उपराष्ट्रपति, नड्डा और लाल डायरी…हनुमान बेनीवाल ने एक साथ तीनों पर किया करारा प्रहार

सीकर

नागौर सांसद और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के प्रमुख हनुमान बेनीवाल ने उपराष्ट्रपति, लाल डायरी, जेपी नड्डा और वसुंधरा राजे पर करारा हमला किया। उन्होंने उपराष्ट्रपति को लेकर विवादित बयान दिया। इसमें उन्होंने कहा कि उपराष्ट्रपति एक फोन करके पुलिस वालों से बाइक नहीं छुड़ा सकते हैं। उन्होंने उपराष्ट्रपति जगदीश धनखड़ को निशाना बनाते हुए कहा कि मैं जानता हूं कि उन्हें क्यों राष्ट्रपति बनाया गया। इस दौरान उन्होंने वसुंधरा राजे को भी निशाना बनाते हुए कहा कि लाल डायरी में गहलोत के साथ उनका भी नाम छिपा है। इस दौरान बेनीवाल ने सचिन पायलट को भी जमकर घेरा। बेनीवाल सीकर में आयोजित छात्र अधिकार हुंकार रैली में संबोधित कर रहे थे। इस दौरान बेनीवाल ने सीएम गहलोत पर भी जमकर हमले किए।

नड्डा की यात्रा का डीजे पकड़ लिया, हाथा जोड़ी कर छुड़वाया
सांसद बेनीवाल ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पर जमकर हमला किया। उन्होंने निशाना लगाते हुए कहा कि किसी ने मुझे बताया कि नड्डा जी का डीजे पकड़ लिया गया। बाद में बीजेपी के नेताओं ने पुलिस से हाथा जोड़ी कर छुड़वाया। उन्होंने कहा कि मुझे बड़ी चुनौती स्वीकार करने में मजा आता है। चुनौती स्वीकार कर सरकार को झुकाना मुझे अच्छा लगता है। उन्होंने CM अशोक गहलोत पर हमला करते हुए कहा कि विधानसभा के चुनाव नजदीक हैं। इसलिए लोगों को रेवड़ियां बांट रहे हैं।

गुढ़ा की लाल डायरी में वसुंधरा राजे भी शामिल
हनुमान बेनीवाल ने लाल डायरी के मुद्दे को लेकर एक बार फिर वसुंधरा राजे पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि गुढ़ा की लाल डायरी में वसुंधरा राजे भी शामिल है। एक दर्जन से ज्यादा विधायकों के नाम इस लाल डायरी में है। इसलिए बीजेपी वालों ने कहा कि अब लाल डायरी खत्म करो। उन्होंने कहा कि राजेंद्र गुढ़ा बीजेपी से चुनाव लड़ना चाहता था। इसलिए बीजेपी ने गुढ़ा का शिवसेना से गठबंधन करवा दिया। उन्होंने कहा कि लाल डायरी में बीजेपी और कांग्रेस दोनों नेताओं के नाम शामिल है।

बेनीवाल ने पायलट को भी लिया जमकर आड़े हाथ
अपने संबोधन के दौरान बेनीवाल ने सचिन पायलट को भी जमकर आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि सचिन पायलट अपने आप को बड़ा नेता बताते हैं। लेकिन उन्होंने छात्रों के हितों के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने पायलट पर तंज कसते हुए कहा कि पायलट साहब बड़ी-बड़ी बातें करते है। उन्होंने कहा कि मैं तीन दिन बाद मुख्यमंत्री बन रहा हूं। सीएम हाउस कॉफी पियेंगे। लेकिन अगले दिन आचार संहिता लग जाती है।

बेनीवाल ने कहा मुझे परमिशन की कोई जरूरत नहीं
सांसद बेनीवाल ने कहा कि मुझे अपनी रैली के लिए कोई परमिशन की जरूरत नहीं होती है। मेरी रैली में रात को भी डीजे बजते हैं। उन्होंने बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा कि मेरे जैसे रात को डीजे बजा कर दिखाओ। तब मैं मानू। उन्होंने सीएम गहलोत पर रैली की परमिशन नहीं देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मेरे पास रात को 12 बजे कमिश्नर का फोन आया। उन्होंने कहा कि आपकी रैली की परमिशन कैंसल कर दी गई है। इस पर मैंने कमिश्नर को कहा मैं रैली निकालूंगा। ऐसी परमिशन बहुत बार कैंसिल हुई है। मुझे कोई परमिशन की आवश्यकता नहीं है।

About bheldn

Check Also

J-K: कुपवाड़ा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, पुंछ में एक जवान शहीद

श्रीनगर, जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ समय से आतंकी घटनाएं तेज हो गई हैं. इस कड़ी …