सी वोटर सर्वे: तेलंगाना में कांग्रेस के लिए गुड न्यूज, मिजोरम में हंग असेंबली

हैदराबाद\नई दिल्ली

मिजोरम, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, मध्यप्रदेश और राजस्थान विधानसभा चुनाव की घोषणा होते ही सी-वोटर का पहला ओपिनियन पोल भी आ गया है। मिजोरम में इस बार त्रिशंकु विधानसभा हो सकती है। किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत की संभावना नहीं है। मिजोरम में सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 21 है। मिजोरम में एमएमएफ 13-17 कांग्रेस 10-14 जेडपीएम को 9-13 और अन्य को 1-3 सीट पर जीत मिल सकती है। मिजोरम में विधानसभा की 40 सीटें हैं। मिजोरम में मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) एनडीए का पार्टनर है। इस बार सत्ता की चाबी जेडपीएम के पास होगी।

119 सीटों वाली तेलंगाना में भारत राष्ट्र समिति से सत्ता फिसल सकती है। कांग्रेस बड़ी ताकत बन सकती है और डेढ़ दशक बाद सत्ता के करीब पहुंच सकती है। उसका वोट प्रतिशत भी बढ़ा है। कांग्रेस को तेलंगाना में मुफ्त घोषणाओं का फायदा मिल सकता है। पार्टी राज्य में 48 से 60 सीटें कांग्रेस जीत सकती है। बीआरएस के पास 43 से 55 सीटें हो सकते ही। बीजेपी और अन्य के पास 5 से 11 सीट हो सकती है।

पिछले चुनाव में बीजेपी को महज एक सीट मिल सकती है। तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए 3 नवंबर को अधिसूचना जारी की जाएगी। उम्मीदवार 10 नवंबर तक नामांकन दाखिल कर सकेंगे। 13 नवंबर तक नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। नाम वापस लेने की आखिरी तारीख 15 नवंबर है। तेलंगाना में 30 नवंबर को मतदान होगा जबकि वोटों की गिनती 3 दिसंबर को होगी।

मध्यप्रदेश को 17 नवंबर को मतदान होगा। राजस्थान की 200 सदस्यों वाली विधानसभा के लिए 23 नवंबर को मतदान होगा। छत्तीसगढ़ में दो फेज में चुनाव होंगे। वहां 7 और 17 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। राजस्थान में कांग्रेस और बीजेपी में कड़ी टक्कर है। सी वोटर सर्वे के अनुसार, मध्यप्रदेश में बीजेपी और छत्तीसगढ में कांग्रेस के लिए राहत भरी खबर आ सकती है।

About bheldn

Check Also

JNU में लेक्चर के दौरान कोलंबिया यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर से बहस, नाम के सही उच्चारण से जुड़ा है मामला

नई दिल्ली, साहित्यिक आलोचक और कोलंबिया यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर गायत्री चक्रवर्ती स्पिवक का जवाहरलाल नेहरू …