UP: मेरे घर में क्या देख रहा है… ताक-झांक का आरोप लगा पड़ोसियों ने युवक को बेरहमी से पीटा, मौत

देवरिया ,

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में 22 साल के एक युवक को इस कदर पीटा गया कि उसने अस्पताल में दम तोड़ दिया. युवक को रक्षाबंधन के दिन दूसरे के घर में झांकने के आरोप में पड़ोसियों ने बेरहमी से पीटा था. मामले में बीजेपी विधायक शलभ मणि त्रिपाठी ने मृतक के घर पहुंचकर कार्रवाई का भरोसा दिलाया है. फिलहाल, दो आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं. पुलिस बाकी की तलाश में है.

पूरा मामला थाना गौरीबाजार क्षेत्र के उधोपुर गांव का है, जहां रक्षाबंधन के दिन घर में झांकने पर पड़ोसियों ने संजय कनौजिया की बेरहमी से पिटाई कर दी. पिटाई से घायल संजय को इलाज के लिए BRD मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया. लेकिन बीते शनिवार को उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

इस मामले में पुलिस ने गांव के ही तीन भाइयों दीपक, जयनाथ, राहुल पर केस दर्ज किया. इनके साथ उनकी मां जिलेबा देवी और किरन, चंदा, वंदना, सत्यम और फूलकली के खिलाफ भी गंभीर धराओं में मामला दर्ज किया गया.

इसक लेकर CO रुद्रपुर जिलाजीत सिंह ने बताया कि युवक की इलाज के दौरान मौत होने के बाद पुलिस ने 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. वहीं, एडिशनल एसपी राजेश सोनकर ने जानकारी दी कि इसमें दो अभियुक्तों की गिरफ़्तारी कर ली गई है आगे की वैधाननिक कार्रवाई की जा रही है.

सिलसिलेवार ढंग से जानिए पूरा मामला
दरअसल, संजय कनौजिया 31 अगस्त की सुबह अपने घर के बाहर खड़े होकर ब्रश कर रहा था. तभी उसकी नजर सामने वाले घर की तरफ पड़ गई. जिसपर उस घर में रहने वाला युवक विरोध करने लगा कि संजय घर के अंदर ताक-झांक क्यों कर रहा है. इसपर संजय ने जवाब दिया तो बात बढ़ गई. जुबानी जंग मारपीट में बदल गई.

आरोप है कि इस दौरान जयनाथ और उसके भाई, मां व अन्य परिजन इकट्ठे हो गए और संजय से मारपीट करने लगे. तभी उनमें से एक शख्स ने लोहे के रॉड से संजय के सिर पर वार कर दिया जिससे संजय का सिर फट गया. वह लहूलुहान होकर नीचे गिर पड़ा. उसके कान से खून बहने लगा.

बीच बचाव करने आए संजय के भाइयों और उसकी मां को भी पीटा गया. मारपीट के बाद पड़ोसी भाग गए. आनन-फानन में घायल संजय को देवरिया मेडिकल कॉलेज के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया. जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत नाजुक देखते हुए उसे BRD मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया. लेकिन शनिवार को वहां संजय की मौत हो गई.

देवरिया सदर से विधायक शलभ मणि त्रिपाठी ने मृतक के घर पहुंचकर परिजनों को ढांढस बधाया और दोषियों पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया. फिलहाल, संजय के घर में मातम पसरा हुआ है. मां-बाप का रो-रोकर बुरा हाल है

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …