छिंदवाड़ा लोकसभा चुनाव में महिला ने किया बीजेपी का प्रचार तो पति ने दिया तीन तलाक, केस दर्ज

छिंदवाड़ा:

एमपी के छिंदवाड़ा में तीन तलाक का एक अनूठा मामला सामने आया है। महिला के पति ने उसे सिर्फ इसलिए तलाक दे दिया है कि लोकसभा चुनाव में उसने बीजेपी की सदस्यता लेकर प्रचार किया था। साथ ही बीजेपी को ही वोट भी किया गया है। यह पूरा मामला छिंदवाड़ा जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र का है। पति ने गुस्से में महिला को तीन तलाक बोल दिया। इसके बाद पुलिस में शिकायत की है।

ये है पूरा मामला
कोतवाली टीआई उमेश गोल्हानी के मुताबिक रॉयल चौक की महिला ने अपनी शिकायत में बताया कि उसकी शादी अब्दुल आशिफ मंसूरी से हुई थी। महिला की शादी के बाद से शुरू में तो पति ने उसे अच्छे से रखा लेकिन बाद में उसे दहेज के लिए भी प्रताड़ित किए जाने लगा। दहेज के साथ-साथ लगातार उसका पति उसे मायके भेजने की धमकी देकर मारपीट कर रहा था। वहीं, महिला ने बताया कि उसका पति अपने मायके से पांच लाख रुपए लाने का दबाव बना रहा था।

पुलिस ने केस दर्ज किया
महिला ने बताया कि उसके पति अब्दुल आशिफ मंसूरी ने उसके साथ मारपीट कर तीन तलाक बोलकर रिश्ता तोड़ दिया है। पुलिस ने आरोपी अब्दुल आशिफ मंसूरी और उसके परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ धारा 498 ए, 294, 34, दहेज अधिनियम की धारा 3/4 और मुस्लिम महिला (विवाह पर अधिकार का संरक्षण) अधिनियम की धारा 2019 की धारा 4 के तहत मामला दर्ज किया है।

बीजेपी ज्वाइन करने से हुआ नाराज
कोतवाली टीआई ने बताया कि महिला ने पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा की सदस्यता ली थी। यह बाद उसके पति को नागवार गुजरी। साथ ही पति, सास और ननद ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। बीजेपी में शामिल होने की बात कहर पति ने उसे तीन तलाक दे दिया।

About bheldn

Check Also

प्रदर्शनकारियों पर वाटर कैनन और आंसू गैस के गोले छोड़े, एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष घायल,

— नर्सिंग घोटाले, नीट पेपर लीक सहित अन्य परीक्षाओं में धांधली के विरोध में एनएसयूआई …