पूजा करके भभूत खिलाई, बेहोश होने पर करने लगा रेप… ‘सीहोर वाले बाबा’ के झांसे में फंस गई युवती

सीहोर

सीहोर जिले में पुलिस ने एक ढोंगी बाबा को गिरफ्तार किया है। बाबा पर एक युवती के साथ दुष्कर्म करने का आरोप है। पीड़िता का आरोप है कि बाबा ने उसके पिता को ठीक करने और घर में चल रही समस्याओं का समाधान करने का झांसा देकर उसे अपने जाल में फंसाया और फिर उसके साथ दुष्कर्म किया।दरअसल, मामला सिहोर जिले के भैरूंदा का है। यहां के एक ढ़ोंगी बाबा ने एक युवती को अपने जाल में फंसाकर उसके साथ दुष्कर्म किया है।

घटना के बाद 24 साल की युवती 27 जून को थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंची। युवती ने बताया कि उसके पिता को एक महीने पहले करंट लगा था। उसके घर में और भी कई सारी समस्याएं चल रही थीं। उसने बताया कि उसके पिता के जानने वाले एक 60 साल के मंगल मेहरा बाबा पिता को देखने के लिए उसके घर पहुंचे। बाबा ने युवती से कहा कि मैं पूजा-पाठ कर दूंगा तो वह ठीक हो जाएंगे। उसने 6 जून को युवती को सोनखेड़ी अपने घर बुलाया। युवती वहां पहुंची तो उसे सामान की लिस्ट बनाकर दे दी।

युवती के भाई को भगाया
7 जुलाई को युवती सुबह पूजा का सामान खरीदकर अपने छोटे भाई के साथ पूजा कराने के लिये बाबा के घर पर गई थी। बाबा ने उनके घर पूजा की। कुछ देर बाद बाबा ने कहा कि यहां तो पूजा खंडित हो गई है, हम गांव के बाहर काकड़ पर चलते हैं। फिर पीड़िता अपने भाई के साथ अतरालिया रोड पर स्थित बड़ी पुलिया के पास काकड़ पर पहुंच गई। जहां मंगल बाबा भी आ गया और फिर काकड़ पर पूजा करने के पहले उसने पीड़िता के भाई से कहा कि तुम रोड पर जाकर खड़े हो जाओ, कोई आए तो आवाज दे देना, वरना पूजा खंडित हो जाएगी। साथ ही उसने पीड़िता के भाई से कहा कि तुम दो घण्टे बाद आ जाना।

पुलिस ने आरोपी रेपिस्ट बाबा को किया गिरफ्तार
बाबा के कहने पर युवती का भाई दूर चला गया। कुछ देर बाद पूजा करने के बाद युवती को बाबा ने भभूत दी और उसे थोड़ा सा पानी पिलाया। भभूत खाने के बाद युवती बेहोश हो गई। युवती के बेहोश होते ही आरोपी मंगल बाबा ने उसके साथ दुष्कर्म शुरू कर दिया। थोड़ी देर बाद ही युवती का भाई वहां पहुंचा तो उसकी हालत देखकर सन्न रह गया। उसने देखा कि बाबा उसके साथ दुष्कर्म कर रहा है। भाई को देखते ही बाबा वहां से भाग गया। युवती के होश आने के बाद दोनों भाई बहन थाने पहुंचे और वहां शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने धारा 64 बीएनएस का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। अपराध पंजीबद्ध होने के तीन घण्टे के भीतर आरोपी बाबा को पकड़ने में सफलता मिली। बाद आरोपी बाबा का मेडिकल परीक्षण कराकर माननीय न्यायालय भैरूंदा पेश किया गया जहां से आरोपी को जेल भेजा गया।

About bheldn

Check Also

‘इस आदेश से ED, CBI के अफसर आधिकारिक रुप से संघ के प्रति निष्ठा साबित करेंगे’, RSS से जुड़े फैसले पर विपक्ष का वार

नई दिल्ली, केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की गतिविधियों में सरकारी कर्मचारियों के …