Thursday , October 22 2020

अजरबैजान-आर्मीनिया में जंग, बरस रहीं मिसाइलें, धमाकों से दहलीं बस्तियां

आर्मीनिया और अजरबैजान के बीच तनाव रविवार को बढ़ गया था। दोनों एक-दूसरे पर नागोर्नो काराबाख में लाइन ऑफ कॉन्टैक्ट पर आक्रामक ऐक्शन के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। इसी बीच आर्मीनिया के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि नागोर्नो-काराबाख के सुरक्षाबलों ने अजरबैजान के एक प्लेन और एक हेलिकॉप्टर को गिरा दिया है। सेनाओं के दावों के बीच प्रभावित क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए धमाके, विस्फोट और गोलीबारी किसी बुरे सपने की तरह जारी हैं।

हेलिकॉप्टर गिराने का दावा
आर्मीनिया के एयरडिफेंस ने काराबाख में विवादित क्षेत्र के दक्षिण और दक्षिण-पूर्व में प्लेन और हेलिकॉप्टर को गिरा दिया। यह जानकारी आर्मीनिया के रक्षा मंत्रालय की प्रेस सचिव शूशान स्तपनयान ने फेसबुक के जरिए दी। उन्होंने दावा किया कि हेलिकॉप्टर काराबाख सैन्य बल के नियंत्रण वाले क्षेत्र में आ गिरा। इससे पहले काराबाख रक्षा मंत्रालय ने फेसबुक पर दावा किया था कि अजरबैजान के सैन्य हेलिकॉप्टर को ईरान में वाराजटुंब के पास गिरा दिया गया है। अजरबैजान के रक्षा मंत्रालय ने इस दावे को खारिज किया है।

सैकड़ों सैनिक घायल
अजरबैजान की सेना ने बुधवार को ऐलान किया था कि उसने आर्मीनिया का एक S-300 मिसाइल सिस्टम नागोर्नो-काराबाख में उड़ा दिया। उसने यह भी दावा किया कि करीब 2,700 सैनिक अब तक इस जंग में या तो घायल हो गए हैं या जान गंवा चुके हैं। इससे पहले देश के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया था कि उसने आर्मीनिया के रेजिमेंट को जंग के दौरान पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया था। वहीं, आर्मीनिया ने इस दावे को फर्जी बताया है। तस्वीर: अजरबैजान के फुजूली जिले का एक घर (तौफीक बाबायेव, AFP)

सुखोई-F 16 से जंग
दूसरी ओर आर्मीनिया की सरकार ने दावा किया था कि उसके एक सुखोई-25 विमान को तुर्की के F-16 विमानों ने मार गिराया है। तुर्की और अजरबैजान दोनों ने इस आरोप का खंडन किया था लेकिन अब आर्मीनिया ने अपने दुर्घटनाग्रस्‍त विमान की तस्‍वीर जारी कर दी है। आर्मीनिया ने आरोप लगाया है कि अजरबैजान तुर्की के एयरफोर्स के F-16 व‍िमानों और ड्रोन का इस्‍तेमाल करके हमले कर रहा है।

सैकड़ों लोग जंग में फंसे
बता दें कि तुर्की के अजरबैजान के साथ अच्छे संबंध हैं, वहीं रूस के आर्मेनिया के साथ अच्छे संबंध हैं। माना यह भी जाता है कि अजरबैजान के साथ भी रूस के रिश्ते अच्छे हैं। नागोर्नो-काराबाख को लेकर जारी जंग में अबतक 100 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई है और सैंकड़ों लोग घायल हैं। उधर, जैसे-जैसे यह जंग तेज होती जा रही है, वैसे-वैसे रूस और नाटो देश तुर्की के इसमें कूदने का खतरा मंडराने लगा है।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

डोनाल्‍ड ट्रंप के ‘चीनी खाते’ पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में नया बवाल

वॉशिंगटन अमेरिका के राष्‍ट्रपति चुनाव प्रचार में लगातार चीन पर हमले कर रहे राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड …

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!