‘BJP आज के दौर की मंथरा, INLD है कैकेयी’: रणदीप सिंह सुरजेवाला

चंडीगढ़

चंडीगढ़ में अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के मीडिया विभाग के चेयरमैन रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘बीजेपी आज के दौर की मंथरा और इंडियन नैशनल लोकदल (आईएनएलडी) कैकेयी है। यह दोनों मिलकर भी कांग्रेस को सत्ता में आने से नहीं रोक सकेंगी।’ सुरजेवाला ने आईएनएलडी को बीजेपी की ‘बी टीम’ बताते हुए कहा कि ये पर्दे के पीछे मिलकर चुनाव लड़ेंगे। मंथरा और कैकेयी की राजनीति एकबार तो काम कर गई थी लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। प्रदेश की जनता ने बीजेपी को सत्ता से बाहर करने का मन बना लिया है और कांग्रेस पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगी।

कांग्रेस में उठापटक वाले हालातों को दरकिनार करते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस में किसी तरह की गुटबाजी नहीं है। प्रजातंत्र में वैचारिक मतभेद हर किसी में हो सकते हैं लेकिन किसी भी कांग्रेसी में मनभेद नहीं हैं। उन्होंने 2004 के विधानसभा चुनावों का उल्लेख करते हुए कहा कि उस समय भी आपको लगता होगा कि हाथ की उंगलियों की दिशाएं अलग-अलग हैं लेकिन उस समय भी कांग्रेस ने 67 सीटों पर जीत हासिल की थी। इसी तरह इस बार भी चुनावों में सभी की नजर मछली की आंख पर ही होगी। ओम प्रकाश चौटाला के परिवार में चल रहे विवाद पर उन्होंने टिप्पणी की कि यह सत्ता और महत्वाकांक्षा की लड़ाई है। यह उनका पारिवारिक मसला है और इससे उन्हें खुद ही निपटना होगा।

‘कांग्रेस को यहां गठबंधन की जरूरत नहीं’
बीएसपी के साथ गठबंधन की चर्चाओं पर कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि यहां किसी से गठबंधन की जरूरत नहीं है। राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन और बीएसपी के रुख पर सुरजेवाला ने कहा, ‘छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश में वे (बीएसपी) उम्मीद से ज्यादा सीटें मांग रहे थे जबकि लोकल इकाइयों का अपना विश्लेषण था इसलिए लोकल इकाइयों को उचित नहीं लगा।’ उन्होंने कहा, इन राज्यों में बीजेपी और मोदी की आवाज को दबाने के लिए कांग्रेस की बहुमत से सरकार बनने के बाद भी बीएसपी को साथ लेने से पार्टी को कोई गुरेज नहीं है।

किलोमीटर स्कीम पर उठाए सवाल
प्रदेश के पूर्व परिवहन मंत्री रणदीप सुरजेवाला ने रोडवेज कर्मचारियों के बीच सबसे बड़ा मुद्दा बने हुए राज्य सरकार की किलोमीटर स्कीम पर सवालिया निशान खड़े करते हुए कहा कि यह बात सामने आ रही है कि मौजूदा सरकार इस स्कीम की आड़ में घोटाला कर रही है। कर्मचारियों की दो दिन की हड़ताल पर उन्होंने कहा, ‘सरकार को बातचीत के जरिए समाधान निकालना चाहिए।’ यूनियन के नेताओं को षड्यंत्रकारी और बदमाश बताए जाने पर सुरजेवाला ने नाराजगी जताई।

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

हाथरस नहीं जा पाए राहुल-प्रियंका गांधी, एक्सप्रेस-वे से लौटे वापस

नई दिल्ली, हाथरस की बेटी के नाम पर आज राजनीति का शक्ति प्रदर्शन हुआ. कांग्रेस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
83 visitors online now
6 guests, 77 bots, 0 members
Max visitors today: 106 at 12:10 am
This month: 179 at 10-01-2020 07:27 am
This year: 687 at 03-21-2020 02:57 pm
All time: 687 at 03-21-2020 02:57 pm