ये क्या! राहुल गांधी के राइट हैंड से गले मिलने लगे BJP के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह

नई दिल्ली/बेगूसराय

18वीं लोकसभा का पहला सत्र शुरू हो गया है। सत्र के पहले दिन लोकतंत्र की खूबसूरती के कई रंग दिखे। कुछ रंग संदन के अंदर तो कुछ सदन के बाहर भी दिखे। संसद भवन के बाहर सीढ़ियों पर बीजेपी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल से गले मिलते दिखे। सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों खेमे के कद्दावर नेताओं का यूं गले मिलना लोकतंत्र के मंदिर में बेहद सुखद अहसास कराता दिखा।

क्या हुआ संसद भवन की सीढ़ियों पर
दरअसल, सोमवार को 18वीं लोकसभा का पहले सत्र में दोपहर बाद कार्यवाही स्थगित होने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद केसी वेणुगोपाल और के सुरेश सीढ़ियों पर खड़े होकर कुछ बातें कर रहे थे। तभी पीछे से केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय से बीजेपी के फायरब्रांड सांसद आते हैं। गिरिराज सिंह पीछे से ही केसी वेणुगापाल के कंधे पर थपकी देते हैं। तभी केसी वेणुगोपाल उन्हें देखते हैं और उनके चेहरे पर मुस्कान आ जाती है।

गिरिराज सिंह और केसी वेणुगोपाल गले मिलते हैं। इस दौरान गिरिराज के सुरेश से भी हाथ मिलाते हैं। मुस्कुराहट के साथ तीनों नेताओं के बीच कुछ बातचीत होती है, जिसके बाद गिरिराज सिंह हाथ जोड़कर अभिवादन करते हुए वहां से चले जाते हैं।

यहां बता दें कि केसी वेणुगोपाल कांग्रेस वर्किंग केमेटी के वरिष्ठ मेंबर हैं। साथ ही राहुल गांधी के वह राजनीतिक सलाहकार माने जाते हैं। माना जाता है कि मौजूदा वक्त में कांग्रेस पार्टी में जीतने भी बड़े फैसले लिए जाते हैं, उसमें केसी वेणुगोपाल का अहम रोल होता है। इतना ही नहीं, पार्टी स्तर पर जब कभी कोई फैसला होता है तो पार्टी का पक्ष रखने के लिए केसी वेणुगोपाल ही मीडिया से मुखातिब होते हैं।

वहीं गिरिराज सिंह बीजेपी के फायरब्रांड नेता माने जाते हैं। गिरिराज सिंह मुखर होकर कांग्रेस को लताड़ लगाते देखे जाते हैं। राजनीतिक गलियारों में गिरिराज सिंह की छवि एक ऐसे नेता के रूप में है जो जिन्हें कांग्रेस फूटी आंख नहीं सुहाती है। ऐसे में गिरिराज सिंह का केसी वेणुगोपाल से संसद भवन में इतने भाव से मिलना वाकई किसी संयोग से कम नहीं है। साथ ही देश की जनता के लिए गर्व करने का भी मौका है कि भारत के लोकतंत्र की तस्वीर कितनी खूबसूरत है।

इससे पहले सदन के अंदर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बतौर सांसद शपथ लेने के बाद विपक्षी नेताओं की तरफ हाथ जोड़कर उन्हें नमस्कार किया। इसके जवाब में राहुल गांधी और अखिलेश यादव ने भी हाथ जोड़कर उनके नमस्कार का जवाब दिया।

About bheldn

Check Also

ट्रंप की सुरक्षा क्या वेश्याओं संग होटल में सोने वाले सीक्रेट सर्विस एजेंटों के भरोसे थी, 27 हजार करोड़ खर्च फिर भी चूक

वॉशिंगटन: 14 अप्रैल, 2012 की बात है, जब अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा थे। उस …