रूस: एक हफ्ते बाद मां को सौंपा गया नवलनी का शव, ‘सीक्रेट’ अंतिम संस्कार की रखी गई शर्तें

मॉस्को,

रूस की जेल में ‘अचानक’ मौत के सात दिनों बाद एलेक्सी नवलनी का शव उनकी मां को सौंप दिया गया है. साथ ही कुछ शर्तें भी रखी गई है. नवलनी की मां ल्यूडमिला ने बताया कि नवलनी का शव उन्हें मिल गया है और उनकी अंतिम संस्कार होना बाकी है. उन्होंने एक एक्स पोस्ट में तमाम लोगों का धन्यवाद दिया, जो उनके शव को रिलीज करने की मांग कर रहे थे.

एलेक्सी नवलनी, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के एक मुखर विरोधी थे और 30 साल जेल की सजा काट रहे थे. उन्हें आर्किटिक सर्कल जेल में रखा गया था लेकिन 16 फरवरी को कथित रूप से अचानक उनकी मौत हो गई. हाल ही में एक सोशल एक्टिविस्ट ने उसी जेल सोर्स के हवाले से दावा किया, “हो सकता है कि उन्हें (नवलनी) को एक ही मुक्के में (हार्ट पर) मार दिया गया होगा, जो कि केजीबी की किसी की जान लेने की पुरानी टेक्नीक है.”

“गुप्त” अंतिम संस्कार की रखी गई शर्त
नवलनी की मांग ने कहा कि नवलनी के शव को “गुप्त” रूप से अंतिम संस्कार करने की शर्त रखी गई है. अगर वह ऐसा नहीं करतीं तो उनके शव को उसी जेल में दफ्ना दिया जाएगा, जहां उनकी मौत हुई. बेटे की मौत की खबर सुनने के बाद ल्यूडमिला लगातार जेल के आसपास के चक्कर काट रही थीं और हफ्ते भर से वहीं रह रही थीं. वह यह पता लगा रही थीं कि आखिर उनके बेटे को शव को कहां रखा गया है, ताकि शव लेने में आसानी हो.

पुतिन पर नवलनी के शव को “बंधक” बनाने का आरोप
एलेक्सी नवलनी का अंतिम संस्कार कब और कहां होगा यह अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन शर्तों के मुताबिक, अंतिम संस्कार गुप्त रूप से ही किया जाना है. इससे पहले उनकी विधवा पत्नी यूलिया नवलनिया ने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर आरोप लगाया था कि उन्होंने उनके पति के शव को “बंधक” बनाया हुआ है और शव रिलीज करने की मांग की थी.

2020 में नवलनी को दिया गया था पॉइजन
पति की मौत के बाद यूलिया लगातार रूसी नागरिकों से पुतिन के खिलाफ आंदोलन की अपील कर रही हैं. अपने पति की मौत के लिए वह पुतिन को जिम्मेदार ठहरा रही हैं. एलेक्सी नवलनी रूस के एक विपक्षी नेता थे, जो कि पुतिन के बड़े विरोधी माने जाते थे. अगस्त 2020 में उन्हें पॉइजन दिया गया था और इसके इलाज के लिए उन्हें जर्मनी जाना पड़ा था. बाद में वह जनवरी 2021 में रूस वापस लौटे और जेल में डाल दिए गए थे.

About bheldn

Check Also

इजरायल के हमले ने दिखाया, ईरान के एयर डिफेंस सिस्टम से पार पा सकती हैं उसकी मिसाइलें

तेल अवीव ईरान की ओर से 13-14 अप्रैल की रात इजरायल पर हमला बोला गया …