‘ना केजरीवाल ने मांगी इंसुलिन, ना AIIMS के डॉक्टर ने दी सलाह…’, AAP के आरोपों पर तिहाड़ जेल प्रशासन का जवाब

नई दिल्ली,

तिहाड़ जेल के सूत्रों ने रविवार को बताया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कल एम्स के एक सीनियर डायबिटोलॉजिस्ट से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कंसल्टेशन दिलायी गई. जेल सूत्रों के मुताबिक 40 मिनट के कंसल्टेशन के बाद डॉक्टर की ओर से अरविंद केजरीवाल को आश्वस्त किया गया कि कोई गंभीर चिंता की बात नहीं है और उन्हें निर्धारित दवाएं जारी रखने की सलाह दी. जेल प्रशासन नियमित आधार पर उनके स्वास्थ्य की निगरानी कर रहा है.

सुनीता केजरीवाल के अनुरोध पर तिहाड़ जेल प्रशासन ने वीसी के जरिए डॉक्टर के साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री का कंसल्टेशन कराया. एम्स के सीनियर डायबिटीज स्पेशलिस्ट के अलावा आरएमओ तिहाड़ और एमओ तिहाड़ भी वीसी के दौरान मौजूद रहे. डॉक्टर ने सीजीएम (ग्लूकोज मॉनिटरिंग सेंसर) का पूरा रिकॉर्ड और केजरीवाल द्वारा लिए जा रहे आहार और दवाओं का पूरा विवरण लिया. इस दौरान अरविंद केजरीवाल द्वारा न तो इंसुलिन का मुद्दा उठाया गया और न ही डॉक्टर ने उन्हें इसके प्रयोग का सुझाव दिया.

शुगर लेवल 300 है फिर केजरीवाल इंसुलिन क्यों नहीं दी जा रही: AAP
तिहाड़ सूत्रों के बयान पर आम आदमी पार्टी की भी प्रतिक्रिया सामने आई है. AAP सूत्रों ने कहा एक बयान में कहा, ‘तिहाड़ जेल प्रशासन ने माना है कि 20 दिन तक मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को डायबिटीज के स्पेशलिस्ट डॉक्टर को नहीं दिखाया. जानबूझकर उनकी जान खतरे में डाली जा रही है. उनका शुगर लेवल 300 है, फिर उन्हें इंसुलिन क्यों नहीं दी जा रही?’ इससे पहले आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कल एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके केंद्र सरकार पर जेल में बंद अरविंद केजरीवाल की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया.

संजय सिंह ने कहा, ‘तिहाड़ जेल में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इंसुलिन नहीं दी जा रही है. यदि डायबिटीज के पेशेंट को समय पर इंसुलिन न दी जाए तो उस व्यक्ति के लिए यह जीवन या मृत्यु का प्रश्न बन जाता है. उन्हें (अरविंद केजरीवाल) मारने की साजिश रची जा रही है. दिल्ली की जनता इस अपराध का जवाब देगी.’ AAP नेताओं की ओर से लगाए जा रहे आरोपों के बीच तिहाड़ जेल प्रशासन ने शनिवार को सीएम केजरीवाल की स्वास्थ्य स्थिति के बारे में दिल्ली के उपराज्यपाल को एक रिपोर्ट सौंपी, जो इस साल 1 अप्रैल से तिहाड़ जेल में बंद हैं.

अरविंद केजरीवाल इंसुलिन रिवर्सल प्रोग्राम पर थे: तिहाड़ जेल प्रशासन
उस रिपोर्ट के मुताबिक, ‘तेलंगाना के एक डॉक्टर की सलाह पर सीएम अरविंद केजरीवाल इंसुलिन रिवर्सल प्रोग्राम पर थे. डॉक्टर ने उनकी गिरफ्तारी से काफी पहले इंसुलिन की खुराक बंद कर दी थी. गिरफ्तारी के समय, वह केवल एक एंटी-डायबिटिक टैबलेट मेटफॉर्मिन का सेवन कर रहे थे. विशेषज्ञ डॉक्टरों ने केजरीवाल की जांच करने के बाद यह भी कहा कि न्यायिक हिरासत में रखे जाने के बाद से यूटीपी (केजरीवाल) के सभी मापदंडों और महत्वपूर्ण पहलुओं पर विचार करते हुए, उनके शुगर लेवल चिंताजनक नहीं है, और उन्हें इंसुलिन लेने की जरूरत नहीं है.’

हाई कोलेस्ट्रॉल वाली चीजें खा रहे हैं केजरीवाल: तिहाड़ जेल प्रशासन
रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि तिहाड़ जेल प्रशासन ने एम्स को लिखा था कि अरविंद केजरीवाल मिठाई, लड्डू, केले, आम, फ्रूट चाट, तला हुआ भोजन, नमकीन, भुजिया, मीठी चाय, पूड़ी-आलू, अचार जैसे हाई कोलेस्ट्रॉल वाले भोजन का सेवन कर रहे हैं और उनके लिए एक हेल्दी डाइट प्लान मांगी थी. बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली शराब घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में जेल में हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने आरोप लगाया है कि आम आदमी पार्टी कथित शराब घोटाले से उत्पन्न ‘अपराध की आय’ की प्रमुख लाभार्थी है और अरविंद केजरीवाल की इसमें प्रमुख भूमिका रही है.

About bheldn

Check Also

हरियाणा के इस शहर में 48 डिग्री के करीब पहुंचा पारा, दिल्ली-NCR में हीटवेव की चेतावनी

नई दिल्ली, आसमान से आग बरस रही है. भीषण गर्मी से हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, यूपी, …