Saturday , October 24 2020

पाकिस्तानी सांसद ने दिखाया देश को आईना, बताया ये कड़वा सच

पाकिस्तान में महिलाओं के साथ दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं पर एक सांसद ने हिंसा और हैवानियत के दर्दनाक आंकड़े पेश किए हैं. ‘नेशनल असेंबली ऑफ पाकिस्तान’ की नेता शनदाना गुलजार ने एक टेलीविजन डिबेट में दावा किया कि देश में रेप के 82 प्रतिशत से ज्यादा मामलों में पीड़ित के परिवार के सदस्य ही अपराधी पाए जाते हैं.

क्या कहते हैं ‘वॉर ऑन रेप’ के आंकड़े?
शनदाना ने महिलाओं के अधिकारों का संरक्षण करने वाले संगठन ‘वॉर ऑन रेप’ (WAR) द्वारा जुटाए आंकड़ों को दुनिया के सामने रखा. उन्होंने बताया कि पाकिस्तान में रेप की घटनाओं के बाद जब बच्चियों या गायनाकोलॉजिस्ट से पूछा जाता है कि रेप किसने किया तो 82% से ज्यादा मामलों में पीड़ित के पिता, भाई, दादा, नाना और चाचा ही अपराधी पाए जाते हैं.

घरवालों के खिलाफ शिकायत नहीं होती दर्द
टीवी डिबेट के दौरान शनदाना ने कहा, ‘यौन हिंसा के बाद जब पीड़ित लड़कियां गर्भवती होती हैं तो परिवार के सदस्य थाने में शिकायत करने की बजाए इन्हें अबॉर्शन (गर्भपात) के लिए गायनाकोलॉजिस्ट के पास ले जाते हैं. इन बच्चियों की मां इन्हें ये कहकर पुलिस के पास नहीं ले जाती कि वे अपने पति को नहीं छोड़ सकती हैं.’

बंदूक दिखाकर महिला से रेप
बता दें कि पिछले सप्ताह ही पाकिस्तान में दो अपराधियों ने एक महिला के साथ बंदूक दिखाकर उसकी दो बच्चियों की आंखों के सामने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था. अपराधियों ने कबूल किया कि महिला के साथ दुष्कर्म करने के बाद वे पैसा और गहने भी लेकर फरार हो गए थे.

क्या था पूरा मामला?
दरअसल, महिला अपने दोनों बच्चों को लेकर कार से घर की तरफ जा रही थी. इसी बीच उसकी कार एक हाईवे पर खराब हो गई. उसने अपने रिश्तेदारों को फोन किया और मदद के लिए हाईवे पुलिस हेल्पलाइन पर भी फोन किया. लेकिन जब तक कोई मदद के लिए वहां पहुंचता, कुछ लोग वहां आए और उसे खींचकर ले गए. इसके बाद महिला को बंदूक दिखाकर उसके साथ रेप की वारदात हुई.

दोषियों के लिए कड़ी सजा की मांग
इस घटना के बाद से ही पाकिस्तान में जनाक्रोश है. लाहौर और इस्लामाबाद समेत देश के कई बड़े हिस्सों में प्रदर्शन किए जा रहे हैं. प्रदर्शकारियों की मांग है कि सरकार जल्द से जल्द अपराधियों को अपनी गिरफ्त में ले और उन्हें कड़ी से कड़ी सजा सुनाए, ताकि देश में ऐसी घटनाओं पर लगाम कसी जा सके.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

आतंकियों को पालना पाक को पड़ा भारी, ढाई साल में 25 अरब डॉलर का घाटा

इस्लामाबाद अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत को घेरने की फिराक में लगे रहने वाले पाकिस्तान को …

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!