संजय सिंह की जमानत से सीएम केजरीवाल को क्यों नहीं मिलेगी राहत? जानिए इनसाइड स्टोरी

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी के लिए मंगलवार का दिन बेहद अहम रहा, जब दिग्गज नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह को जमानत मिल गई। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली एक्साइज पॉलिसी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में संजय सिंह को जमानत दे दी। प्रवर्तन निदेशालय ने भी इस पर कोई आपत्ति नहीं जताई। संजय सिंह को जैसे ही सर्वोच्च अदालत से जमानत मिली तो आप नेताओं में खुशी की लहर दौड़ गई। ऐसा इसलिए क्योंकि बीते 21 मार्च को पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया था। एक दिन पहले ही वो न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल पहुंचे। इससे पहले पार्टी के दिग्गज नेता मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन भी इसी केस में जेल की सजा काट रहे। ऐसे में पार्टी नेतृत्व परेशानी में था। अब संजय सिंह के तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद पार्टी में नया जोश आता दिख रहा। हालांकि, संजय सिंह की जमानत से सीएम केजरीवाल को राहत मिलने के आसार नहीं है।

केजरीवाल को राहत के आसार नहीं!
सुप्रीम कोर्ट से संजय सिंह को मिली जमानत रियायत की ‘नजीर’ नहीं माना जाएगा। ऐसे में यह बेल ऑर्डर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सहित जेल में बंद दूसरे आम आदमी पार्टी नेताओं के लिए ज्यादा मददगार नहीं हो सकता। जस्टिस संजीव खन्ना, जस्टिस दीपांकर दत्ता और जस्टिस पीबी वराले की पीठ ने स्पष्ट किया कि संजय सिंह जमानत की अवधि के दौरान राजनीतिक गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं। हालांकि, उन्हें स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि वो दिल्ली एक्साइज पॉलिसी केस को लेकर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। संजय सिंह को रद्द की गई दिल्ली एक्साइज पॉलिसी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बीते साल 4 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था।

शर्तों के साथ मिली संजय सिंह को जमानत
पीठ ने कहा कि संजय सिंह पूरे मुकदमे के दौरान जमानत पर बाहर रहेंगे। जमानत के नियम और शर्तें विशेष अदालत की ओर से तय की जाएंगी। कोर्ट ने ये भी कहा कि आप नेता अपनी राजनीतिक गतिविधियों को आगे बढ़ा सकते हैं, लेकिन मामले से संबंधित कोई बयान नहीं दे सकते। कोर्ट ने जिस तरह से संजय सिंह को जमानत दी इसे लेकर चर्चा शुरू हो गई कि क्या केजरीवाल को भी राहत मिल सकती है। जानकारों के मुताबिक, इसकी संभावना कम है। उधर, संजय सिंह को मंगलवार सुबह अस्पताल लाया गया, जहां उनकी मेडिकल जांच हुई। बुधवार को उन्हें जेल से छुट्टी मिलने की संभावना है। उनकी रिहाई ऐसे समय में हुई है जब आम आदमी पार्टी लोकसभा चुनावों से पहले नेतृत्व शून्य स्थिति से जूझ रही थी। 19 अप्रैल से लोकसभा चुनाव का आगाज होगा, जब पहले फेज की वोटिंग होगी।

संजय सिंह की रिहाई से जोश में AAP नेता
दिल्ली एक्साइज पॉलिसी केस में अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया तिहाड़ जेल में बंद हैं। बीआरएस नेता के कविता भी इसी सिलसिले में जेल की सजा काट रही हैं। संजय सिंह के बेल मिलने पर दिल्ली के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र के लिए एक बड़ा दिन है और खुशी और उम्मीद का क्षण है। संजय सिंह की पत्नी अनीता ने कहा कि जब तक मेरे तीनों भाई, अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन जेल से बाहर नहीं आ जाते, यह खुशी अधूरी है। उन्होंने पति संजय सिंह की रिहाई पर कहा कि ये सच्चाई की जीत है। मुझे न्यायिक प्रक्रिया पर पूरा भरोसा था।

संजय सिंह की रिहाई पर क्या बोलीं उनकी मां?
सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद संजय सिंह के आवास पर जश्न मनाया गया। उनके परिवार के सदस्यों और समर्थकों ने लोगों के बीच मिठाइयां बांटीं। ⁠⁠AAP MP संजय सिंह की मां ने कहा कि मेरा बेटा निर्दोष है। इसी दिन का तो इंतजार था। दिल से खुश हैं। हमको पूरा विश्वास था मेरा बेटा निर्दोष है, ईमानदार है। उसे ले ही नहीं जाना था। आज ये खुशी के आंसू हैं। जितना दुख तब हुआ था जब उसे ले गए थे, उतनी ही खुशी आज हो रही है। वो सच्चा और ईमानदार है। मुश्किलें अब कम होंगी।

About bheldn

Check Also

जिंदा है दाऊद इब्राहिम का सबसे बड़ा दुश्मन! 9 साल बाद सामने आई छोटा राजन की नई तस्वीर

नई दिल्ली, दाऊद इब्राहिम का जानी दुश्मन और दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड …