‘आंखों में डालो यूरीन और फिर देखो कमाल…’, महिला का फंडा जानकर चकरा जाएगा सिर

नई दिल्ली,

सोशल मीडिया पर अक्सर लोग ऐसे टिप्स और ट्रिक्स शेयर करते हैं जो हैरान भी करते हैं और दूसरों के लिए काफी रिस्की भी होते हैं. इसी तरह एक स्पेनिश टिकटॉक यूजर और “सहायक मेटाफिजिकल काउंसलर” सुमा फ्रैले का दावा है कि अधिकांश डॉक्टरों द्वारा निर्धारित रासायनिक-युक्त दवा की तुलना में मूत्र आंखों की समस्याओं के इलाज में बहुत बेहतर है.

महिला ने यह दावा करके विवाद खड़ा कर दिया कि उसकी आंखों में पेशाब को बतौर आई ड्रॉप डालने से मानो कोई चमत्कार ही हो गया. उसने बताया कि इससे उसकी मायोपिया और आखों की खराब रौशनी ठीक हो गई. महिला का दावा है कि जब तक उसकी नजर ठीक नहीं हो गई, तब तक वह रोजाना उसकी आंखों में यूरीन डालती थी.

यूं तो मूत्र चिकित्सा या यूरोथेरेपी वैकल्पिक चिकित्सा का एक रूप है जिसे 20वीं सदी की शुरुआत में ब्रिटिश प्राकृतिक चिकित्सक जॉन डब्ल्यू आर्मस्ट्रांग द्वारा लोकप्रिय बनाया गया था. चिकित्सा के इस असामान्य रूप के समर्थक औषधीय या कॉस्मेटिक प्रयोजनों के लिए मानव मूत्र के उपयोग को बढ़ावा देते हैं, जिसमें किसी की त्वचा, या मसूड़ों की मूत्र से मालिश करना और यहां तक ​​कि इसे पीना भी शामिल है. लेकिन महिला के दावा अपने आप में अजीब है.

सोशल मीडिया पर घूम रहे एक टिकटॉक वीडियो में, सुमा फ्रैले बताती हैं कि यूरीन की बूंदें पारंपरिक दवाओं की तुलना में बेहतर काम करती हैं. उन्होंने खुद इसे यूज करने और फायदा होने की बात डीटेल में बताई. उन्होंने कहा मैं आपको अपना अनुभव बताती हूं, सुबह और रात में मेरी आंखों में मूत्र डालने से मेरा astigmatism और मायोपिया पूरी तरह ठीक हो गया. वह दावा करती है, यह प्राकृतिक है, दवाओं को भूल जाओ, वो सब कैमिकल हैं, जो नुकसान करते हैं.

सुआमा का दावा है कि, मूत्र चिकित्सा के प्रभाव के लिए, प्रतिदिन सुबह और शाम यूरीन की बूंदें आंख में डालनी चाहिए. महिला के वीडियो को ऑनलाइन लोगों से खूब आलोचना का सामना करना पड़ा. एक यूजर ने कहा- मूत्र चिकित्सा को बढ़ावा देना और इससे कुछ लाभ प्राप्त करने की आशा में अपने शरीर पर मूत्र रगड़ना एक बात है, लेकिन लोगों को इसे अपनी आंखों में डालने के लिए प्रोत्साहित करना पूरी तरह से दूसरी बात है. मैं कोई डॉक्टर नहीं हूँ, लेकिन यह कई स्तरों पर गलत लगता है! एक अन्य ने कहा- क्या बकवास है ये सब बहुत रिस्की चीज है.

About bheldn

Check Also

इजरायल के हमले ने दिखाया, ईरान के एयर डिफेंस सिस्टम से पार पा सकती हैं उसकी मिसाइलें

तेल अवीव ईरान की ओर से 13-14 अप्रैल की रात इजरायल पर हमला बोला गया …