रामलीला मैदान में पुरानी पेंशन बहाली के लिए प्रदर्शन, देशभर से जुटे शिक्षक-कर्मचारी

नई दिल्ली,

राजधानी दिल्ली में स्थित रामलीला ग्राउंड से रविवार को एक बार फिर पुरानी पेंशन स्कीम बहाली के लिए आवाज गूंजी. दिल्ली की सड़कों पर, NMOPS/ATEWA की टोपी पहने शिक्षक और कर्मचारियों की भारी भीड़ ग्राउंड में जुटी. यहां नेशनल मूवमेंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम (एनएमओपीएस) के बैनर तले रविवार को पेंशन शंखनाद महारैली में आयोजित की गई थी. पेंशन शंखनाद रैली को संबोधित करने के लिए तैयार हुए मंच पर ‘सीएपीएफ’ जवान ड्यूटी पर थे.

रामलीला मैदान में जुटे शिक्षक कर्मचारी
कश्मीर से कन्याकुमारी और गुजरात से लेकर पूर्वोत्तर राज्यों के लाखों शिक्षक कर्मचारियों ने NPS निजीकरण भारत छोड़ो, पुरानी पेंशन बहाल करो, NMOPS जिंदाबाद, अटेवा जिंदाबाद के नारे लगाए. अलग राज्यों के कर्मचारियों ने अपने-अपने अंदाज में सरकार से पुरानी पेंशन बहाली की मांग की. इस दौरान ‘जो OPS बहाल करेगा. वही देश पर राज करेगा’ करेगा. आंदोलनकर्ता ये नारे लिखे टी-शर्ट पहन कर पुरानी पेंशन बहाली की मांग कर रहे थे.

भारत अपने कर्मचारियों को क्यों नहीं दे सकता पेंशन
NMOPS के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बंधु ने पेंशन शंखनाद महारैली को संबोधित करते हुए कहा कि जब पश्चिम बंगाल, राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखण्ड, पंजाब, हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल कर सकते हैं तो विश्व मे आज भारत आर्थिक महाशक्ति के रूप में स्थापित हो चुका है तो वह अपने कर्मचारियों को पेंशन क्यों नही दे सकता है.

कई राजनेताओं ने दिया प्रदर्शन को समर्थन
पेंशन शंखनाद रैली को समर्थन देने के लिए सुबह से ही विभिन्न राजनैतिक दलों के नेताओं का तांता लगा रहा. हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा,काम0 दीपंकर भट्टाचार्या महासचिव भाकपा माले, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सांसद संदीप दीक्षित, दिल्ली से विधायक अरविन्दर सिंह लवली, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कांग्रेस अजय कुमार लल्लू , सपा एमएलसी लाल बिहारी यादव, डॉ. मान सिंह यादव, काम राजीव डिमरी महासचिव एक्टू, पुरुषोत्तम शर्मा राष्ट्रीय सचिव किसान महासभा,आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह, भारतीय किसान यूनियन के राकेश सिंह टिकैत ने रैली को संबोधित किया और पुरानी पेंशन बहाली का समर्थन किया.

अगर सरकार ने पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल नहीं की तो आने वाले चुनाव में वोट फ़ॉर OPS अभियान चलाकर पुरानी पेंशन बहाल कराएंगे. NMOPS के राष्ट्रीय महासचिव स्थित प्रज्ञ ने कहा कि पुरानी पेंशन की बहाली के लिये पूरा देश एकजुट हो गया है. अब देश का शिक्षक व कर्मचारी जाग गया है और वह पेंशन लेकर ही रहेगा. चाहे उसके लिये उसे कुछ भी करना पड़े.

समर्थन में आए केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को पुरानी पेंशन योजना (ओपीएस) को लेकर समर्थन जताया और कहा कि उन्होंने केंद्र से इसे दिल्ली सरकार के कर्मचारियों के लिए लागू करने का अनुरोध किया है। पुरानी पेंशन योजना की बहाली के लिए 20 से अधिक राज्यों से केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारियों द्वारा यहां रामलीला मैदान में व्यापक पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बीच उनकी यह टिप्पणी आई है।

राजस्थान में बहाल हुई है पुरानी पेंशन
राजस्थान NMOPS के प्रदेशाध्यक्ष कोजाराम सियाग ने कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुरानी पेंशन बहाल कर पूरे देश में एक आदर्श उदाहरण प्रस्तुत किया है. हरियाणा पेंशन बहाली संघर्ष समिति के अध्यक्ष विजेंद्र धारीवाल ने कहा कि पुरानी पेंशन जीवन-मरण का प्रश्न है. इसलिए हरियाणा में होने वाले चुनाव में कर्मचारी पुरानी पेंशन को मुद्दा बनाएगा.

NMOPS ओडिशा के सुशांत पांडा ने कहा दिल्ली में पूरे देश के कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन बहाली के लिए जो एकजुटता दिखाई है, इसी एकजुटता से पुरानी पेंशन बहाल होगी. पंजाब से NMOPS के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुखजीत सिंह ने कहा कि आज रामलीला मैदान पर उमड़ी भीड़ प्रधानमंत्री मोदी को पुरानी पेंशन बहाल करने पर मजबूर कर देगी. दिल्ली जीएसटीए महासचिव अजयवीर यादव ने कहा कि पुरानी पेंशन बहाली में दिल्ली ने हमेशा बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया है और पुरानी पेंशन के लिये भारत सरकार पर पूरा दबाव बनाकर पेंशन बहाल कराएगा.

About bheldn

Check Also

पुणे सड़क हादसे का नया CCTV आया सामने, नशे में नाबालिग ने ली दो इंजीनियरों की जान

पुणे, महाराष्ट्र के पुणे सड़क हादसे का वीडियो सामने आया है. जिसमें दिख रहा है …