह ने शुक्रवार को एक केस में बहू और उसके परिवार वालों पर कार्रवाई नहीं करने पर पुलिस से खफा होकर एसएसपी दफ्तर अपने ऊपर पेट्रोल डालकर आत्मदाह की कोशिश की। पुलिस कर्मियों ने सैनिक को पानी डालकर बचाया। उसे हिरासत में ले लिया। बचाने वाले पुलिस वालों से रिटायर्ड सैनिक बार-बार कह रहा था कि मुझे मरने दो।

पुलिस के मुताबिक खरखौदा थाना क्षेत्र के ग्राम कैली निवासी वीरेंद्र सिंह रिटायर्ड सैनिक हैं। भारत सरकार की तरफ से उसे चार मेडल मिले हुए हैं। वीरेंद्र ने पुलिस को बताया कि उनके बेटे नीतीश मलिक की शादी करीब 6 माह पूर्व वैशाली पुत्री अनिल निवासी ग्राम कुनकुरा थाना इंचोली से हुई थी। आरोप है कि शादी के कुछ वक्त बाद वैशाली ने ससुरालियों से विवाद करा शुरू कर दिया।

रिटायर्ड सैनिक का आरोप है कि वैशाली का अपने पति नितीश से विवाद के साथ गाली गलौज और मारपीट भी होती थी। वह परिवार से अलग रहने की जिद करती थी। आरोप है कि वैशाली ने नीतीश को जहर देकर मारने की एक बार कोशिश भी की थी। विरोध करने पर पति नितीश ससुराल वालों पर दहेज उत्पीड़न की एफआईआर लिखाई थी।

आरोप है कि 30 जुलाई को वैशाली अपने साथ कई लोगों को लेकर ससुराल पहुंची थी और घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे को ईंटों से तोड़ डाला था। वह कैमरे में कैद है। गाली-गलौज और मारपीट कर दी। दुकान में घुसकर तोड़फोड़ की थी। आरोप है कि खरखौदा पुलिस आरोपियों पर कार्रवाई नहीं कर रही हैं। वह एसएसपी दफ्तर पर इच्छा मृत्यु की प्रार्थना देने पहुंचा था। इसी दौरान पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने की कोशिश की। पुलिस का कहा है कि पूर्व सैनिक के खिलाफ जनपद अलीगढ़ में एक दहेज उत्पीड़न का एक मुकदमा दर्ज है।

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …