मणिपुर में भीड़ ने ASP को किया किडनैप, सेना ने छुड़ाया, इंफाल पूर्व में हथियार जब्त

इंफाल

मणिपुर में हिंसा की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। इंफाल पश्चिम जिले में कुछ सशस्त्र कार्यकर्ताओं ने मंगलवार शाम को मणिपुर पुलिस के एक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) का अपहरण कर लिया। हालांकि सुरक्षा बलों ने फौरन कार्रवाई शुरू कर कुछ ही घंटों के भीतर उन्हें छुड़ा लिया। पुलिस अधिकारी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि मणिपुर पुलिस के ऑपरेशन सेल में तैनात एएसपी अमित कुमार को सशस्त्र कार्यकर्ताओं के एक समूह ने वांगखेई स्थित उनके घर से अगवा कर लिया था। मणिपुर पुलिस की एक बड़ी टुकड़ी ने तुरंत तलाशी अभियान चलाया और कुछ ही घंटों में उसे सुरक्षित छुड़ा लिया। अधिकारियों ने कहा कि इस गोलीबारी का कारण यह था कि संबंधित अधिकारी ने वाहन चोरी में कथित संलिप्तता के लिए समूह के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद मीरा पैबिस (मैतेई महिला समूह) के एक समूह ने उनकी रिहाई की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन किया और सड़कों को बाधित कर दिया। उन्होंने कहा कि मंगलवार शाम को हुए हमले में कथित तौर पर अरामबाई तेंगगोल से जुड़े सशस्त्र कार्यकर्ताओं ने घर में तोड़फोड़ की और गोलियों से कम से कम चार वाहनों को नुकसान पहुंचाया।

दरअसल मणिपुर में लगभग दस महीने से जातीय हिंसा देखी जा रही है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य को तीन बारूदी सुरंग संरक्षित क्विक रिएक्शन फाइटिंग (क्यूआरएफ) वाहन दिए हैं। वाहनों को देखने के बाद मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने एक्स पर कहा कि टाटा क्विक रिएक्शन फाइटिंग (क्यूआरएफ) वाहनों का निरीक्षण करके खुशी हुई। जो राज्य में कानून-व्यवस्था लागू करने में लगे सुरक्षा बलों को लैस करने के लिए गृह मंत्रालय की ओर से प्रदान किए गए हैं। ये वाहन संवेदनशील स्थानों पर अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए सुरक्षा बलों की सुरक्षा में बहुत मदद करेंगे। राज्य सरकार सुरक्षा उपायों को मजबूत करने और जीवन व संपत्तियों की सुरक्षा के लिए पहल करती रहती है।

गोला-बारूद का एक बड़ा जखीरा बरामद
संबंधित घटनाक्रम में इंफाल पूर्वी जिले के सबुंगखोक इलाकों में हथियारों और गोला-बारूद की मौजूदगी के बारे में विशेष खुफिया जानकारी पर कार्रवाई करते हुए भारतीय सेना, असम राइफल्स और मणिपुर पुलिस की एक संयुक्त टीम ने एक तलाशी अभियान शुरू किया। तीन इम्प्रोवाइज्ड लॉन्ग-रेंज मोर्टार (पोम्पी), इम्प्रोवाइज्ड लॉन्ग-रेंज मोर्टार के दो खाली डिब्बे, एक 9 मिमी पिस्तौल, जिसमें गोलियों से भरी मैगजीन, लैथोड ग्रेनेड लॉन्चर के तीन जीवित ग्रेनेड, एक 2-इंच मोर्टार राउंड, एक 12 बोर सिंगल जिले के सबुंगखोक खुनाओ-चानुंग रिज से बैरल बंदूक और अन्य गोला-बारूद का एक बड़ा जखीरा बरामद किया गया।

About bheldn

Check Also

विजयन के टारगेट करने पर कांग्रेस ने साफ किया CAA पर स्टैंड, चिदंबरम ने बताया सरकार बनने पर क्या करेंगे

तिरुवनंतपुरम कांग्रेस की अगुवाई वाली I.N.D.I.A अलायंस अगर सत्ता में आया तो पार्टी सीएए को …