Friday , October 30 2020

कर्नाटक में तख्तापलट की अटकलों के बीच JDS-कांग्रेस का दावा- सेफ है कुमारस्वामी

कर्नाटक

कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार ने हाल ही में बीजेपी पर सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया था. अब कर्नाटक के सत्ताधारी जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन का दावा है कि कुमारस्वामी सरकार सुरक्षित है. इससे पहले गठबंधन ने कहा था कि बीजेपी उसके विधायकों दलबदल करा कर चार महीने पुरानी सरकार गिराने की फिराक में है.

बीजेपी ने बुधवार को अपने सभी 104 विधायकों की बेंगलुरू में बैठक भी बुलाई है. इससे तख्तापलट की अफवाहों को और भी ज्यादा बल मिला है. खतरे को भांपते हुए राज्य के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कांग्रेस के ताकतवर नेता जरकीहोली बंधुओं से भी मुलाकात की. घंटे भर की बैठक के बाद दोनों ने घोषणा की कि बीजेपी में जाने का कोई सवाल ही नहीं है और सरकार सुरक्षित है.

कहा जा रहा था कि राज्य सरकार में मंत्री रमेश जरकीहोली कथित तौर पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के जरिये बीजेपी नेताओं के संपर्क में हैं. उनके विधायक भाई सतीश जरकीहोली कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और पूर्व मंत्री हैं. दोनों मिल कर दावा कर रहे थे कि 10-12 विधायक उनके साथ हैं और वे बीजेपी में जाने के लिए तैयार हैं.

सतीश के नजदीकी लोगों का कहना है कि वे वैचारिक तौर पर बीजेपी के विरुद्ध हैं और उनके दल बदल करने की भी बहुत ही कम संभावना है. एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता के मुताबिक, “सतीश को राहुल ने दिल्ली बुलाया है और अगर वे उनको समझाने में सफल रहते हैं तो सरकार स्थिर रहेगी.” वे पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया से भी मिले, जिनसे कुनबे को एक रखने के लिए पार्टी हाई कमान ने कहा है. पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के बड़े नेताओं को दिल्ली बुलाया है, ताकि सरकार बचाने की रणनीति तैयार की जा सके.

पार्टी नेता डीके शिवकुमार पर प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है, जिसके बाद कांग्रेस हलके में खतरे की घंटी बज उठी है. कांग्रेसी केंद्र की इस कार्रवाई को सत्ता का दुरुपयोग कर पार्टी नेताओं को गलत तरीके से डराने की कोशिश करार दे रहे हैं. वहीं बीजेपी का कहना है कि ये हिलता डुलता गठबंधन खुद ही धूल चाट जाएगा. जरकीहोली बंधु बेलगाम जिले में शिवकुमार की दखल रोकने की मांग कर रहे हैं, तो कांग्रेस नेताओं ने उन्हें मामले को सुलझाने का आश्वासन दिया है.

राज्य बीजेपी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदुयुरप्पा ने कुमारस्वामी सरकार को अस्थिर करने के आरोपों को खारिज करते हुए इसकी भविष्यवाणी भी करते हैं कि कुमारस्वामी सरकार जल्द ही गिर जाएगी. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने 104 विधायकों की बैठक आगामी लोकसभा चुनावों के लिए रणनीति बनाने के लिए बुलाई गई है. उन्होंने ये भी कहा कि खरीद-फरोख्त में उनकी कोई रुचि नहीं है.

गठबंधन के विधायकों को तोड़ने के लिए धन और पदों की लालच देने की चर्चाओं के बाद से स्थितियों से निपटने के लिए बैठकों का सिलसिला चल पड़ा, ताकि तख्तापलट को रोका जा सके. दो सप्ताह के यूरोप की यात्रा से रविवार को लौटे सिद्धारमैय्या ने भी उन विधायकों के साथ बैठक की जो सरकार से नाराज हैं. अंदरूनी सूत्रों के मुताबिक सिद्धारमैय्या ने उनसे कहा है कि वे किसी भी तरह से बीजेपी की ओर से दिए पैसे या पद के लालच में न फंसे. सोमवार को भी हालात का जायजा लेने के लिए फिर से बैठकें की गईं.

