‘सेना को नहीं चाहिए अग्निवीर, सत्ता में आया इंडिया ब्लॉक तो कूड़े में फेंक देंगे स्कीम’, हरियाणा में बोले राहुल गांधी

चंडीगढ़,

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि अगर इंडिया ब्लॉक सत्ता में आया तो अग्निवीर स्कीम को खत्म कर दिया जाएगा और कूड़ेदान में फेंक दिया जाएगा. उन्होंने ‘हिंदुस्तान के जवानों को मजदूरों में बदलने’ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की. लोकसभा चुनाव के लिए हरियाणा में अपनी पहली चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने किसानों के मुद्दे पर भी पीएम मोदी पर निशाना साधा.

अग्निवीर योजना को लेकर बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, ‘यह मोदी की स्कीम है न कि सेना की. सेना ऐसा नहीं चाहती.’ उन्होंने महेंद्रगढ़-भिवानी लोकसभा क्षेत्र में आयोजित रैली में कहा, ‘जब इंडिया ब्लॉक सरकार बनाएगा तब हम अग्निवीर स्कीम को कूड़ेदान में फेंक देंगे.’

‘युवाओं के डीएनए में देशभक्ति है’
राहुल गांधी ने कहा, ‘भारत की सीमाएं देश के युवाओं की वजह से सुरक्षित हैं. हमारे युवाओं के डीएनए में देशभक्ति है.’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘मोदी ने हिंदुस्तान के जवानों को मजदूर बना दिया है.’

राहुल ने बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, ‘वे कहते हैं कि शहीद दो तरह के होंगे- एक, सामान्य जवान और अधिकारी जिन्हें पेंशन, शहीद का दर्जा और सारी सुविधाएं मिलेंगी और दूसरा, गरीब परिवार का एक व्यक्ति जिसे अग्निवीर का नाम दिया गया है. अग्निवीरों को न शहीद का दर्जा मिलेगा, न पेंशन, न कैंटीन की सुविधा.’

2022 में आई थी अग्निपथ भर्ती योजना
केंद्र सरकार ने 2022 में सेना के तीनों अंगों में आयु सीमा को कम करने के उद्देश्य से सशस्त्र बलों में सैनिकों को अल्पकालिक शामिल करने के लिए ‘अग्निपथ भर्ती योजना’ शुरू की थी. इस योजना के तहत साढ़े 17 साल से 21 साल की आयु वर्ग के युवाओं को चार साल की अवधि के लिए सेना में भर्ती किया जाता है, जिसमें से 25 प्रतिशत की सेवाओं को 15 साल तक जारी रखने का प्रावधान है.

अरबपतियों का कर्ज माफ करने का आरोप
किसानों के मुद्दे को लेकर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने बीजेपी सरकार पर 22 अरबपतियों का 16 लाख करोड़ रुपए का कर्ज माफ करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, ‘4 जून को जब हम सत्ता में आएंगे तो किसानों का कर्ज माफ करेंगे.’ राहुल गांधी ने कहा, ‘जहां तक कृषि ऋण माफी का सवाल है, हम ‘कर्ज माफी’ आयोग लाएंगे.’

About bheldn

Check Also

152 दिन, 143 सुइसाइड, यवतमाल को पीछे छोड़ महाराष्ट्र में किसान आत्महत्या की राजधानी बना अमरावती

नागपुर किसानों की आत्महत्या मामले में महाराष्ट्र टॉप पर रहता है। पिछले कुछ वर्षों में …