पेपर देने आई एक छात्रा के लिए तैनात रही 8 कर्मचारियों की टीम, चौंका देगा MP का ये मामला

अशोकनगर ,

मध्य प्रदेश के अशोकनगर में बोर्ड परीक्षा के दौरान अजब गजब तस्वीर सामने आई. जिला मुख्यालय के सबसे बड़े परीक्षा केंद्र सरस्वती शिशु मंदिर में सिर्फ एक छात्रा ने परीक्षा दी. चौंकाने वाली बात यह रही कि परीक्षा लेने के लिए 9 सरकारी कमर्चारियों की टीम तैनात रही. मध्य प्रदेश में इन दिनों बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं. इस बीच अशोकनगर जिले में एक रोचक मामला सामने आया. अशोकनगर और मुंगावली के विद्यालय में संस्कृत विषय की केवल एक-एक छात्रा ही परीक्षा देने पहुंची. जिनके लिए लगभग 8 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई थी.

दरअसल, अशोकनगर के पठार स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में केंद्र बनाया गया था. केंद्र में कुल 858 विद्यार्थी पेपर दे रहे थे. लेकिन यहां पर एक कक्ष ऐसा भी था, जहां पर केवल एक ही छात्रा मनीषा अहिरवार पेपर दे रही थी. छात्रा ने संस्कृत विषय का पेपर दिया, जिसके लिए 8 कर्मचारियों की ड्यूटी लगी हुई थी.

ऐसा ही हाल जिले के मुंगावली के शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में देखने को मिला. यहां पर भी एक छात्रा ने पेपर दिया. हाई सेकेंडरी के संस्कृत विषय की परीक्षा के लिए जिले में 20 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे. अशोकनगर के सरस्वती शिशु मंदिर में परीक्षा केंद्र बना था, जहां पर हाई सेकेंडरी के 466 परीक्षार्थी पेपर दे रहे थे. लेकिन संस्कृत विषय की परीक्षा में बैठने कचनार गांव कीछात्रा मनीषा अहिरवार ही पहुंची. परीक्षा केंद्र पर कलेक्टर प्रतिनिधि ,पर्यवेक्षक, केंद्र अध्यक्ष ,सहायक केंद्र अध्यक्ष और एक पुलिसकर्मी सहित 2 चपरासियों की नियुक्ति थी.

About bheldn

Check Also

संवैधानिक पद पर बैठे नरेन्द्र सिंह तोमर कर रहे हैं भाजपा का चुनाव प्रचार

– कांग्रेस ने चुनाव आयोग से आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत कर कार्यवाही की …