अब बोला इजरायल- गाजा पर कब्‍जे का इरादा नहीं, बस हमास को घुसकर मारना है

न्‍यूयॉर्क

संयुक्‍त राष्‍ट्र में इजरायल के राजदूत की तरफ से बड़ा बयान दिया गया है। इस बयान के मुताबिक इजरायल की गाजा पर कब्‍जे की कोई मंशा नहीं है। बयान ऐसे समय में आया है जब अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने गाजा पर कब्‍जे को लेकर इजरायल को बड़ी चेतावनी दी थी। गाजा के बॉर्डर पर इस समय करीब तीन लाख सैनिक इकट्ठा हैं। इजरायल ने पिछले दिनों गाजा के 10 लाख लोगों को वहां से चले जाने के लिए कहा है। वहीं, ईरान की तरफ से भी इजरायल की सेना को धमकाया गया है। सात अक्‍टूबर को हमास ने इजरायल पर अचानक हमला बोल दिया था तब से हालात लगातार गंभीर बने हुए हैं।

हमास का खात्‍मा एकमात्र लक्ष्‍य
संयुक्त राष्‍ट्र में इजरायल के राजदूत गिलाद एर्दान ने सीएनएन के साथ बातचीत में कहा, ‘इजराइल को गाजा पर कब्जा करने में कोई दिलचस्पी नहीं है। लेकिन हमास को खत्म करने के लिए जो भी जरूरी होगा वह करेगा। लेकिन चूंकि हम अपने अस्तित्व के लिए लड़ रहे हैं और एकमात्र रास्ता, जैसा कि राष्‍ट्रपति बाइडन ने खुद बताया है, हमास को खत्म करना है, इसलिए हमें वह करना होगा जो करना होगा उनकी क्षमताओं को नष्ट कर दें।’ अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने इजरायल को तटीय क्षेत्र पर कब्जा करने के खिलाफ चेतावनी दी है। उन्‍होंने कहा है कि गाजा पर कब्‍जा करना इजरायल की बड़ी गलती होगी। इजरायल बढ़ते मानवीय संकट के बीच जमीनी आक्रमण की तैयारी कर रहा है।

इजरायल को देना होगा जवाब
अमेरिका में इजरायल के राजदूत माइकल हर्जोग ने रविवार को सीएनएन के साथ बातचीत में कहा है कि संघर्ष खत्‍म होने के बाद इजरायल का गाजा पर कब्जा करने का कोई इरादा नहीं है। उन्‍होंने कहा,’ हमें गाजा पर कब्जा करने या दोबारा कब्‍जा करने की कोई इच्छा नहीं है।’ हर्जोग ने कहा, हमें 20 लाख से अधिक फिलिस्तीनियों के जीवन पर शासन करने की कोई इच्छा नहीं है। बाइडन ने कहा था, ‘इजरायल को जवाब देना होगा। उन्हें हमास को खत्‍म करना ही होगा।’ लेकिन उन्होंने चेतावनी दी कि गाजा पर इजरायल का कब्जा ‘एक बड़ी गलती’ होगी।

अब तक हजारों की मौत
गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि लड़ाई शुरू होने के बाद से 2670 फलस्तीनी मारे गए हैं और 9600 लोग घायल हो गए हैं। यह संख्या 2014 में इजराइल-गाजा के बीच छिड़े युद्ध से भी अधिक है जो छह सप्ताह से अधिक समय तक चला था। यह पांच गाजा युद्धों में से दोनों पक्षों के लिए सबसे घातक युद्ध बन गया है। इस बार के संघर्ष में 1400 से अधिक इजरायलियों की मौत हुई है। इनमें से अधिकतर नागरिक हमास के सात अक्टूबर के हमले में मारे गए थे। इजराइल के अनुसार, हमास ने बच्चों सहित करीब 150 लोगों को बंधक बना लिया और उन्हें गाजा ले गए। यह 1973 में मिस्र और सीरिया के साथ हुए संघर्ष के बाद से इजरायल के लिए सबसे घातक युद्ध है।

About bheldn

Check Also

वीडियो फुटेज डिलीट है, फोन फॉर्मेट हुआ है, ये आरोपी के बारे में बहुत कुछ बता रहा’, कोर्ट ने बिभव पर और क्या क्या कहा

नई दिल्ली दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट आम आदमी पार्टी की नेता एवं राज्यसभा सदस्य …