‘INDIA’ गठबंधन के नाम से दिक्कत है तो अपना नाम बदल लेते हैं, हमारे लिए देश बड़ा- उमर अब्दुल्ला

श्रीनगर,

इंडिया बनाम भारत को लेकर देशभर में सियासी घमासान मचा हुआ है. इसे लेकर जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम और एनसी नेता उमर अब्दुल्ला ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी को अगर हमारे गठबंधन के नाम ‘INDIA’ से दिक्कत है, तो हम गठबंधन का नाम बदल लेंगे. हमारे लिए देश बड़ा है.

उमर अब्दुल्ला पुलवामा में पार्टी के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे. उन्होंने कहा, भारत और इंडिया दोनों संविधान का हिस्सा हैं. बीजेपी कहां कहां INDIA का नाम बदलेगी. पीएम मोदी जिस विमान से इंडोनेशिया गए, उसमें भी इंडिया लिखा है. इसरो, आईटीआई, आरबीआई, आईआईएम में इंडिया है. बीजेपी कहां कहां इंडिया का नाम भारत में बदलेगी.

कहां से शुरू हुई नाम बदलने की चर्चा
दरअसल, 9 और 10 सितंबर को होने वाले G20 कार्यक्रम के निमंत्रण के लिए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की तरफ से सभी फॉरन डेलीगेट्स को भेजा गया था. पत्र के सबसे ऊपर ‘प्रेसिडेंट ऑफ भारत’ लिखा. आम तौर पर ऐसे निमंत्रण में प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया का इस्तेमाल होता है. इस निमंत्रण के सामने आने के बाद ही विपक्ष हमलावर हो गया. ‘INDIA’ गठबंधन के नेताओं का दावा है कि इंडिया या भारत वाली बहस के पीछे BJP का डर है. तो वहीं, बीजेपी नेता इसे गुलामी की मानसिकता पर चोट बता रहे हैं.

विशेष सत्र में प्रस्ताव लाने की चर्चा
मोदी सरकार ने 18 से 22 सितंबर तक संसद का विशेष सत्र बुलाया है. इस सत्र को लेकर अब तक कुछ साफ नहीं है. लेकिन चर्चा है कि संसद के विशेष सत्र में मोदी सरकार संविधान से ‘इंडिया’ शब्द हटाने का प्रस्ताव ला सकती है. इस चर्चा को G-20 समिट के लिए राष्ट्रपति की ओर से भेजे गए न्योते के बाद और बल मिल गया. इतना ही नहीं, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने भी सोमवार को कहा था कि लोगों को ‘इंडिया’ की बजाय ‘भारत’ कहना चाहिए.

अधीर रंजन बोले- राष्ट्रपति भवन खाली कर दें
उधर, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा, अगर उन्हें (बीजेपी) अंग्रेजों से इतनी समस्या है, तो वे राष्ट्रपति भवन को खाली कर दें, क्योंकि उस समय यह वाइसरॉय का घर था. इसे त्याग देना चाहिए. अगर इतनी दिक्कत है अंग्रेजों से तो नॉर्थ ब्लॉक और साउथ ब्लॉक को गोले से उड़ा दीजिए. उधर, टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने इंडिया का नाम बदलकर भारत करने की चर्चा के बीच सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया.

About bheldn

Check Also

कांवड़ यात्रा: मजहब देख कर सामान खरीदने की वकालत करने वालों को हरिद्वार से आया यह वीडियो जरूर देखना चाहिए

हरिद्वार, कांवड़ यात्रा के रूट पर पड़ने वाले दुकानदारों को अपनी नेमप्लेट लगाने के यूपी …