गौतम गंभीर बने टीम इंडिया के नए हेड कोच, राहुल द्रविड़ की जगह संभालेंगे जिम्मा

नई दिल्ली,

भारतीय टीम के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर को नई जिम्मेदारी मिली है. वो भारतीय टीम के हेड कोच बन गए हैं. उन्होंने राहुल द्रविड़ की जगह ली है. गंभीर को नया हेड कोच बनाए जाने का ऐलान भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के सचिव जय शाह ने किया है.बता दें कि भारतीय टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ का कार्यकाल टी20 वर्ल्ड कप 2024 के बाद खत्म गया है. द्रविड़ ने टी20 वर्ल्ड कप 2021 के बाद हेड कोच का पद संभाला था. हालांकि उनका कार्यकाल वनडे वर्ल्ड कप 2023 तक ही था, मगर BCCI ने बढ़ा दिया था.

गंभीर की मेंटरशिप में KKR टीम IPL चैम्पियन बनी
द्रविड़ का कार्यकाल खत्म होने की खबरों के साथ-साथ पहले ही गौतम गंभीर के हेड कोच बनने की भी खबरें चल रही थीं. अब जय शाह ने इस बात पर मुहर लगा दी है. फिलहाल भारतीय टीम शुभमन गिल की कप्तानी में जिम्बाब्वे दौरे पर है. इसके बाद श्रीलंका दौरे पर जाएगी. जहां गंभीर अपनी कमान संभालेंगे.

गंभीर IPL 2024 से पहले ही कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के मेंटोर बने थे. इसके बाद उन्होंने अपनी मेंटरशिप में KKR टीम को चैम्पियन भी बनाया. गंभीर हेड कोच पद के लिए आवेदन करने वाले अकेले ही उम्मीदवार थे. उन्होंने कोच पद के लिए इंटरव्यू से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी.

2011 वर्ल्ड कप फाइनल में खेली थी मैच विनिंग पारी
42 साल के गौतम गंभीर ने 4 दिसंबर 2018 को इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. गंभीर ने भारत की ओर से अपना आखिरी टेस्ट 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट में खेला था. गंभीर ने 58 टेस्ट मैचों में 41.95 की औसत से 4154 रन बनाए, जिसमें नौ शतक शामिल हैं.

गंभीर ने 147 वनडे में 39.68 की औसत से 5238 रन बनाए. इसमें 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में खेली गई 97 रनों की यादगार पारी भी शामिल है, जिसकी बदौलत भारत ने दूसरी बार वर्ल्ड कप पर कब्जा जमाया था. वनडे में उन्होंने 11 शतकीय पारियां खेलीं. गंभीर ने टी20 इंटरनेशनल मैचों में भी अपनी छाप छोड़ी. उन्होंने 37 मैच में सात अर्धशतकों की मदद से 932 रन बनाए, जिसमें उनकी औसत 27.41 की रही.

About bheldn

Check Also

’10 दिन के अंदर नेम प्लेट टांग लें बागेश्वर धाम के सभी दुकानदार…’, धीरेंद्र शास्त्री का अल्टीमेटम

छतरपुर , मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले स्थित बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेन्द्र कृष्ण …