कुर्सी उठाकर दे-दनादन, मंच से भाषण देते रहे नेता और पंडाल में कार्यकर्ताओं ने कर दिया ‘उलगुलान’

रांची

वैसे तो किसी बड़ी क्रांति को ‘उलगुलान’ कहते हैं। माना जाता है कि आदिवासियों के भगवान बिरसा मुंडा ने भी जल, जंगल जमीन के लिए ‘उलगुलान’ किया था। सवा सौ साल बाद इंडिया गठबंधन खासकर झारखंड मुक्ति मोर्चा की ओर से केंद्र की सत्ताधारी दल बीजेपी के खिलाफ ‘उलगुलान न्याय रैली’ का आयोजन किया गया। रांची के प्रभात तारा मैदान में आयोजित रैली में मंच से नेता भाषण दे रहे थे तो वहीं, पंडाल में अलग-अलग पार्टियों के आए नेता-कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। बैठने के लिए लगाई गई कुर्सी और झंडा वाला डंडा इनका हथियार बन गया। कई लोगों के माथा फूटने और चोट लगने की सूचना है। इसे लेकर बिहार की सत्ताधारी और बीजेपी की पार्टनर जेडीयू ने एक वीडियो ट्वीट किया है।

‘उलगुलान न्याय रैली’ में भिड़ गए कार्यकर्ता
रांची में आयोजित रैली को लेकर बिहार की सत्ताधारी जेडीयू ने अपने एक्स मीडिया अकाउंट पर लिखा कि ‘एक-दूसरे पर लट्ठ चलाते, एक-दूसरे का सिर फोड़ते इन तस्वीरों में जो नजर आ रहे हैं, बताया जा रहा है कि वे कांग्रेस और राजद के नेता हैं। तस्वीरें रांची की हैं, जहां इंडी गठबंधन की एक रैली थी। जरा सोचिए, जो एक-दूसरे के साथ शांति से रैली नहीं कर सकते, वो भला देश और राज्य क्या चला पाएंगे?’ इसके साथ में 57 सेकेंड का एक वीडियो भी ट्वीट किया गया है, जिसमें गालियों को बीप किया गया है और मंच से शांत रहने की अपील किए जाने की आवाज आ रही है।

रांची में इंडिया गठबंधन का शक्ति प्रदर्शन
दरअसल, रांची के प्रभात तारा मैदान में आयोजित रैली में मंच पर दो खाली कुर्सियां रखी गई थीं। उनकी तरफ इशारा करते हुए नेताओं ने कहा कि ये हेमंत सोरेन और अरविंद केजरीवाल की कुर्सियां हैं, जिन्हें तानाशाही ताकतों ने साजिश के तहत जेल में डाल दिया है। उन्होंने वोट की चोट से इस साजिश का जवाब देने की अपील की।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि हेमंत सोरेन हिम्मत वाले हैं। वह जेल से डरने वाले नहीं हैं। उनके पीछे हम सब लोग हैं। दो मुख्यमंत्रियों को जेल में डालने से हम खत्म नहीं होने वाले हैं। हमें लाख दबाओ, लेकिन हम मिटने वाले नहीं हैं। हम बीज हैं, हम उगते रहेंगे। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया कि सिर्फ वोट लेने के लिए आदिवासी महिला को राष्ट्रपति बनाया। उन्हें वास्तविक रूप से सम्मान नहीं दिया। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार ने नौकरियों, काला धन की वापसी, किसानों की आमदनी सहित तमाम वादों के नाम पर सिर्फ झूठ बोला। उन्होंने दावा किया कि भाजपा इस बार 150 से ज्यादा सीटें जीत नहीं पाएगी।

जेएमएम ने आयोजित किया था ‘उलगुलान न्याय रैली’
झारखंड मुक्ति मोर्चा की मेजबानी में आयोजित रैली में कल्पना सोरेन ने अपने पति हेमंत सोरेन का जेल से भेजा संदेश पढ़ा। हेमंत सोरेन ने अपने संदेश में कहा, ‘उन्हें बेबुनियाद आरोपों में ढाई महीनों से जेल में बंद करके रखा गया है। आजादी के बाद ये पहली बार है, जब विपक्षी पार्टियों के मुख्यमंत्रियों को चुनाव के ठीक पहले जेल में डाला जा रहा है। लेकिन, हम जेल से डरने वाले नहीं। हमने केंद्र से अपना हक मांगा, तो उसके बदले में हमारे साथ यह सलूक हुआ। आदिवासियों के हितों पर लगातार हमला हो रहा है। देशवासियों को निरंतर ठगने का प्रयास चल रहा है। केंद्रीय एजेंसियों के माध्यम से विपक्ष की आवाज को दबाने की साजिश हो रही है।’

यूपी के पूर्व सीएम समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने कहा कि इस बार जनता तानाशाही ताकतों के लिए वोट करेगी। हेमंत सोरेन और अरविंद केजरीवाल के साथ केंद्र की सरकार ने अन्याय किया है। इस अन्याय का बदला जनता एक-एक वोट से लेगी। उन्होंने चुनाव को लोकतंत्र और संविधान की लड़ाई बताया।

रांची की रैली में तेजस्वी यादव ने भी भरी हुंकार
बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि केंद्र की सरकार बिहार से लेकर झारखंड और दिल्ली तक विपक्ष के नेताओं को जेल में डाल रही है। इन्हें लगता है कि हम जेल से डर जाएंगे, लेकिन वह नहीं जानते कि हम भगवान श्रीकृष्ण को मानने वाले लोग हैं, जिनका जन्म ही जेल में हुआ था। तेजस्वी यादव ने दावा किया कि उन्होंने अकेले दम पर बिहार में भारतीय जनता पार्टी की नाक में दम कर दिया है।

झारखंड के सीएम चंपाई सोरेन ने कहा कि हमारे नेता हेमंत सोरेन ने आदिवासियों, गरीबों, अल्पसंख्यकों के हक के लिए काम किया तो उन्हें साजिश के तहत जेल भेज दिया गया, लेकिन उनके द्वारा शुरू किए गए अच्छे काम रुकेंगे नहीं।

रैली में अरविंद केजरीवाल की पत्नी भी हुईं शामिल
जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर और पंडित जवाहर लाल नेहरू ने जो संविधान बनाया था, आज उस पर खतरा मंडरा रहा है।दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल, पंजाब के सीएम भगवंत मान, सीपीआई एमएल के दीपांकर भट्टाचार्य, आप सांसद संजय सिंह, शिवसेना उद्धव गुट की प्रियंका चतुर्वेदी, ममता बनर्जी के प्रतिनिधि पूर्व सांसद विवेक गुप्ता, झारखंड प्रदेश कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम सहित कई अन्य नेताओं ने भी रैली को संबोधित किया। रैली की अध्यक्षता झारखंड मुक्ति मोर्चा के प्रमुख शिबू सोरेन ने की।

About bheldn

Check Also

CRPF जवान ने लाइसेंसी पिस्टल से खुद को मारी गोली, पोस्टिंग की वजह से था परेशान

मुजफ्फरनगर,’ उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में बुधवार को एक CRPF जवान ने खुद को गोली …