गाजियाबाद में मंगेतर संग घूमने आई युवती से पुलिसकर्मियों ने की अश्लील हरकत, एक हजार रुपये लेकर छोड़ा

गाजियाबाद

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के साईं उपवन में पुलिसकर्मियों की छेड़खानी का मामला सामने आया है। एक युवती ने पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पीड़िता की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया है कि 16 सितंबर को वह बुलंदशहर में रहने वाले अपने मंगेतर के साथ साईं उपवन में घूमने आई थी। दोनों साईं भवन में बैठे थे। इसी दौरान पीआरवी बाइक आकर उनके पास रुकी। पुलिसकर्मियों ने आते ही उसके मंगेतर को थप्पड़ मारा। जेल भेजने की धमकी देते हुए 10 हजार रुपये की मांग की। गलत तरीके से छुआ। युवती ने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों ने उस पर संबंध बनाने का दबाव डाला। इसके बाद एक हजार रुपये यूपीआई करवाकर दोनों को छोड़ा।

पीड़िता की शिकायत के आधार पर घंटाघर कोतवाली में पीआरवी पर तैनात पुलिसकर्मियों समेत तीन के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। एक पुलिसकर्मी इस केस में सस्पेंड किया गया है। उसके साथ गए होमगार्ड जवान के खिलाफ कार्रवाई का पत्र लिखा गया है। दोनों ने किसी अन्य के यूपीआई एकाउंट में पैसे डलवाए थे। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। इस मामले में पीड़िता का आरोप है कि पुलिकर्मियों ने उन्हें तीन घंटे तक परेशान किया। पीड़िता का कहना है कि पुलिसकर्मियों ने उसे परेशान करना जारी रखा था। इस कारण उसे शिकायत दर्ज करानी पड़ी।

पीड़िता को कर रहे थे फोन
पीड़िता का आरोप है कि साईं उपवन में अश्लील हरकत करने के बाद पुलिसकर्मियों ने उस पर संबंध बनाने को कहा। दोनों किसी प्रकार एक हजार रुपये देकर वहां से निकले। इसके बाद भी पुलिसकर्मियों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा। वे पीड़िता को फोन करते रहे। परेशान पीड़िता ने तंग आकर पुलिस में शिकायत कर दी। कोतवाली एसीपी निमिष पाटिल ने इस संबंध में कहा है कि बाइक पीआरवी पर तैनात होम गार्ड राकेश कुमार, सिपाही दिगंबर और एक अन्य के खिलाफ नगर कोतवाली में केस दर्ज किया गया है।

बिसरख की रहने वाली पीड़िता ने अपनी शिकायत में पुलिसकर्मी दोनों को लगातार अपमानित कर रहे थे।‌ उनके साथ मौजूद तीसरा व्यक्ति लगातार कह रहा था तुम लोग बुरा फंसने वाले हो। 5 से 6 लाख रुपये बाहर निकलने में लगेंगे। इस दौरान राकेश कुमार बार-बार लड़की के साथ अश्लील हरकत कर रहा था। संबंध बनाने की मांग कर कह रहा था कि बुरे फंसोगे तुम लोग। कम से कम पांच-छह लाख रुपए देने पड़ेंगे। राकेश कुमार बार-बार उनसे अश्लील हरकत कर रहा था और संबंध बनाने का दबाव बना रहा था।‌

पैर पकड़ा, फिर भी नहीं माने पुलिसकर्मी
पीड़िता का कहना है कि पुलिसकर्मी जब उसे गलत तरीके से छू रहा था, तो वह सहम गई। दोनों पुलिसकर्मियों के सामने हाथ जोड़े। नहीं माने तो पैर पकड़ा। लेकिन, दोनों लगातार बदसलूकी कर रहे थे। तीन घंटे की मिन्नत के बाद एक हजार रुपये लेकर छोड़ने को राजी हुए। पुलिसकर्मियों ने इस दौरान दोनों का नाम, पता और मोबाइल नंबर नोट किया। इसके बाद वहां से भगा दिया। पुलिसकर्मियों ने धमकी दी कि अगर किसी को कुछ बताया तो जेल भेजवा देंगे।

धमकी से परेशान होकर की शिकायत
पीड़िता को इसके बाद 19 सितंबर को राकेश कुमार ने फिर कॉल किया। धमकी देने लगा। तंग आकर उसने डीसीपी सिटी निपुण अग्रवाल के समक्ष शिकायत दर्ज कराई। एसीपी निमिष पाटील को मामले की जांच का जिम्मा दिया गया। एसीपी ने आरोपी पुलिसकर्मियों को बुलाया। शिकायत की जानकारी मिलते ही राकेश और दिगंबर 22 सितंबर को पीड़िता के घर पहुंच गए। उन्होंने पीड़िता से लिए एक हजार रुपये लौटा दिए। एसीपी ने इस मामले में कहा है कि दोनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया जा चुका है। उनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू कर दी गई है। दोनों से पूछताछ कर तीसरे आरोपी की पहचान की जा रही है। पीड़िता के बयान और जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

About bheldn

Check Also

जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी हमले, अनंतनाग में टूरिस्ट कपल को मारी गोली, शोपियां में BJP नेता की हत्या

श्रीनगर जम्मू कश्मीर के अनंतनाग और शोपियां में दो अलग-अलग फायरिंग की घटना सामने आई …