MP: पुलिस की डिक्शनरी से हटेंगे जुर्म, कत्ल जैसे 69 उर्दू और फारसी के शब्द, जानें वजह

भोपाल ,

मध्य प्रदेश पुलिस अब एफआईआर लिखते समय उर्दू और फारसी के शब्दों की जगह हिंदी के शब्दों का इस्तेमाल करेगी. क्राइम इंवेस्टिगेशन के एडीजी पवन श्रीवास्तव ने अधिकारियों और प्रदेश की पुलिस इकाइयों को उर्दू और फारसी के 69 शब्दों की सूची भेजी है और हिंदी के शब्दों का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करने के निर्देश दिए.

दरअसल, जनवरी 2022 में इसकी शुरुआत हुई थी तबके तत्कालीन गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पुलिस की लिखित कार्रवाई से उर्दू और फारसी शब्दों के इस्तेमाल को धीरे-धीरे हटाकर हिंदी शब्दों के इस्तेमाल का समर्थन किया था. अब पुलिस मुख्यालय के अपराध अनुसंधान शाखा के एडीजी पवन श्रीवास्तव ने बकायदा इसके आदेश जारी करते हुए पुलिस इकाइयों को ऐसे 69 शब्दों की सूची भी भेजी है और संबंधित अधिकारियों से कहा है कि गैर हिंदी शब्दों की जगह हिंदी शब्दों के इस्तेमाल करने को कहा. एक महीने में इस संबंध में हुई प्रगति से राज्य शासन को अवगत कराएं.

बता दें, पुलिस की आम शब्दावली में जुर्म, कत्ल, हस्ब जेल, दस्तयाब, हमराह, आमद, इस्तगासा, तफ्तीश, अदालत, इरादतन, गैर इरादतन, गिरफ्तार, हलफनामा, तामील, मुलजिम, मुजरिम, गवाह, बयान, खैरियत, माकूल सहित कई उर्दू और फारसी के शब्दों का इस्तेमाल हो रहा है जो अब हिंदी शब्दों से बदल दिए जाएंगे.

1) ताजिरात-ए-हिंद की जगह भारतीय दंड संहिता
2) जाप्ता फौजदारी की जगह दंड प्रक्रिया संहिता
3) अदालत की जगह न्यायालय
4) कैदखाना की जगह बंदी गृह
5) हाजिर/गैरहाजिर की जगह उपस्थित/अनुपस्थित
6) तफ्तीश/तहकीकात की जगह अनुसंधान/जांच
7) तहरीर की जगह लिखित/लेखीय विवरण
8) इस्तगासा की जगह दावा, परिवाद
9) इरादतन की जगह साशय
10) कब्जा की जगह आधिपत्य
11) कत्ल/कातिल/कतिलाना की जगह हत्या,वध/हत्यारा/प्राणघातक
12) गुजारिश की जगह प्रार्थना, निवेदन
13) गिरफ्तार/हिरासत की जगह अभिरक्षा
14) नकबजनी की जगह गृहभेदन, सेंधमारी
15) चश्मदीद/ गवाह की जगह प्रत्यक्षदर्शी, साक्षी
16) बयान की जगह कथन
17) फरियादी की जगह आवेदक, शिकायतकर्ता
18) हलफनामा की जगह शपथ पत्र
19) फैसला की जगह निर्णय
20) फौत की जगह मृत्यु
21) सजा/बरी की जगह दोषसिद्ध/दोषमुक्त
22) मुकीम की जगह रुकना, ठहरना
23) माकूल की जगह उचित
24) मुल्जिम/मुजरिम की जगह आरोपी/अपराधी
25) अदम चैक की जगह असंज्ञेय, पुलिस हस्तक्षेप अयोग्य अपराध की सूचना
26) जुर्म, (जरायम) दफा की जगह अपराध, धारा
27) आमद/रवाना की जगह रवानगी आगमन, प्रस्थान
28) इजाफा की जगह वृद्धि, बढ़ाना
29) कायमी की जगह पंजीयन
30) कैफीयत/मजनून/तफसील की जगह विवरण, विस्तृत विवरण
31) इत्तिला/इत्तिलान की जगह सूचना/सूचनार्थ इमरोजा : आज दिनांक
32) इमदाद की जगह मदद सहायता
33) तामील/अदम तामील की जगह सूचना/सूचित न होना
34) म्याद की जगह समय सीमा, अवधि
35) खारिज/खारिजी की जगह रद्द निरस्त/निरस्तीकरण
36) खून आलूदा की जगह रक्त रंजित, रक्त से सना हुआ
37) खैरियत की जगह कुशलता
38) गवाह/गवाहन की जगह साक्षी/साक्षीगण
40) जमानत/मुचलका की जगह प्रतिभूति/बंध पत्र
41) जप्त की जगह अभिग्रहण, अधिग्रहण
42) जरिए की जगह माध्यम
43) तहत की जगह अंतर्गत
44) जख्म/जख्मी/मजरूब की जगह चोट, घाव/घायल, आहत
45) ताकीद/हिदायत की जगह चेतावनी, समझाइश
46) तफतीश कुनिंदा की जगह विवेचक, अनुसंधानकर्ता, अन्वेषक
47) तब्दील की जगह परिवर्तित, परिवर्तन
48) थाना हाजा की जगह आरक्षी केंद्र पर उपस्थित
49) दस्तावेज की जगह प्रपत्र अभिलेख
50) दस्तयाब की जगह खोज लेना, बरामद
51) दीगर की जगह अन्य दूसरा
52) मौका-ए-वारदात की जगह घटनास्थल
53) नजीर की जगह दृष्टांत
54) परवाना की जगह परिपत्र, अधिपत्र
55) मशरुका की जगह संपत्ति मुतफर्रिक की जगह विविध
56) मर्ग की जगह अकाल मृत्यु
57) मंजूरशुदा की जगह स्वीकृत
58) शिनाख्त की जगह पहचान सहवन की जगह भूलवश, त्रुटिवश
60) सबूत की जगह साक्ष्य, प्रमाण
61) सकुनत/साकिन की जगह पता/निवास
62) संगीन की जगह गंभीर
63) हिकमत अमली की जगह विवेकानुसार
64) हमराह की जगह साथ में
65) हस्ब जेल की जगह उपरोक्तानुसार, के अनुसार
66) आला जरब/आला जरर/आला ए कत्ल की जगह घटना, अपराध या हत्या में प्रयुक्त हथियार
67) गोशवारा की जगह नक्शा
68) दस्तंदाजी/अदम दस्तंदाजी की जगह संज्ञेय/असंज्ञेय

About bheldn

Check Also

गले पर पैर रखकर बहन की ले ली जान, सीमेंट के खंभे से बांधकर कुएं में फेंका शव

खरगोन , मध्य प्रदेश के खरगोन में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. …