‘जो जुड़ेंगे वो जीतेंगे…’, UP पुलिस भर्ती परीक्षा रद्द होने के बाद बोले राहुल गांधी

नई दिल्ली,

उत्तर प्रदेश सिपाही भर्ती परीक्षा रद्द होने के बाद लाखों अभ्यर्थियों ने राहत की सांस ली होगी. परीक्षा के पहले दिन से पेपर लीक का दावा कर रहे अभ्यर्थी परीक्षा को रद्द करके दोबारा आयोजित करने की मांग कर रहे थे. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न सिर्फ परीक्षा रद्द का ऐलान किया है बल्कि 6 महीने के अंदर फिर से परीक्षा आयोजित कराने का भी आदेश दिया है. इस फैसले के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इसे छात्र शक्ति और युवा एकता की बड़ी जीत बताया है.

राहुल गांधी ने योगी सरकार को घेरा
यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा रद्द होने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट ‘एक्स’ (पहले ट्विटर) के जरिये इस फैसले को छात्र शक्ति और युवा एकता की बड़ी जीत कहा है. साथ ही उन्होंने इस पूरे मामले पर योगी सरकार को घेरा है. उन्होंने ‘एक्स’ पर #YuvaNYAY #UPP_REEXAM के साथ अपनी पोस्ट में लिखा, ‘छात्र शक्ति और युवा एकता की बड़ी जीत! उत्तरप्रदेश पुलिस परीक्षा आखिरकार निरस्त की गई. संदेश साफ है – सरकार कितना भी सच को दबाने की कोशिश करे, एकजुट होकर लड़ने से ही अपना हक जीता जा सकता है. जो जुड़ेंगे वो जीतेंगे, जो बटेंगे वो कुचल दिए जाएंगे.’
Advertisement

री-एग्जाम में मिलेगी फ्री ट्रैवल की सुविधा
पेपर रद्द करने के साथ ही यूपी पुलिस सिपाही भर्ती परीक्षा का पेपर 6 महीने के अंदर पूरे शुचिता के साथ दोबारा कराने का निर्देश दिया गया है. इसके अलावा परीक्षार्थियों से परीक्षा के लिए आने-जाने का कोई पैसा नहीं लिया जाएगा. आदेश में लिखा है कि उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की सेवा से अभ्यर्थियों को नि:शुल्क सुविधा उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए हैं.

STF को सौंपा जाएगा पेपर लीक जांच का जिम्मा
योगी सरकार, यूपी पुलिस सिपाही भर्ती पेपर लीक मामले की जांच का जिम्मा स्पेशल टास्ट फोर्स (STF) को सौंपेगी. दोषियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही शासन ने भर्ती बोर्ड को यह निर्देश दिया है कि जिस भी स्तर पर लापरवाही बरती गई है उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराकर उचित कार्रवाई की जाए.

परीक्षा से कुछ घंटे पहले ही मिल गया था पेपर!
यूपी पुलिस सिपाही पद पर कुल 60244 रिक्तियों को भरने के लिए 17 और 18 फरवरी को प्रदेशभर में आयोजित की गई थी. इस परीक्षा में 48 लाख से ज्यादा उम्मीदवार उपस्थित हुए थे. अभ्यर्थियों ने 17 और 18 फरवरी की दूसरी शिफ्ट का पेपर लीक का दावा किया था. अभ्यर्थियों का कहना था कि 18 फरवरी की शाम 3 से 5 की पाली में हुए प्रश्न पत्र तमाम अभ्यर्थियों के पास और कोचिंग टीचर्स के पास पहले ही पहुंच गए थे. जिसे लेकर शिक्षकों ने सोशल मीडिया पर उसी समय पोस्ट भी लिखी कि पेपर लीक होने की बाते सामने आई है.

About bheldn

Check Also

जिंदा है दाऊद इब्राहिम का सबसे बड़ा दुश्मन! 9 साल बाद सामने आई छोटा राजन की नई तस्वीर

नई दिल्ली, दाऊद इब्राहिम का जानी दुश्मन और दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड …