किसान आंदोलन के घायल को हमें सौंपें, पंजाब के मुख्य सचिव ने हरियाणा सरकार को लिखा खत

चंडीगढ़

पंजाब के मुख्य सचिव अनुराग वर्मा ने शनिवार को हरियाणा के अपने समकक्ष को पत्र लिखा। इसमें उन्होंने ‘दिल्ली चलो’ मार्च के दौरान झड़प में घायल और पीजीआई-रोहतक में भर्ती किसान को पंजाब के अधिकारियों को सौंपने का अनुरोध किया है। वर्मा ने कहा कि हरियाणा में इलाज करा रहे पंजाब के किसी अन्य किसान को भी राज्य के अधिकारियों को सौंप दिया जाना चाहिए। दरअसल ‘दिल्ली चलो’ मार्च का नेतृत्व कर रहे किसान नेताओं ने आरोप लगाया था कि 21 फरवरी को हरियाणा के सुरक्षाकर्मियों ने कुछ किसानों को पीटा और अपने साथ ले गए।

पंजाब-हरियाणा सीमा पर दो विरोध प्रदर्शन स्थलों में से एक खनौरी में हुई झड़प में एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी और लगभग 12 पुलिस कर्मी घायल हो गए। हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल को लिखे अपने पत्र में वर्मा ने कहा कि पंजाब के रहने वाले प्रीतपाल सिंह को राज्य के अधिकारियों को सौंपा जाना चाहिए।

घायल को चल रहा इलाज
वर्मा ने पत्र में लिखा कि हमें पता चला है कि किसान आंदोलन के दौरान घायल हुए पंजाब के प्रीतपाल सिंह का पीजीआई (पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट) रोहतक में इलाज किया जा रहा है।

पंजाब में मुफ्त इलाज कराने का भरोसा
उन्होंने कहा कि आपसे अनुरोध है कि प्रीतपाल सिंह को पंजाब के अधिकारियों को सौंप दिया जाए ताकि पंजाब सरकार पंजाब में उनका मुफ्त इलाज करा सके। इसके अलावा, अगर पंजाब का कोई अन्य आंदोलनकारी किसान हरियाणा में इलाज करा रहा है, तो उसे भी हमें सौंप दिया जाना चाहिए।

About bheldn

Check Also

विजयन के टारगेट करने पर कांग्रेस ने साफ किया CAA पर स्टैंड, चिदंबरम ने बताया सरकार बनने पर क्या करेंगे

तिरुवनंतपुरम कांग्रेस की अगुवाई वाली I.N.D.I.A अलायंस अगर सत्ता में आया तो पार्टी सीएए को …