कर्नाटक के कांग्रेस प्रभारी के सी वेनुगोपाल ने भी सिद्धारमैय्या से और जी परमेश्वर से मिल कर राज्य कांग्रेस अध्यक्ष के साथ रणनीति पर चर्चा की. उन्होंने भी आरोप लगाए कि बीजेपी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है, इससे दोनों दलों को सावधान रहना चाहिए.

न्यूज 18 से बातचीत करते हुए सिद्धारमैय्या ने कहा, “हाल में हमने अच्छा किया और लोकसभा चुनाव तक अगर हम सत्ता में रहते हैं तो बीजेपी को हम एक अंक तक पहुंचा देंगे. इस वजह से वे लोग सरकार को गिराना चाहते हैं. इसके लिए वे हमारे विधायकों को पद और पैसे की लालच दे रहे हैं. लेकिन हम संगठित हैं और बीजेपी सफल नहीं होगी. जबकि मीडिया काल्पनिक कहानियां गढ़ कर आग में घी डाल रही है.”

इस बारे में बहुत तेज अफवाह रही कि बीजेपी कांग्रेस और जेडीएस के 15 विधायकों को निशाना बनाने की कोशिश में है, जिससे विधानसभा में विधायकों की प्रभावी संख्या को 207 पर ला दे जो कि फिलहाल 222 है. मुख्यमंत्री के एक नजदीकी सहयोगी का कहना है, “वे लोग हमारे पांच-छह विधायकों को समझाने में सफल भी हो गए थे लेकिन पूरी संख्या तक पहुंच नहीं पा रहे हैं.”

जेडीएस के विधायक एचके कुमारस्वामी की पत्नी चंचला ने यह कह कर और विस्फोट कर दिया कि बीजेपी के दो नेताओं ने उनके पति को 30 करोड़ रुपये देने की पेशकश की है, जिसे उन्होंने ठुकराते हुए जेडीएस को धोखा देने से मना कर दिया है. एक अन्य कांग्रेसी विधायक अनिल चिक्कमडु ने भी बीजेपी पर इसी तरह के आरोप लगाए हैं.

सूत्रों के मुताबिक, कुमारस्वामी के इस दावे के बाद कि बीजेपी के 5-6 विधायक उनके संपर्क में हैं जो भगवा दल छोड़ने को तैयार हैं, बीजेपी अपने विधायकों को किसी रिसॉर्ट में ले जाकर रखने की तैयारी में है, ताकि तोड़-फोड़ को टाला जा सके. वैसे इस बारे बीजेपी प्रवक्ता का कहना है कि ये सारे दावे बकवास हैं.

राज्य बीजेपी के अध्यक्ष येदुयुरप्पा ने न्यूज 18 से कहा कि जेडीएस कांग्रेस सरकार के अब आखिरी दिन चल रहे हैं और बिना बीजेपी के प्रयास के वो खुद ही गिर जाएगी. उन्होंने बेंगलुरु आए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भेंट की. 224 सदस्यों वाली विधान सभा में कांग्रेस के 79 और जेडीएस के 38 विधायक हैं. दो निर्दल भी सरकार के साथ हैं. बीजेपी के पास 104 विधायक हैं और दो सीटें खाली हैं.

Did you like this? Share it:

About editor

Check Also

दारुल उलूम की अपील- कार्टून बनाने के लिए फ्रांस की आलोचना करे मोदी सरकार

सहारनपुर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर स्थित दारुल उलूम देवबंद ने केंद्र सरकार से फ्रांस की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)
Do NOT follow this link or you will be banned from the site!