चीनी युद्धपोत ने फिलीपींस के नौसैनिक जहाज को मारी टक्कर, दक्षिण चीन सागर में चरम पर तनाव

बीजिंग/मनीला:

चीन और फिलीपींस के बीच दक्षिण चीन सागर के द्वीपों को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है। सोमवार को एक चीनी युद्धपोत ने सेकेंड थॉमस शोल के पास फिलीपींस की एक नौका को टक्कर मार दी। इसके बाद से दोनों देशों के बीच विवाद अब हिंसक रूप लेता दिखाई दे रहा है। यह टक्कर चीन के विदेशी जहाजों के खिलाफ कार्रवाई करने और चीनी जल क्षेत्र में “नियमों का उल्लंघन करने के संदेह में” विदेशियों को हिरासत में लेने के लिए नए नियम जारी करने के बाद हुई है। चीन दक्षिण चीन सागर (एससीएस) के अधिकांश हिस्से पर अपना दावा करता है, हालांकि फिलीपीन, मलेशिया, वियतनाम, ब्रुनेई और ताइवान भी उस पर हक जताते हैं जिसे लेकर क्षेत्र में गहरा विवाद है।

चीन ने फिलीपींस पर लगाया आरोप
चीन के तटरक्षक बल ने बताया कि फिलीपीन के एक पोत और एक चीनी जहाज के बीच टक्कर हो गई, जब फिलीपीन का जहाज ‘सेकेंड थॉमस शोल’ के पास के पानी में “अवैध रूप से घुस गया” और “खतरनाक तरीके से” चीनी जहाज के पास पहुंच गया। पिछले कुछ महीनों में दोनों देशों की नौसेनाओं और तटरक्षकों के बीच टकराव की स्थिति बनी हुई है, क्योंकि फिलीपीन ने दक्षिण चीन सागर में सेकेंड थॉमस शोल पर अपना दावा जताने के लिए जोरदार प्रयास किया है, जिस पर चीन का दावा है।

सेकेंड थॉमस शोल को अपना बताता है चीन
चीन का आरोप है कि फिलीपीन ने 1999 में सेकेंड थॉमस शोल, जिसे वह रेनाई जियाओ कहता है, में जानबूझकर एक नौसैनिक जहाज को किनारे पर खड़ा कर दिया था, तथा क्षतिग्रस्त जहाज को नौसैनिक कर्मियों द्वारा संचालित एक स्थायी प्रतिष्ठान में परिवर्तित कर दिया था। तटरक्षक बल के अनुसार, सोमवार की सुबह चीनी जहाज ने फिलीपीन के जहाज को निर्माण सामग्री पहुंचाने से रोकने के लिए उससे टक्कर मार दी।

चीन बोला- फिलीपीनी जहाज ने की घुसपैठ
तटरक्षक बल के बयान में कहा गया कि उसके जहाज ने सोमवार की सुबह रेनाई जियाओ के निकट जलक्षेत्र में फिलीपीन के एक जहाज द्वारा अवैध घुसपैठ के जवाब में नियामक उपाय किए हैं। इसमें कहा गया है कि एक फिलीपीन आपूर्ति जहाज, चीनी पक्ष की ओर से बार-बार दी गई कड़ी चेतावनियों की अनदेखी करते हुए, जानबूझकर और खतरनाक तरीके से रेनाई जियाओ के निकटवर्ती जलक्षेत्र में सामान्य रूप से नौकायन कर रहे चीनी जहाजों के पास पहुंच गया। बयान में कहा गया है कि इस घटना ने समुद्र में टकराव की रोकथाम के लिए अंतरराष्ट्रीय विनियमों का उल्लंघन किया। इस घटना के कारण मामूली टक्कर हुई, जिसके लिए पूरी तरह से जिम्मेदारी फिलीपीन पक्ष की है। बयान में हालांकि किसी भी पक्ष को किसी प्रकार की क्षति या चोट का उल्लेख नहीं किया गया।

चीन ने हमलावर युद्धपोत तैनात किए
इसके अलावा, सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स की खबर के अनुसार, चीनी नौसेना ने पहली बार दक्षिण चीन सागर के नानशा द्वीप (या स्प्रैटली द्वीप) में जल-थल पर हमला करने में सक्षम जहाज तैनात किया है। विशेषज्ञों ने रविवार को कहा कि यह कदम फिलीपीन द्वारा बार-बार उकसावे के बीच किसी भी आपातकालीन प्रतिक्रिया की तैयारी के लिए उठाया गया है।

About bheldn

Check Also

कमला हैरिस होंगी राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार? जो बाइडेन ने भी किया समर्थन

नई दिल्ली, अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में जो बाइडेन ने अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली …