केके पाठक को लेकर बिहार विधानसभा में फिर हंगामा, राबड़ी देवी ने भी उठाए सवाल

पटना,

बिहार विधानसभा में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक को लेकर गुरुवार को भी हंगामा देखने को मिला. सदन में कार्यवाही शुरू होने के तुरंत बाद ही विपक्षी दलों के नेता हंगामा करने लगे और केके पाठक के द्वारा स्कूल टाइमिंग को लेकर दिए गए आदेश का विरोध किया. बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को कहा था कि स्कूलों का समय सुबह 10 से शाम 4 बजे के बीच ही रहेगा. उन्होंने इस दौरान यह भी स्पष्ट किया था कि शिक्षकों को वक्त से 15 मिनट पहले स्कूल में आना होगा और छुट्टी होने के 15 मिनट बाद शिक्षक स्कूल से जाएंगे.

क्या है वायरल वीडियो का मामला?
बिहार शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक से जुड़ा एक कथित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. इस वीडियो में वो टीचर्स के स्कूल आने के समय की बात कर रहे हैं और कथित तौर पर शिक्षकों को अपशब्द कहते नजर आ रहे हैं.

केके पाठक को लेकर शिक्षा मंत्री ने क्या कहा?
गुरुवार को केके पाठक को लेकर विपक्ष द्वारा किए गए हंगामे पर सदन में शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि विपक्ष के लोग एक के बाद एक मुद्दा उठाते जा रहे हैं, सभी की दिशाएं एक ही हैं. विपक्ष के विधायक किसी वीडियो और गाली की बात कर रहे हैं, मैंने सुना है कि कल यह मुद्दा बिहार विधान परिषद में भी उठाया गया था. शिक्षा मंत्री ने आगे कहा कि किसी भी अधिकारी को यह अधिकार नहीं है कि वह किसी भी सामान्य नागरिक को गाली दे. अगर किसी ने ऐसा किया है तो इस पर गौर किया जाएगा.

विजय चौधरी ने पूर्व शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर से मुखातिब होते हुए कहा कि कोई वीडियो आप सदन में नहीं दिखा सकते.इसके अलावा विधानसभा स्पीकर ने भी इस मामले पर कहा कि सदन में कोई वीडियो दिखाने की अनुमति नहीं है. परिषद में टेप देखा जाएगा, फिर जो अनुशंसा होगी सरकार उसको मानेगी.

केके पाठक को लेकर बोलीं राबड़ी देवी
पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि केके पाठक का कोई अधिकार नहीं है कि किसी भी विश्वविद्यालय के वीसी को बुलाकर बैठक करें, यह अधिकार सिर्फ महामहिम राज्यपाल को होता है. मुख्यमंत्री एक तरफ कहते हैं कि केके पाठक बहुत ईमानदार व्यक्ति हैं और दूसरी तरफ केके पाठक के मुख्यमंत्री के आदेश को ही नहीं मान रहे हैं. जब विपक्ष केके पाठक को लेकर सदन में आवाज उठाता है, तो सीएम नीतीश कुमार दोनों तरफ बोलते हैं. ऐसा नहीं चल सकता क्योंकि मुख्यमंत्री को तय करना होगा कि केके पाठक की कार्यशैली कैसी है.

About bheldn

Check Also

विजयन के टारगेट करने पर कांग्रेस ने साफ किया CAA पर स्टैंड, चिदंबरम ने बताया सरकार बनने पर क्या करेंगे

तिरुवनंतपुरम कांग्रेस की अगुवाई वाली I.N.D.I.A अलायंस अगर सत्ता में आया तो पार्टी सीएए को …