अगर लोकसभा समय से पहले हो गया तो? मायावती ने शुरू कर दी तैयारी, ऐलान का मतलब तो समझिए

लखनऊ

अगले साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने अपनी अपनी कमर कस ली है। सभी दल चुनावी तैयारियों से लेकर उम्मीदवारों के चयन पर मंथन कर रही है। वहीं एक ओर जहां राजनीतिक दल NDA या INDIA गठबंधन के साथ जा रहे हैं, वही बहुजन समाज पार्टी ने इस लोकसभा चुनाव में एकला चलो की राह पकड़ ली है। मायावती ना ही NDA के साथ जाएगी और ना ही INDIA गठबंधन में शामिल होकर चुनाव लड़ेंगी। इसी बीच बसपा सुप्रीमो मायावती ने लोकसभा चुनाव समय से पहले होने की भी संभावना जता दी है।

पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने इस सिलसिले में शनिवार को सोशल मीडिया एक्स पर बयान जारी किया। इसमें लोकसभा चुनाव समय से पहले होने की संभावना जताते हुए कहा कि “लोकसभा चुनाव समय पूर्व होने की संभावना के मद्देनजर बीएसपी द्वारा पार्टी संगठन की मजबूती, सर्वसमाज में जनाधार को बढ़ाने की अनवरत प्रक्रिया के साथ ही उम्मीदवारों के चयन आदि को लेकर यूपी के बाद उत्तराखंड के छोटे-बड़े सभी पदाधिकारियों की बैठक सम्पन्न हुई है। इसके साथ ही मायावती ने लिखा कि “यह क्रम राज्यवार जारी रहेगा।’

इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने राजस्थान में महिला के साथ घटी घटना को लेकर भी हमला बोल दिया है। मायावती ने कहा कि “राजस्थान के प्रतापगढ़ में महिला के साथ अभद्र और असभ्य व्यवहार की जितनी भी निन्दा की जाए वह कम। उन्होंने कहा कि सरकारें इनकी रोकथाम के लिए बीएसपी सरकार जैसी कठोर कार्रवाई क्यों नहीं कर पाती हैं, यह सोचने की बात।” इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘विभिन्न राज्यों में इस प्रकार की जघन्य घटनाओं का लगातार होना अति-शर्मनाक है।’

वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती को लेकर दिए गए बयान पर सपा राज्यसभा सांसद राम गोपाल यादव पर बसपा नेता और मायावती के भतीजे आकाश आनंद ने हमला बोल दिया है। बसपा के नेशनल कॉर्डिनेटर आकाश आनंद ने बिना नाम लिए राम गोपाल यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी में एक प्रोफेसर हैं। जो जिंदगी भर अपना राजनीतिक अस्तित्व ही तलाशते रह गए। मायावती के भतीजे ने कहा कि इधर उधर की करने से अस्तित्व नहीं बनता ये समझने के लिए उन्हें अभी बहुत कुछ सीखना होगा।

हाल ही में राम गोपाल यादव ने मायावती को लेकर क्या रणनीति है? इसके जवाब में कहा कि कोई रणनीति नहीं है, हमे उनकी जरूरत नहीं है। साथ ही सपा सांसद ने कहा कि ये दोनों (रामदास अठावले और बीएसपी प्रमुख मायावती) देश की राजनीति में अस्तित्वहीन हो गए हैं। इसी के जवाब में आकाश आनंद ने जोरदार पलटवार किया है।

About bheldn

Check Also

डॉक्टर ने नाम बदलकर रचाई शादी, फिर महिला का जबरन कराया धर्म परिवर्तन

सहारनपुर , सहारनपुर के थाना देवबंद पुलिस ने एक डॉक्टर को नाम बदल कर दूसरे …