पहली तारीख को आई गुड न्यूज, GST से भरा सरकार का खजाना… सितंबर में 10% का उछाल

नई दिल्ली,

अक्टूबर महीने की पहली तारीख को केंद्र सरकार के लिए गुड न्यूज आई है. दरअसल, वित्त मंत्रालय ने रविवार को सितंबर 2023 महीने के जीएसटी कलेक्शन के आंकड़े जारी किए हैं. इसके मुताबिक, देश में सकल माल एवं सेवा कर यानी जीएसटी कलेक्शन सालाना आधार पर 10 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 1.62 लाख करोड़ रुपये हो गया.

लगातार चौथे महीने 1.6 लाख करोड़ के पार
चालू वित्त वर्ष में जीएसटी (GST) के जरिए सरकार का खजाना लगातार भरता जा रहा है. बता दें कि यह इस साल ये चौथा महीना है, जबकि जीएसटी कलेक्शन 1.6 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े के ऊपर दर्ज किया गया है. ये 1,62,712 करोड़ रुपये रहा, जिसमें सेंट्रल जीएसटी (CGST) 29,818 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी (SGST) 37,657 करोड़ रुपये शामिल है. इसके अलावा एकीकृत जीएसटी (IGST) 83,623 करोड़ रुपये (माल के आयात पर जमा 41,145 करोड़ रुपये सहित) और उपकर (Cess) 11,613 करोड़ रुपये (माल के आयात पर जमा 881 करोड़ रुपये सहित) रहा.

बीते साल सितंबर में ये था आंकड़ा
वित्त मंत्रालय द्वारा जीएसटी कलेक्शन के संबंध में जारी किए गए एक बयान के मुताबिक, सितंबर 2023 में कलेक्शन पिछले साल की समान अवधि में 1.47 लाख करोड़ रुपये से 10 फीसदी ज्यादा रहा है. सितंबर 2023 को समाप्त वित्त वर्ष 2023-24 की पहली छमाही के दौरान सकल जीएसटी संग्रह 9,92,508 करोड़ रुपये था, जो एक साल पहले रिपोर्ट किए गए 8,93,334 करोड़ रुपये से 11 फीसदी अधिक है.

अगस्त महीने में इतना रहा था कलेक्शन
इससे पिछले महीने यानी अगस्त 2023 के दौरान सरकार को 1,59,069 करोड़ का सकल जीएसटी कलेक्शन प्राप्त हुआ था. इसमें सीजीएसटी 28,328 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 35,794 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 83,251 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर एकत्र 43,550 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 11,695 करोड़ रुपये (वस्तु के आयात पर एकत्र 1,016 करोड़ रुपये सहित) रहा था. सालाना आधार पर इसमें 11 फीसदी की तेजी दर्ज की गई थी.

अप्रैल में हुआ था सबसे ज्यादा कलेक्शन
देश में GST लागू किए जाने के बाद इस साल अप्रैल 2023 में सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन किया गया था. ये आंकड़ा रिकार्ड 1.87 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंचा था. फाइनेंशियल ईयर 2021-22 में औसत मासिक जीएसटी कलेक्शन 1.10 लाख करोड़ रुपये रहा था, जबकि वित्त वर्ष 2022-23 में ये औसतन 1.51 लाख करोड़ रुपये और 2023-24 की पहली तिमाही में औसत कलेक्शन 1.69 लाख करोड़ रुपये रहा है.

2017 में लागू किया गया था GST
पुरानी अप्रत्‍यक्ष कर व्‍यवस्‍था की जगह पहली जुलाई 2017 को देश भर में वस्‍तु एवं सेवा कर (GST) लागू किया गया था. इसे देश में आजादी के बाद से सबसे बड़ा टैक्स सुधार माना जाता है. केंद्र सरकार के मुताबिक, आज से 6 साल पहले लागू जीएसटी ने देश के लोगों पर टैक्स का बोझ कम करने में मदद की है. सरकार ने हाल ही में जीएसटी को लेकर एक ऑफर स्कीम की शुरुआत की है.

About bheldn

Check Also

नहीं बेच सकते ‘मां का दूध’… 5 लाख जुर्माना, FSSAI ने कहा- तुरंत लगे रोक

नई दिल्‍ली , भारत खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने ह्यूमन मिल्क को एक …