भारत के हेड कोच गौतम गंभीर का कितना होगा कार्यकाल और कितनी मिलेगी सैलरी, जानें

नई दिल्ली

टी20 विश्व कप में चैंपियन बनने के बाद टीम इंडिया को राहुल द्रविड़ का उत्तराधिकारी मिल गया है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर टीम के नए मुख्य कोच बने हैं। गौतम गंभीर को इस पद के लिए भारत के ही पूर्व क्रिकेटर WV रमन से कड़ी चुनौती मिली, लेकिन आखिर में बीसीसीआई ने गौतम गंभीर के नाम पर मुहर लगाई। गंभीर का एक खिलाड़ी के तौर पर टीम इंडिया के लिए शानदार करियर रहा है। गंभीर 2007 टी20 विश्व कप और 2011 वनडे विश्व कप विजेता टीम के अहम सदस्य रहे हैं। ऐसे में टीम इंडिया के लिए उनकी दूसरी पारी कोच के रूप में होने जा रही है।

गौतम गंभीर पहली बार किसी टीम के लिए कोचिंग करने जा रहे हैं। इससे पहले वह इंडियन प्रीमियर लीग में लखनऊ सुपरजाइंट्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए मेंटोर की भूमिका में दिखे। उनके मार्गदर्शन में केकेआर ने तीसरी बार आईपीएल का खिताब भी अपने नाम किया। ऐसे में टीम इंडिया में कोच के हाईप्रोफाइल पद पर गंभीर कैसे काम करते हैं उसे लेकर हर किसी के मन में जानने की उत्सुकता है। हालांकि, उससे पहले आइए जानते हैं गौतम गंभीर का टीम इंडिया के कोच के रूप में कितना कार्यकाल रहेगा और उनकी सैलरी क्या होगी।

कितने साल के लिए कोच बनें हैं गौतम?
पूर्व कोच राहुल द्रविड़ ने नवंबर 2021 में टीम इंडिया की कोचिंग संभाली थी और टी20 विश्व कप 2024 के बाद उनका कार्यकाल खत्म हो गया। वहीं गौतम गंभीर अगले कोच के रूप में टीम इंडिया के साथ साढ़े तीन साल बिताएंगे। इस दौरान आईसीसी इवेंट, एशिया कप और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप समेत देश और विदेशी दौरे पर टीम की सफलता की जिम्मेदारी उन पर होगी। गौतम गंभीर का कार्यकाल 1 जुलाई 2024 से लेकर 31 दिसंबर 2027 तक रहेगा।

कितनी होगी कोच के रूप में गौतम गंभीर की सैलरी?
भारतीय क्रिकेट टीम को कोचिंग देना एक हाईप्रोफाइल काम है। देश-विदेश के बड़े दिग्गज टीम इंडिया के कोच बनने के लिए लालायित रहे हैं। हालांकि, बीसीसीआई पिछले कुछ सालों से भारतीय पूर्व क्रिकेटरों को ही कोच के रूप में प्राथमिकता दी है। इससे भारतीय टीम को काफी फायदा भी हुआ है। यही कारण है कि बीसीसीआई कोच को एक बड़ी रकम सैलरी के रूप में देती है। पिछले कोच राहुल द्रविड़ को सालाना करीब 12 करोड़ रुपए सैलरी मिलती थी। वहीं गौतम गंभीर को भी इस जिम्मेदारी के लिए लगभग सालाना 12 करोड़ से अधिक की सैलरी मिलने की उम्मीद है। इसके अलावा वह पसंद के सपोर्टिंग स्टाफ की शर्तों के साथ कोच बनने के लिए राजी हुए हैं। सैलरी के अलावा भी बीसीसीआई की तरफ अन्य कई प्रकार की सुविधाएं कोचिंग स्टाफ को मुहैया कराई जाती है।

क्या होती है टीम इंडिया के कोच बनने की शर्तें
भारतीय क्रिकेट टीम के कोच बनने के लिए कई सारे मानदंड निर्धारित किए गए हैं। सभी शर्तों को पूरा करने वाले उम्मीदवार को ही नियुक्त किया जाता है। कोई क्रिकेटर ऐसे ही टीम इंडिया के कोच पद के लिए आवेदन नहीं कर सकता है। इसके लिए कुछ शर्तें लागू होती है।

पहला शर्त यह है कि कोच पद के लिए जो भी आवेदन कर रहा है वह कम से कम 30 टेस्ट या 50 वनडे मैच खेले हों। या फिर किसी फुल मेंबर टेस्ट नेशनल प्लेइंग टीम को कम से कम दो साल के लिए कोचिंग दिया हो।

दूसरी शर्त यह है कि उम्मीदवार किसी एसोसिएट सदस्य या आईपीएल टीम या फिर इसके बराबर की कोई इंटरनेशनल लीग, फर्स्ट क्लास टीम, नेशन ए टीम का कम से कम 3 साल के लिए कोच रहा हो।

तीसरी शर्त यह है कि उम्मीदवार बीसीसीआई लेवल 3 सर्टिफिकेशन के समकक्ष को और उसकी आयु 60 वर्ष से कम हो।

About bheldn

Check Also

कप्तानी की रेस में पिछड़ने के बाद पहली बार बोले पंड्या, कहा-कभी कभी अपने…

नई दिल्ली , श्रीलंका दौरे के ल‍िए भारतीय क्रिकेट टीम का ऐलान 18 जुलाई को …