Modi 3.0 पर मुहर से शेयर बाजार बमबम, 4 जून के नुकसान की 3 दिन में हो गई भरपाई!

नई दिल्ली,

शेयर बाजार ने बीते मंगलवार को लोकसभा चुनाव के नतीजों वाले दिन बड़ी गिरावट देखी थी और सेंसेक्स 6000 अंक तक टूट गया था. इस बीच बीएसई का मार्केट कैपिटलाइजेशन 30 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा कम हो गया था. लेकिन, महज तीन दिन में शेयर मार्केट ने इसकी भरपाई कर ली है. सेंसेक्स और निफ्टी ने चालू हफ्ते को साल 2024 का वेस्ट वीक बताते हुए कहा है कि शुक्रवार तक मार्केट ने मंगलवार को हुए नुकसान की पूरी भरपाई कर ली है.

Sensex ने तोड़े दिए सारे रिकॉर्ड
शुक्रवार को शेयर बाजार ने भले ही मामूली शुरुआत की हो, लेकिन जैसे-जैसे राजनीतिक गलियारों में गहमा-गहमी बढ़ी, Sensex-Nifty में तेजी भी बढ़ती चली गई. फिर जैसे ही NDA की बैठक में प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी के नाम के प्रस्ताव पर सभी ने समर्थन दिया और Modi 3.0 पर मुहर लगी, शेयर बाजार ने भी लंबी छलांग लगा दी. बीएसई के सेंसेक्स ने तो अपने पुराने सभी रिकॉर्ड तोड़ डाले और नए ऑल टाइम हाई लेवल पर जा पहुंचा. कारोबार के दौरान Sensex 1650 अंक चढ़कर 76,795 के लेवल को छू गया. वहीं निफ्टी भी 468 अंक की तूफानी तेजी के साथ बंद हुआ. बता दें कि 3 जून को सेंसेक्स ने 76738 का हाई बनाया था.

करीब 424 लाख करोड़ हुआ BSE MCap
Stock Market में बीते तीन कारोबारी दिनों से लगातार तेजी जारी है. बुधवार और गुरुवार के बाद शुक्रवार को भी शेयर बाजार में निवेश करने वाले निवेशकों की बल्ले-बल्ले रही. इस बीच आई तेजी में उनकी दौलत 7.5 लाख करोड़ रुपये बढ़ गई. वहीं इससे पिछले कारोबारी दिन बीएसई के मार्केट कैप में करीब 9 लाख करोड़ रुपये का उछाल देखने को मिला था. इसके पहले बीते बुधवार को स्टॉक मार्केट में आई उछाल के चलते सेंसेक्स 2300 अंक चढ़कर बंद हुआ था और निवेशकों की संपत्ति में 13 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का उछाल आया था. इस हिसाब से देखें तो तीन दिनों में करीब 30 लाख करोड़ रुपये की कमाई हुई है.

शुक्रवार को शेयर बाजार में कारोबार खत्म होने पर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में शामिल सभी कंपनियों का कुल मार्केट कैप (BSE Market Cap) उछलकर 4,23,49,448 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया, जो बीते 4 जून 2024 को लगभग 394 लाख करोड़ रुपये के आस-पास तक गिर गया था.

चुनावी रिजल्ट वाले दिन आई थी सुनामी
गौरतलब है 4 जून को चुनाव नतीजे आते ही शेयर मार्केट भरभराकर टूटा था. बीते मंगलवार को सुबह 9.15 बजे पर सेंसेक्स 1700 अंक गिरकर, जबकि निफ्टी 600 अंकों का गोता लगाकर ओपन हुआ था. इसके बाद जैसे-जैसे चुनावी नतीजे आने तेज हुए, Stock Market की गिरावट भी तेज होती गई. दोपहर 12 बजे तक तो सेंसेक्स 6000 अंक से ज्यादा बिखर गया था, जबकि निफ्टी में गिरावट बढ़कर 1900 अंक तक पहुंच गई थी.

हालांकि, मार्केट में कारोबार खत्म होते-होते इसमें कुछ रिकवरी देखने को मिली और अंत में Sensex 4389.73 अंक या 5.74 फीसदी गिरकर 72,079.05 पर बंद हुआ और निफ्टी में 1379.40 या 5.93 फीसदी टूटकर 21,884.50 के लेवल पर क्लोज हुआ था. इस गिरावट की वजह से निवेशकों को करीब 30 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था.

About bheldn

Check Also

विराट कोहली फिर बने बाजार के सरताज! शाहरुख खान की लंबी छलांग, रणवीर सिंह दूसरे नंबर पर खिसके

नई दिल्ली: ब्रांड एंडोर्समेंट के मामले में भले ही क्रिकेटर आगे रहते हों, लेकिन साल …