संसद भवन में सबके सामने अखिलेश को ये किसने दे दी झप्‍पी? मुस्‍कुराती रहीं डिंपल यादव

लखनऊ

लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद देश भर के सांसद शपथ लेने के लिए सोमवार को संसद पहुंचे। उत्‍तर प्रदेश के सभी सांसदों का शपथ ग्रहण 25 जून को होगा। शानदार जीत हासिल करने अखिलेश यादव अपने सभी सांसदों के साथ हाथ में संविधान की प्रति लेकर आए। सदन में प्रवेश करने से पहले ये लोग मीडिया से मुखातिब हुए। अखिलेश के बगल में पत्‍नी डिंपल यादव, अयोध्‍या सांसद अवधेश प्रसाद और चाचा रामगोपाल यादव खड़े थे। इसी दौरान सामने से सफेद शर्ट और लुंगी पहनकर एक नेता आए जिन्‍हें देखकर अखिलेश यादव उत्‍साहित दिखे। किसी बात पर दोनों खिलखिलाकर हंसे भी। ये कोई और नहीं, कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल थे। उन्‍होंने आते ही अखिलेश यादव को झप्‍पी दी। इस दौरान रामगोपाल ने वेणुगोपाल की पीठ पर जोर से थपकी दी। फिर वेणुगोपाल रामगोपाल की तरफ मुखातिब हुए और उनसे गले मिले। वेणुगोपाल के कंधे पर हाथ रखकर रामगोपाल ने कुछ गुफ्तगू भी की।

यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे केसी वेणुगोपालन केरल की अलप्‍पुझा सीट से कांग्रेस सांसद हैं। राहुल गांधी के बेहद खास माने जाने वाले वेणुगोपालन पिछले पांच सालों के भीतर कांग्रेस के ताकतवर नेता बनकर उभरे हैं। राजनीतिक जानकार बताते हैं कि इंदिरा गांधी के समय में जैसे आरके धवन, राजीव गांधी के समय में अरुण नेहरू और सोनिया गांधी के समय में जैसे अहमद पटेल खास हुआ करते थे, वैसे ही वेणुगोपाल राहुल गांधी के करीब हैं। दक्षिण भारत के छोटे से राज्‍य केरल से दिल्‍ली पहुंचकर वेणुगोपाल ने राहुल गांधी के करीबी लोगों में अपनी जगह बना ली है।

80 में से 37 सीटों पर सपा को मिली विजय
गौरतलब है कि सपा ने यूपी की 80 सीटों में से 37 सीटों पर कब्‍जा जमाया है। ऐसा कर वह देश की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है। पहले नंबर पर बीजेपी और दूसरे पर कांग्रेस है। लोकसभा चुनाव में शानदार जीत हासिल करने के बाद सपा नेताओं का उत्‍साह चरम पर है। पहले दिन सदन में अखिलेश यादव राहुल गांधी के साथ विपक्षी नेताओं की पहली पंक्ति में नजर आए। उनके साथ अयोध्‍या से जीतने वाले सपा सांसद अवधेश प्रसाद भी थे।

About bheldn

Check Also

जीटीबी मर्डर केस: ​’LG के आने के बाद दिल्ली की कानून व्यवस्था बदतर’, ऐक्शन में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री

नई दिल्ली जीटीबी अस्पताल में दिनदहाड़े मरीज की हत्या के बाद दिल्ली का सियासी पारा …